उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की 60 हज़ार करोड़ की निवेश परियोजना

0
7

 

 

लखनऊ : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने दौरे के दूसरे दिन आज यानी रविवार को लखनऊ में 60 हजार करोड़ रुपये की 81 परियोजनाओं का शिलान्‍यास करेंगे. इस कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद रहेंगे. ये परियोजनाएं फरवरी 2018 में आयोजित यूपी इन्वेस्टर्स समिट में आए 4 लाख 68 हजार करोड़ के निवेश का हिस्सा हैं.

 

 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को 12 बजे लखनऊ स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्‍ठान पहुंचेंगे. वहां वह ग्राउंड ब्रेकिंग कार्यक्रम में हिस्‍सा लेंगे. उनके साथ इस कार्यक्रम में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ और गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद रहेंगे. साथ ही इस कार्यक्रम में करीब डेढ़ हजार लोग भी मौजूद होंगे. इसके अलावा इस कार्यक्रम में करीब 75 बड़े उद्योगपति भी हिस्‍सा लेंगे.

 

 

 

फरवरी में हुए यूपी इन्वेस्टर्स समिट में भी प्रधानमंत्री ने शिरकत की थी और यूपी में डिफेंस कॉरीडोर की स्‍थापना का एलान किया था. 60 हजार करोड़ रुपये की इन अहम परियोजनाओं मे रिलायंस जियो इन्फोकॉम की ओर से 10 हजार करोड़, वर्ल्ड ट्रेड सेंटर का 10 हजार करोड़, टेग्ना के 5 हजार करोड़, बीएसएनएल के 5 हजार करोड़, पेटीएम के 3500 करोड़, एस्सेल ग्रुप के 3000 करोड़, अदानी ग्रुप के 2600 करोड़ और टाटा ग्रुप के 2300 करोड़ रुपए के बड़े निवेश प्रोजेक्ट शामिल हैं. ये 81 निवेश प्रोजेक्ट प्रदेश के 21 जिलों में स्थापित होंगे.

 

 

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की ‘भागीदार’ वाली हाल की टिप्पणी पर पलटवार करते हुए शनिवार को कहा था कि वह इस इल्जाम को ‘इनाम’ मानते हैं और उन्हें देश के गरीबों के दुख का भागीदार होने पर गर्व है. प्रधानमंत्री ने लखनऊ में स्मार्ट सिटी, अमृत तथा प्रधानमंत्री आवास योजनाओं की तीसरी वर्षगांठ पर आयोजित कार्यक्रम में राहुल गांधी द्वारा पिछले दिनों संसद में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान लगाये गये ‘भागीदार’ सम्बन्धी आरोप का जवाब देते हुए कहा, ‘‘इन दिनों मुझ पर एक इल्जाम लगाया गया है कि मैं चौकीदार नहीं, भागीदार हूं…. लेकिन देशवासियों मैं इस इल्जाम को इनाम मानता हूं.’’

 

 

 

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे गर्व है कि मैं भागीदार हूं. मैं देश के गरीबों के दुखों का भागीदार हूं. मेहनतकश मजदूरों के दुखों और हर दुखियारी मां की तकलीफों का भागीदार हूं. मैं उस हर मां के दर्द का भागीदार हूं जो लकड़ियां बीनकर घर का चूल्हा जलाती है. मैं उस किसान के दर्द का भागीदार हूं जिसकी फसल सूखे या पानी में बर्बाद हो जाती है. मैं भागीदार हूं, उन जवानों के जुनून का, जो हड्डी गलाने वाली सर्दी और झुलसाने वाली गर्मी में देश की रक्षा करते हैं.’’

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here