Breaking Tube
Business

एक रुपये के नए नोट में होंगे ये सुरक्षा फीचर्स, कीमत से ज्यादा है इसकी लागत

बिज़नेस: भारत सरकार द्वारा बड़े नोट यानी 2000, 500, 200, 100, 50, 20 और 10 के नोट के बाद अब सुरक्षा के नए फीचर्स के साथ 1 का नोट भी जल्द ही बाजार में आने वाले हैं. 7 फरवरी की एक अधिसूचना में कहा गया है कि वित्त मंत्रालय इसकी छपाई करने की तैयारी में है. इसमें कई वाटरमार्क यानी विशेष पहचान चिन्ह होंगे. तो चलिए आपको भी दिखाते हैं इस नए 1 रुपए के नोट के फीचर्स.


  1. इस नोट पर सबसे ऊपर में हिन्दीं में भारत सरकार लिखा होगा. इसके ठीक नीचे अंग्रेजी में गवर्मेंट ऑफ इंडिया लिखा होगा.
  2. इस पर वित्त सचिव अतनु चक्रवर्ती का हिन्दीं और अंग्रेजी में हस्ताक्षर होगा.
  3. इस पर एक रुपये के सिक्के का प्रतीक चिन्ह होगा जिस पर सत्यमेव जयते लिखा होगा.
  4. इसमें दाईं तरफ नीचे की ओर काले रंग से नोट का नंबर लिखा होगा जो बांए से दाएं बढ़ते क्रम में होंगे.
  5. इसमें पहले तीन नंबर और शब्द आकार में एकसमान होंगे.
  6. इस नोट में ऊपर में भारत सरकार और गवर्मेंट ऑफ इंडिया के बाद वर्ष 2020 लिखा होगा.
  7. इसमें अन्न का प्रतीक बना होगा जो कृषि प्रधान देश का संकेत होगा. इसमें 15 भाषाओं में रुपये की कीमत लिखी होगी. इसमें तेल प्लेटफॉर्म सागर रत्न का प्रतीक भी बना होगा.
  8. इस नोट का रंग सामने से गुलाबी-हरा होगा जबकि पीछे कई रंगों का मेल होगा.
  9. इस नोट की लंबाई 9.7 सेंटीमीटर और चौड़ाई 6.3 सेंटीमीटर होगी.
  10. इसमें कई वाटरमार्क होंगे जिसमें सत्यमेव जयते के बिना अशोक स्तंभ लिखा होगा. बीच में अंकों में एक लिखा होगा जिसे गौर करके ही पहचाना जा सकता है. इसके बाद भारत भी लिखा होगा जो आसानी से नहीं दिखाई देगा.

Image result for one rupees note india

कुछ इस तरह हुई एक रुपये के नोट की शुरुआत-


प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान एक रुपये का सिक्का चलता था जो चांदी का हुआ करता था. लेकिन युद्ध के चलते सरकार चांदी का सिक्का ढालने में असमर्थ हो गई और इस तरह 30 नवंबर 1917 में पहली बार एक रुपये का नोट लोगों के सामने आया. इसपर ब्रिटेन के राजा जॉर्ज पंचम की तस्वीर छपी थी.


गवर्नर के हस्ताक्षर नहीं-


इस नोट की सबसे खास बात यह है कि इसे अन्य भारतीय नोटों की तरह भारतीय रिजर्व बैंक जारी नहीं करता बल्कि भारत सरकार ही इसकी छपाई करती है. एक रुपये के नोट पर वित्त सचिव का हस्ताक्षर होता है. जबिक अन्य नोट पर रिजर्व बैंक के गवर्नर का हस्ताक्षर होता है. वर्ष 2020 के एक रुपये के नोट पर वित्त सचिव अतनु चक्रवर्ती का हस्ताक्षर होगा.


कीमत से ज्यादा है इसकी लागत-


एक रुपये के नोट को छापने की लागत 1.14 रुपये बैठती है। वर्ष 2015 में सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत मांगी गई जानकारी में यह तथ्य सामने आया था. आपको यह जानकर बेहद हैरानी होगी कि कानूनी आधार पर एक रुपये का नोट एक मात्र वास्तविक मुद्रा यानी नोट (करेंसी नोट) है. अन्य सभी तरह के नोट धारीय नोट (प्रॉमिसरी नोट) होते हैं जिस पर धारक को उतनी राशि अदा करने का वचन दिया गया होता है.


Also Read: घरेलू शेयर बाजार में लगातार चौथे दिन तेजी जारी, सेंसेक्स 74 अंक उछला, निफ्टी ने भी लगाई ऊंची छलांग


Also Read:  अगर आपने भी नियमों के बदलाव के बाद कराया है Aadhaar अपडेट, तो जानें कैसे मिलेगा नया कार्ड


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

जियो से कॉल करने लिए करवाना पड़ेगा ‘डबल’ रिचार्ज, जानें पूरा प्लान और फायदे

Satya Prakash

पेट्रोल-डीजल के दामों में इस महीने की सबसे बड़ी कटौती

BT Bureau

लाखों की जैकेट पहन लंदन में ठाट से घूम रहा भगोड़ा नीरव मोदी, कांग्रेस बोली- मोदी है तो मुमकिन है

admin