अरविन्द केजरीवाल के पूर्व सहयोगी की खुली चुनौती, लाई डिटेक्टर टेस्ट करवाएं सीएम

दिल्ली: अरविंद केजरीवाल के पूर्व सहयोगी और आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने भ्रष्टाचार को लेकर दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल पर एक बार फिर जोरदार हमला बोला है. उन्होंने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन पर निशाना साधते हुए दोनों को लाई डिटेक्टर टेस्ट कराने की चुनौती दे डाली. कपिल मिश्रा ने कहा कि रिश्वत के खिलाफ लड़ाई कभी आसान नहीं होती है, वो भी तब जब रिश्वत लेने वाला और देने वाला दोनों ही मुकर जाए. मैंने और मेरे परिवार ने केजरीवाल के भ्रष्टाचार के खिलाफ बोलने का निर्णय लिया है. लड़ाई कितनी भी लंबी हो, लड़ी जाएगी. भ्रष्टाचारियों को सजा दिलवा कर ही दम लेंगे.

 

कपिल मिश्रा ने एक वीडियो ट्वीट करते हुए कहा “भारत में रिश्वतखोर नेताओं के खिलाफ कैसे लड़ा जाए वो भी तब रिश्वत लेने वाला और रिश्वत देने वाला दोनों मुकर जाए. भ्रष्टचार करने वाला खुद एक राज्य का मुख्यमंत्री हो. शक्तिशाली भी हो और चालाक भी. ऐसे में क्या किया जाए. इस देश में ज्यादातर रिश्वतखोर नेता क्लीन चिट लेकर घूमते रहते हैं. अगर सजा मिलती भी है तो कई-कई सालों के बाद. तो क्या करें? चुप होकर बैठ जांए? भ्रष्टचार होने दें? लड़ना बंद कर दें या इसके खिलाफ बोलें. मैंने और मेरे परिवार ने निर्णय लिया कि केजरीवाल के भ्रष्टाचार के खिलाफ बोलेंगे और खुलकर बोलेंगे. ये लड़ाई चाहे कितनी भी लंबी चले, इसका अंजाम कितने भी दिनों के बाद आए लेकिन अंत में करप्ट लोगों को सजा मिलती है. जनता सजा देती है और कानून भी सजा देती है. यहां सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या सीएम केजरीवाल ने उस दिन की सीसीटीवी फुटेज आज तक पब्लिक की? मीडिया को दिखाई? नहीं, आज तक सीसीटीवी फुटेज पब्लिक नहीं की गई थी. मैंने 8 मई 2017 को अरविंद केजरीवाल और सत्येंद्र जैन को लाई डिटेक्टर टेस्ट की चुनौती दी थी. मैं आज भी उन्हें यह चुनौती देता हूं. मेरा भी लाई डिटेक्टर टेस्ट किया जाए. हम तीनों का यदि लाई डिटेक्टर टेस्ट होगा तो सच्चाई पूरे देश के सामने आ जाएगी.”

 

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here