कपिल मिश्रा का केजरीवाल पर हमला, कहा- ‘राष्ट्रीय अवसरों पर चप्पल पहन कर खड़े हो जाने वाले ने 80 हजार की दारु पी डाली’

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर RTI के खुलासे के बाद विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा के पोस्टर वार से सीएम  केजरीवाल संभल भी नहीं पाए थे कि इन्हीं के पूर्व सहयोगी कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर जमकर निशाना साधा है.

 

कपिल मिश्रा ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर करते हुए सीएम केजरीवाल पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए उनसे कई सवाल पूछे हैं. कपिल मिश्रा ने अपने वीडियो में कहा ”अगर तेरी नीयत में सच है तो दिल्ली को चलाकर दिखा नहीं तो साथ बैठ दो घुट पी और देख दिल्ली को चलता हुआ बस यही है अरविंद केजरीवाल जी की पूरी तरह राजनीति और सरकार जी हां 2 घंटे में 80 हजार की दारू खींच ली अरविंद केजरीवाल जी ने बैंगलोर में 2 घंटे में 80 हजार रुपए खाने पीने में खर्च हो गए ऐसा क्या खाया और ऐसा क्या खाया-पिया घुंघरू सेठ? जरा हमें भी समझा दो.. किस तरह का ये व्यवहार है महागठबंधन के मंच पर आपको जगह नहीं मिली आपका दारू का बिल 80 हजार आ रहा है.. और ये वो आदमी है जो कहता है मेरे पास जूते खरीदने के पैसे नहीं हैं ”

 

”फ्रांस के राष्ट्रपति के सामने चले गए चप्पल पहनकर 15 अगस्त का भाषण देने के लिए जाते हैं मंच पर  चप्पल पहनकर खड़े हो जाते हैं.  राष्ट्रीय अवसरों पर चप्पल पहनकर खड़े हो जाते हैं, कहते हैं मैं जूते नहीं खरीद सकता मेरे पास पैसे नहीं हैं. वो आदमी दारू में पैसे उड़ा रहा है, शराब में उड़ा रहा है, ये किस प्रकार की लाइफ स्टाइल में जीते हैं हमारे दिल्ली के मुख्यमंत्री.”

 

कपिल मिश्रा यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा, ”ये वही आदमी है जो बनारस के चौक पर खड़े होकर बोल रहे थे कि मैं केवल पांच सौ रुपए लेकर आया हूं मेरे पास तो वापस जाने का भी पैसा नहीं है. मैं जनता के चंदे से चुनाव लड़ूंगा. जिस दिन चुनाव का रिजल्ट आया जिस दिन चुनाव हारे बनारस के एयरपोर्ट पर प्राइवेट जेट खड़ा था अरविंद केजरीवाल जी को दिल्ली वापस लाने के लिए और प्राइवेट जेट से पांच सौ रुपए में वापस आने का करिश्मा अरविंद केजरीवाल ही कर सकते हैं और इसलिए हमें समझ में आता है क्यों राज्यसभा के लिए इन्हें संतोष कोली की मां समझ नहीं आती, राज्यसभा के लिए इनको सुशील गुप्ता समझ में आता है.”

 

 

इसके साथ ही कपिल मिश्रा ने  कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर भी केजरीवाल पर निशाना साधा उन्होंने  कहा ”क्यों ये डेस्परेट हैं कि किसी तरह से कांग्रेस इनसे बात कर ले, फोन कर लें, गठबंधन बना लें, कुर्सी की भूख और जिस तरह की लाइफ स्टाइल की आदत बन चुकी है वो बिना सत्ता के चलने वाले नहीं है. इसलिए किसी भी तरह से चाहे वो लालू के आगे झुकना पड़े मुलायम के आगे झुकना पड़े, मायावती जिंदाबाद बोलना पड़े, राहुल गांधी को नेता बनाना पड़े लेकिन झुकने को तैयार बैठे हैं अरविंद केजरीवाल. मुझे लगता है कि ये जो 80 हजार खाने-पीने  में खर्च हुए हैं. इसका हिसाब जरा जनता को दें. जरा बताएं  साथ में कौन लोग गए थे. और किस-किस के साथ में बैठकर क्या-क्या खाया और क्या-क्या पिया”

 

जानकारी के लिए बता दें कि कर्नाटक में बनी गठबंधन की सरकार में मुख्यमंत्री बने एचडी कुमारस्वामी के शपथग्रहण समारोह में शिरकत करने पहुंचे अन्य राज्यों के नेताओं में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल काफी महंगे मेहमान साबित हुए थे. कुमारस्वामी के 7 मिनट के शपथ ग्रहण समारोह पर कर्नाटक सरकार का कुल 42 लाख रुपये खर्चा आया. इसमें आंध्र के सीएम चंद्रबाबू नायडू पर 8.72 लाख रुपये तो दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की मेहमानवाजी पर कुल 1.85 लाख रुपये हुए खर्चा आया था. ये जानकारी RTI के जरिए सामने आई थी.

 

Also Read: केजरीवाल के खिलाफ बीजेपी विधायक का पोस्टर, लिखा-‘केजरीवाल ने एक दिन में पी डाली 80 हजार की दारू’

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here