Breaking Tube
Administration Corona UP News

पूर्ण लॉकडाउन पर विचार करे UP सरकार, जीवन नहीं बचेगा तो विकास किस काम का: HC

Allahabad High court live in relationship

यूपी में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखकर हाई कोर्ट ने सरकार को सख्त आदेश दिया है। जिसके अंतर्गत ये कहा गया है कि राज्य सरकार कोरोना से प्रभावित शहरों में 2 या 3 हफ्ते के लिए पूर्ण लॉकडाउन लगाने पर विचार करे। इसके साथ ही ये कहा गया कि सड़क पर कोई भी व्यक्ति बिना मास्क के दिखाई न दे अन्यथा पुलिस के खिलाफ अवमानना कार्रवाई की जाएगी। 


कोर्ट ने दिए सख्ती बरतने के आदेश

जानकारी के मुताबिक, कोर्ट ने सरकार से कहा, लॉकडाउन लगाना सही नहीं है, लेकिन संक्रमण तेजी से फैल रहा है। जिसको देखते हुए सरकार को अधिक संक्रमित वाले शहरों में लॉकडाउन लगाने पर विचार करना चाहिए। संक्रमण को फैलते एक साल हो गए। इसके बावजूद इलाज की सुविधाओं को बढ़ाया नहीं जा सका है। यह फैसला जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा और जस्टिस अजीत कुमार की खंडपीठ ने कोरोना को लेकर जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान दिया।


इसके साथ ही कोर्ट ने मास्क का सख़्ती से पालन कराने का निर्देश दिया है। सड़कों पर बगैर मास्क के लोगों के टहलने पर पुलिस के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई होगी। कोर्ट ने कहा धार्मिक, सामाजिक आयोजनों में पचास से अधिक लोग शामिल न हों। कोर्ट ने सरकार को ट्रैकिंग, टेस्टिंग व ट्रीटमेंट योजना में तेजी लाने का निर्देश दिया। साथ ही शहरों में खुले मैदान में अस्थायी अस्पताल बनाकर लोगों का इलाज करने को कहा।


कहा जीवन बचाना है जरूरी

निर्देश देते हुए कोर्ट ने कहा कि नदी में जब तूफान आता है तो बांध उसे नहीं रोक पाते, लेकिन फिर भीहमें कोरोना संक्रमण को रोकने के प्रयास करने चाहिए। कोर्ट ने कहा कि दिन मे भी गैर जरूरी ट्रैफिक को कंट्रोल किया जाए। अदालत ने कहा कि जीवन रहेगा तो दोबारा सुविधाएं ले सकेंगे और अर्थव्यवस्था भी दुरूस्त हो जाएगी। कोर्ट ने कहा, ‘विकास व्यक्तियों के लिए है, जब आदमी ही नहीं रहेंगे तो विकास का क्या अर्थ रह जाएगा? संक्रमण फैले एक साल बीत रहे है लेकिन इलाज की सुविधाओं को बढ़ाया नहीं जा सका।’


डीएम और सीएमओ को कोर्ट में हाजिर होने को कहा
कोर्ट ने राज्य सरकार की 11अप्रैल की गाइडलाइंस का सभी जिला प्रशासन को कड़ाई से अमल में लाने का निर्देश दिया। अदालत ने साथ ही 19 अप्रैल को प्रयागराज के डीएम व सीएमओ को कोर्ट में हाजिर रहने के लिए भी कहा है।


Also Read: UP में कोरोना कहर के चलते 14 जिलों में नाइट कर्फ्यू, शादी-विवाह के लिए जारी हुईं नई गाइडलाइन्स


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अखिलेश ने लखीमपुर घटना पर योगी सरकार को घेरा, बोले- भाजपाकाल में बच्चियों व नारियों का उत्पीड़न चरम पर

Jitendra Nishad

बाराबंकी: मजार हटने के बाद भी वहीं नमाज पढ़ने पर अड़े नमाजी, पुलिस ने रोका तो जमकर पथराव, दारोगा समेत 4 घायल

BT Bureau

यूपी: भगोड़े IPS मणिलाल पाटीदार की मुश्किलें बढ़ाने की तैयारी, ईनामी राशि बढ़ाकर होगी 1 लाख

BT Bureau