Breaking Tube
Breaking News Politics

सीएम योगी के बयान पर सपा नेता का पलटवार, पूछा- क्यों बढ़ाई लोकतंत्र सेनानियों की पेंशन, बाप के घर से दे रहे क्या?

Ram govind chaudhary

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और सदन में नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी (Ram govind chaudhary) ने सीएम योगी आदित्यनाथ पर तीखा हमला बोला। उन्होंने मुख्यमंत्री के उस बयान पर कड़ा ऐतराज जताया जिसमें सीएम ने कहा था कि समाजवादी पार्टी के नेता सरकार में आने पर सीएए का विरोध करने वालों को पेंशन देने की बात कर रहे है, जैसे पैसा उनके बाब-दादाओं ने कमाकर दिया है।


एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान रामगोविंद चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्होंने सवाल पूछा है कि आखिर मौजूदा बीजेपी सरकार ने लोकतंत्र सेनानियों की पेंशन में पांच हजार रुपए प्रतिमाह की बढ़ोतरी क्यों की है? पेंशन की राशि निजी नहीं होती है। रामगोविंद चौधरी ने कहा कि अगर समाजवादी लोग सीएम की भाषा में ही उन्हें जवाब देने लगे तो कैसा रहेगा?

Also Read: दिल्ली चुनाव में आम आदमी पार्टी को मिल सकता है समाजवादी पार्टी का समर्थन

उन्होंने कहा कि हम लोग ऐसी भाषा नहीं बोल सकते हैं, लेकिन अगर कोई पलट कर पूछ ले कि जो लोकतंत्र सेनानियों को बढा हुआ 5 हजार रुपया दिया जा रहा है क्या वो अपने बाप के घर से दे रहे हैं? उन्होने कहा कि इमरजेंसी में सबसे ज्यादा समाजवादी, आरएसएस और बीजेपी के लोग जेल में बंद थे। उनके नेता मुलायम सिंह ने ही इन सभी को लोकतंत्र सेनानी के रुप में पेंशन देने की व्यवस्था की। जब मुलायम सिंह ने पेंशन दी थी आरएसएस औऱ बीजेपी के लोगों ने नेता जी को सम्मानित किया था। बीजेपी जब पेंशन की राशि बढाती है तो उन्हे कोई दिक्कत नहीं होती है।

Also Read: सपा MLC बोले- बच्चों की कीमत क्या जानें मोदी-योगी, अपनी मां से पूछें एक खरोंच लगने पर क्या बीतती होगी

रामगोविंद चौधरी (Ram govind chaudhary) सीएए का विरोध करने वाले लोगों को पेंशन दिए जाने के बयान का एक बार फिर बचाव करते नजर आए। उन्होंने कहा कि सीएए और एनपीआर के खिलाफ चल रहा आन्दोलन आजादी की तीसरी लड़ाई है। रामगोविन्द चौधरी ने कहा कि हम समाजवादियों को देख कर ही मध्यप्रदेश की तत्कालीन शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने सरकारी कोष से इमरजेंसी में बंद लोगों को लोकतंत्र सेनानी के तौर पर पैसा दिए थे। रामगोविन्द ने कहा कि सरकार लगातार जन आन्दोलन का शिकार हो रही है, लेकिन लोगों की आवाज लगातार इमरजेंसी की तरह दबाने की कोशिश हो रही है।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

तन्वी सेठ मामले में सुषमा स्वराज हुई ट्रोल का शिकार, सुषमा स्वराज के समर्थन में उतरी कांग्रेस

admin

UP: टेस्ट ट्यूब वाले बयान पर उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने माँगी माफ़ी

admin

बेटी के आरोप पर MLA राजेश मिश्रा बोले- दलित कार्ड से सहानुभूति बटोरना चाहते हैं, ज्यादा परेशान किया तो कर लूंगा आत्महत्या

BT Bureau