बाढ़ के कहर से केरल में 72 लोगों की मौत, वायुसेना ने एयरलिफ्ट करके लोगों को निकाला बाहर

 

 

केरल में बाढ़ के बीच भारतीय वायुसेना लगातार राहत-बचाव कार्य में जुटी हुई है। ये वीडियो पथानामथिट्टा जिले का है जहां वायुसेना का हेलीकॉप्टर बाढ़ में फंसे एक शख्स को बचाते हुए रस्सी के सहारे ऊपर खींच रही है। केरल के कई क्षेत्रों में बाढ़ का पानी भर जाने से स्थिति पहले से और गंभीर हुई है। ऐसे में लोगों को बचाने का काम भी तेज कर दिया गया है। कोच्चि हवाई अड्डा पर शनिवार तक विमानों का परिचालन रोक दिया गया है। वहीं जो लोग वायुसेना की मदद से सुरक्षित निकाले जा रहे हैं उनके स्वास्थ्य संबंधि सभी सुविधाएं मुहैय्या कराई जा रही है। अधिकारियों ने बताया कि राज्य के सभी 14 जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। राज्य में उत्तर में कासरगोड से लेकर दक्षिण में तिरूवनंतपुरम तक सभी नदियां उफान पर हैं। मुल्लापेरियार समेत 35 बांधों के फाटक खोल दिए गए हैं।

 

 

बाढ़ के कारण दक्षिण रेलवे और कोच्चि मेट्रो ने आज अपना परिचालन निलंबित कर दिया जिससे मध्य केरल के कई हिस्सों में सार्वजनिक परिवहन प्रणाली चरमरा गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रक्षा मंत्रालय से केरल में राहत और बचाव अभियान और तेज करने को कहा है। राज्य में बाढ़ की भीषण स्थिति बनी हुई है। प्रधानमंत्री ने भी सुबह केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन से भी बातचीत की। जिसके बाद उन्होंने ट्वीट किया और लिखा कि ‘हमने राज्य में बाढ़ की स्थिति पर चर्चा की और रक्षा मंत्रालय से राज्य में राहत और बचाव अभियान को तेज करने को कहा है। केरल के लोगों की सुरक्षा और बेहतरी के लिए मैं प्रार्थना कर रहा हूं।’

 

 

केरल के पलक्कड़ जिले में आज भूस्खलन से पांच लोगों की मौत हो गई। राज्य में मूसलाधार बारिश के कारण दक्षिण रेलवे और कोच्चि मेट्रो ने परिचालन निलंबित कर दिया जिससे मध्य केरल के कई हिस्सों में सार्वजनिक परिवहन प्रणाली चरमरा गई। पलक्कड़ जिला पुलिस के सूत्रों ने बताया कि नेनमारा में पांच लोगों की मौत हो गई जबकि दो लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया। अब बारिश के कारण मरने वाले लोगों की संख्या 72 हो गई है।

 

 

सूत्रों ने बताया कि त्रिशूर जिले से भूस्खलन की खबर आई है और इसमें कुछ लोगों के लापता होने की खबर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रक्षा मंत्रालय से केरल में राहत और बचाव अभियान और तेज करने को कहा है। राज्य में बाढ़ की भीषण स्थिति बनी हुई है। मुख्यमंत्री ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह से राज्य में बाढ़ की स्थिति पर चर्चा की और केंद्र से बचाव अभियान और राहत में अधिक मदद मांगी। लगातार हो रही बारिश के कारण पेरियार नदी में जलस्तर बढ़ गया है और मुल्लापेरियार, चेरुतोनी, इडुक्की जलाशय और इदामालयार सहित सभी प्रमुख बांधों के सभी फाटक खोल दिए गए हैं। इसके कारण निचले इलाकों में रहने वाले लोगों का जीवन प्रभावित हुआ है।

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here