Breaking Tube
Administration UP News

माफिया मुख्तार पर चौतरफा वार, अब विधानसभा सदस्यता रद्द कराएगी योगी सरकार

यूपी आने के बाद अब बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं। दरअसल, अब जल्द ही उत्तर प्रदेश सरकार मुख्तार की विधानसभा सदस्यता खत्म करवाने को लेकर विधिक राय ले सकती है। अगर ऐसा हो जाता है तो यूपी सरकार के लिए ये एक बड़ी सफलता होगी। मुख्तार अंसारी कई बातों के चलते यूपी नही आना चाहता था, लेकिन कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद उसे पंजाब की रोपड़ जेल से बांदा लाया गया।


इस नियम के तहत खत्म होगी सदस्यता

जानकारी के मुताबिक, आज सुबह ही यूपी पुलिस का काफिला मुख्तार अंसारी को बांदा लेकर पहुंचा है। जहां बैरक नंबर 16 में कड़ी सुरक्षा के बीच उसे रखा गया है। अब यूपी सरकार की कार्रवाई का दौर शुरू हो सकता है, जिसमे सबसे पहले मुख्तार ही विधानसभा की सदस्यता खत्म कराई जायेगी।


अगर नियम की मानें तो अगर कोई विधानसभा सदस्य विधानसभा की कार्यवाही में शामिल होने से 60 दिन तक अनुपस्थित रहता है तो आर्टिकल 190 के तहत उसकी सदस्यता ख़त्म हो सकती है। इस आर्टिकल 190 के अलावा मुख़्तार के ख़िलाफ़ दर्ज आपराधिक मामलों को भी सदस्यता ख़त्म करने का आधार यूपी सरकार बनायेगी।


Also read: UP: बॉडी वार्न कैमरे से लैस होगा मुख्तार की बैरक के पास तैनात हर जवान, ड्रोन कैमरे से हो रही निगरानी


आज सुबह बांदा लाया गया मुख्तार

बता दें कि मुख्तार अंसारी को सुरक्षा के कारण अन्य कैदियों से अलग बैरक नंबर 16 में रखा गया है, उसके लिए कोई विशेष व्यवस्था नहीं है। उसे एक आम कैदी के रूप में रखा गया है। सुबह 10:00 बजे मुख्तार अंसारी का कोरोना टेस्ट किया गया और बांदा के सीएमओ फिलहाल पंजाब से आए मेडिकल फाइल का परीक्षण कर रहे हैं। फिलहाल मुख्तार को 16 नंबर बैरक में आइसोलेशन में रखा गया है और किसी से मिलने की इजाजत नहीं है। पूरे बैरक को सीसीटीवी के जरिये मॉनिटर किया जा रहा है।


सुरक्षा के मद्देनजर बांदा जेल को 30 नए सुरक्षाकर्मी दिए हैं जिनमें 12 जेल वार्डर और 18 पीएसी के जवान है। यह नए जेलकर्मी और सुरक्षाकर्मी ही मुख्तार की बैरक के आसपास तैनात रहेंगे। सुरक्षा के मद्देनजर बांदा जेल में एक ड्रोन कैमरा, 5 बॉडी वॉर्न कैमरे और 30 अतिरिक्त सुरक्षाकर्मी तैनात क‍िए गए। सूत्रों के मुताबिक, मुख्तार के आसपास जाने वाला हर जेल कर्मी बॉडी वॉर्न कैमरे से लैस रहेगा, ताकि उसके और मुख्तार के बीच हुई बातचीत और व्यवहार की रिकॉर्डिंग हो सके।


Also read: जानिए कौन हैं IPS प्रेम प्रकाश, जिन्हें मिली है मुख्तार को यूपी लाने की जिम्मेदारी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

BJP सरकार पर अखिलेश का तीखा हमला, बोले- कृषि कानून की आड़ में किसानों की जमीन हड़पने का षड्यंत्र हम अच्छी तरह समझते हैं

Jitendra Nishad

UP: ‘किसान घेरा कार्यक्रम’ में सपा नेताओं ने झोंकी पूरी ताकत, अन्नदाता ने भी जताया अखिलेश के नेतृत्व पर भरोसा

Jitendra Nishad

लखनऊ: सपा MLC के फ्लैट पर युवक की हत्या, बर्थडे पार्टी में दारूबाजों ने की पिस्टल के लिए छीनाझपटी, चल गई गोली

BT Bureau