Breaking Tube
Breaking News Politics

दिल्ली चुनाव में आम आदमी पार्टी को मिल सकता है समाजवादी पार्टी का समर्थन

Delhi assembly election

निर्वाचन आयोग ने दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi assembly election) की घोषणा कर दी है। एक तरफ जहां आप पार्टी अपने पांच सालों में किए गए काम पर वोट मांग रही है, वहीं भाजपा कच्ची कॉलोनियों की रजिस्ट्री, पीएम मोदी के नाम और सीएए के मुद्दे पर। भाजपा को यकीन है कि उनके मुद्दे इस बार कारगर साबित हो सकते हैं। उधर आप पार्टी की बेहतर संभावनाओं को वह भी मान रही है। इसीलिए वह इन चुनावों में आम आदमी पार्टी को समर्थन दे सकती है।


समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने चुनाव न लड़ने का संकेत दे दिया है। हालांकि, इसके औपचारिक ऐलान से पहले अखिलेश अपने वरिष्ठ नेताओं के साथ मीटिंग करेंगे। सूत्रों का कहना है कि सपा इन चुनावों में इसलिए अलग रहना चाहती है, क्योंकि उसे खुद के लिए ज्यादा उम्मीद नजर नहीं आ रही। सपा को लगता है कि वह आम आदमी पार्टी की राह में रोड़ा न बने ना ही वोट कटवा कहा जाए।


Also Read: सपा MLC बोले- बच्चों की कीमत क्या जानें मोदी-योगी, अपनी मां से पूछें एक खरोंच लगने पर क्या बीतती होगी


जानकारी के मुताबिक, पिछले विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी कुछ सीटों पर लड़ी थी, लेकिन एक भी सीट पर जीत नहीं मिली थी। यह भी कहा जा सकता है कि आप और सपा के बीच बेहतर समझ बनी हुई है। कुछ समय पहले हुए यूपी विधानसभा उपचुनाव में आम आदमी पार्टी ने सपा को समर्थन दिया था।


वैसे सपा यूपी के बाहर हाल में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव लड़ी थी और दो सीटें जीतने में कामयाब रही। सपा मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव लड़ी थी। इस बीच बसपा दिल्ली विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी में दिखती है। इस तरह भाजपा, कांग्रेस व बसपा दिल्ली में अपनी किस्मत आजमाएंगे और सपा जंग से दूर रहेगी।


Also Read: अजय कुमार लल्लू का JNU हिंसा पर बयान, केंद्र सरकार के संरक्षण में RSS-ABVP के गुंडों ने की मारपीट


दिल्ली विधानसभा चुनाव में कुल 1.46 करोड़ मतदाता हिस्सा लेंगे। दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी रणबीर सिंह ने कहा कि दिल्ली में जो फाइनल वोटर लिस्ट प्रकाशित हुई है उसमें कुल 14692136 हैं। इसमें 80.55 लाख पुरुष वोटर हैं और 66.35 महिला वोटर हैं। चुनाव आयोग ने दिल्ली में विभिन्न जातियों के कितने वोटर हैं ये भी जानकारी दी है। 2015 के चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 70 में से 67 सीट जीतकर एतिहासिक जीत दर्ज की थी। इन चुनावों में आम आदमी पार्टी के लिए बड़ी चुनौती होगी कि वह अपनी कितनी सीटें बचा पाएगी।


 देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

जब भांजे ने की शिवराज से शिकायत तो मामा शिवराज ने जवाब से कर दिया लाजवाब, पढ़ते ही मुस्कुराएंगे

BT Bureau

महाराष्ट्र के सियासी रण में चाचा-भतीजे की जोड़ी ने एक तीर से किए कई शिकार, माइंड गेम नहीं समझ सकी BJP !

BT Bureau

21 विपक्षी पार्टियों को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, VVPAT पर पुनर्विचार याचिका खारिज

BT Bureau