Breaking Tube
Business

CII के ‘भारत-अंतर्राष्ट्रीय कृषि सप्ताह’ कार्यक्रम की CM योगी ने की तारीफ, कहा- किसानों को मिलेगी आय बढ़ाने की जानकारी

CII

भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) द्वारा डिजिटल प्लेटफॉर्म पर आयोजित ‘भारत-अंतर्राष्ट्रीय कृषि सप्ताह कार्यक्रम’ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए। शुक्रवार यानी आज से सीआईआई की तरफ से आयोजित ‘भारत-अंतर्राष्ट्रीय कृषि सप्ताह’ कार्यक्रम की शुरूआत हो गई है। कार्यक्रम बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए सीएम योगी ने कहा कि आज भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) के डिजिटल प्लेटफॉर्म पर ‘भारत-अंतरराष्ट्रीय कृषि सप्ताह’ का आयोजन प्रारंभ हो रहा है। यह आयोजन कृषकों के ज्ञान व आय में वृद्धि हेतु सहायक सिद्ध होगा। किसानों के सर्वांगीण उन्नयन हेतु अंतरराष्ट्रीय मंच प्रदान करेगा। आयोजन की सफलता हेतु शुभकामनाएं!


कार्यक्रम की शुरुआत में सीआईआई नार्थ रीजन के चेयरमैन निखिल साहनी ने सीएम योगी की ‘भारत-अंतरराष्ट्रीय कृषि सप्ताह’ कार्यक्रम के उद्देश्य से अवगत कराया। इस दौरान सीआईआई एग्रो एंड फूड टेक 2020 के चेयरमैन अजय एस श्रीराम, सीआईआई के डायरेक्टर जनरल चंद्रजीत बनर्जी और डिप्टी चेयरमैन नार्थ जोन अभिमन्यु मुंजाल भी मौजूद रहे।


Also Read: त्योहारों से पहले सरकारी कर्मचारियों को तोहफा, मिलेगा 10000 रुपये का फेस्टिवल एडवांस


सीआईआई ने कहा कि कृषि उत्तर प्रदेश की अर्थवयवस्था की रीढ़ की हड्डी है। सरकार द्वारा चलाया जा रहा ‘एक जिला, एक उत्पाद’ कार्यक्रम भी किसानों की आय बढ़ाने की तरफ एक महत्वपूर्ण कदम है। मुझे पूर्ण विश्वास है कि भारतीय उद्योग परिसंघ की इस पहल से किसान भी लाभान्वित होंगे तथा यह खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में उद्योगपतियों को भी आकर्षित करने में भी अहम भूमिका निभाएगी।


बता दें कि देश में खेती से जुड़े संस्थानों के कृषि विशेषज्ञ, मंत्रालयों के अधिकारी, अर्थशास्त्री और व्यवसासी ‘किसानों की आय कैसे बढ़ेगी’ विषय पर अपनी बात रखेंगे। कोरोना को देखते हुए प्रदर्शनी से लेकर किसान गोष्ठियां, राज्यवार सम्मेलन, व्यवसायिक गतिविधियां सब कुछ वर्चुअल होगा।


सीआईआई के चेयरमैन अंकित गुप्ता ने बताया है कि यह देश के किसानों के लिए एक दम नया अनुभव होगा। इसमें 12 किसान गोष्ठियां होंगी। इसमें हर फसल के सबसे बेहतरीन विशेषज्ञ अपनी बात रखेंगे तो कृषि से जुड़ी कंपनियां (खाद, बीज, मशीनरी, तकनीकी) भी होंगी। हमारी कोशिश है कि कैसे किसानों को वो बातें और जानकारियां पहुंचाई जाए, जो उनकी आमदनी बढ़ाने में सहायक हो।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

पेट्रोल के दाम लगी आग, 85 रुपये के पार हुआ महंगा

Satya Prakash

आज बैंक बंद होने के कारण ग्राहकों को झेलनी पड़ सकती हैं परेशानी

Satya Prakash

WhatsApp पर शुरू हुई शॉपिंग की सुविधा, जानें कैसे करें खरीदारी

Satya Prakash