Breaking Tube
Business

मोदी सरकार ने 47 और चीनी ऐप्स को भारत में किया बैन, PUBG समेत ये 275 ऐप्स भी रडार पर

47 Chinese apps

भारत सरकार द्वारा पहले 59 चीनी एप्स पर प्रतिबंध लगाने के लगभग एक महीने बाद 47 और चीनी एप (47 Chinese apps) पर प्रतिबंध लगाए गए हैं, जो पहले प्रतिबंधित एप के क्लोन थे। इसकी जानकारी सूत्रों से मिली। संबंधित मोबाइल एप्लिकेशन की सूची जल्द ही प्रकाशित की जाएगी।


एक आधिकारिक सूत्र ने बताया कि प्रतिबंधित किए जाने वाले एप्स पहले से प्रतिबंधित एप्स के क्लोन के रूप में पाए गए हैं। इन नए एप्स पर प्रतिबंध की बात इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा 59 प्रतिबंधित एप के आदेशों का सख्ती से पालन करने या उल्लंघन के मामले में गंभीर कार्रवाई करने के लिए आया।


मंत्रालय ने संबंधित सभी कंपनियों को पत्र लिखा है और कहा है कि प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से एप उपलब्ध कराना आईटी अधिनियम और अन्य कानूनों का उल्लंघन है। लद्दाख की गलवान घाटी में चीन की सेना के साथ हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे।


Also Read: TikTok बैन होने के बाद अब इस चाइनीज एप्स को पसंद कर रहे लोग


इसके बाद से ही चीन और उसके प्रोडक्ट समेत सभी एप्स को लेकर भारत के लोगों में गुस्सा था, जिसके बाद 29 जून को सरकार ने यूसी ब्राउजर, शेयर इट, हैलो, लाइक, कैम स्कैनर, शीन क्वाई आदि सहित 59 चीनी एप बैन किए थे। इसमें सबसे प्रमुख नाम टिकटॉक का था। मंत्रालय के अनुसार, इस कदम से करोड़ों भारतीय मोबाइल यूजर्स के गोपनीयता की रक्षा होगी।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 275 और ऐप्स अभी भी सरकार के रडार पर हैं, जिनमें पबजी समेत कई और ऐप्स भी शामिल हैं। इन 275 ऐप्स में ज्यादातर ऐप शाओमी और अलीबाबा ग्रुप्स के ऐप्स हैं। इनके अलावा Byte Dance, ULike समेत कई और चीनी कंपनियों के ऐप्स शामिल है। इन सभी ऐप्स को सरकार द्वारा क्लोजली मॉनिटर किया जा रहा है। इन 275 ऐप्स के द्वारा भी भारतीय यूजर्स के डाटा लीक होने की संभावनाएं जताई जा रही हैं। भारत की साइबर सिक्युरिटी की रक्षा करने के लिए सरकार लगातार इन ऐप्स पर नजर बनाए रखी है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

…जब 1985 में प्रधानमंत्री रहते हुए नेहरू को पेश करना पड़ा था संसद में बजट

admin

शाओमी के सभी स्मार्टफोन्स 2020 तक होंगे 5जी टेक्नोलॉजी के लैस

Satya Prakash

विदेशी कंपनियों को रास आ रहा है भारत, ख़त्म हुई चीन बादशाहत

BT Bureau