Breaking Tube
Business

टेलिकॉम कंपनियों की हालत खस्ता, वोडाफोन-आइडिया के चेयरमैन बोले- सरकार नहीं करती मदद तो बंद होंगी कंपनी

Vodafone Idea Chairman Kumar Mangalam Birla said if the Government does not help the company will shut down

इन दिनों टेलिकॉम कंपनियों (Telecom Companies) की हालत बहुत ज्यादा खस्ता हो गए है, कंपनियों पर कर्ज का बोझ इतना बढ़ चुका है कि उनका संचालन मुश्किल हो रहा है. खस्ताहाल टेलिकॉम सेक्टर का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वोडाफोन-आइडिया (Vodafone-Idea) के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला (Kumar Mangalam Birla) ने कहा कि ‘अगर कंपनी को सरकार मदद उपलब्ध नहीं कराती है तो यह बंद हो सकती है. उन्होंने साफ-साफ कहा कि वह इस कंपनी में और ज्यादा पैसा निवेश नहीं करने वाले हैं’.


Also Read: लखनऊ: जल्द ही सड़कों पर दौड़ेंगे मॉडर्न इलेक्ट्रिक ऑटो रिक्शा, सस्ते किराये के साथ मिलेगी प्रिंट रसीद


हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट में बोलते हुए मंगलम बिड़ला ने कहा कि अगर सरकार से राहत नहीं मिलती है तो मजबूरी में हमें अपनी दुकान (वोडाफोन-आइडिया) बंद करनी पड़ेगी. उन्होंने इस बात का भी संकेत दिया कि वह अब कंपनी में किसी तरह का निवेश नहीं करने जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि इस बात का कोई मतलब नहीं कि डूबते पैसे में और पैसा लगा दिए जाएं. बिड़ला ने कहा कि राहत ना मिलने की स्थिति में वह कंपनी को दिवाला प्रक्रिया में ले जाएंगे.


Also Read: भारत से बोरिया बिस्तर समेटने के तैयारी में वोडाफोन, ये है वजह


बता दें सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद वोडा आइडिया को सरकार को करीब 53 हजार करोड़ रुपये का भुगतान करना है. दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में कंपनी को करीब 51 हजार करोड़ रुपये का घाटा हुआ था, जो टेलिकॉम इतिहास में एक तिमाही में अब तक का सबसे बड़ा नुकसान है. वोडा आइडिया के अलावा एयरटेल की भी हालत ठीक नहीं है. दूसरी तिमाही में उसे भी करीब 23 हजार करोड़ रुपये का घाटा हुआ है. एक तिमाही में कंपनी का यह अब तक का सबसे बड़ा नुकसान है.


Also Read: JIO ने 40 प्रतिशत तो आइडिया और वोडाफोन ने 42 प्रतिशत तक बढ़ाये रेट, सबसे महंगा होगा एयरटेल, नयी दरें इस तारीख से होंगी लागू


वहीं, स्पेक्ट्रम चार्ज, लाइसेंस फीस और एजीआर बकाया मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद टेलिकॉम कंपनियों पर अचानक से करीब 1.4 लाख करोड़ रुपये की देनदारी आ गई है. इसमें से एयरटेल को करीब 62 हजार करोड़ रुपये और वोडा आइडिया को 54 हजार करोड़ रुपये चुकाने हैं. कुछ बकाया अनिल अंबानी की रिलायंस कम्यूनिकेशन्स पर भी है. फिलहाल सरकार ने इन कंपनियों को 2 साल के लिए राहत दी है. कंपनियों को 2 साल तक कोई भुगतान नहीं करना है.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

TRADE WAR: अमेरिका और चीन के बीच जारी व्यापार युद्ध से भारत को मिल रहा फायदा

admin

RBI ने बदला ऑनलाइन ट्रांजेक्शन का ये नियम, इस दिन से होगा लागू

S N Tiwari

यूपी: इस तरीके से हजारों के जुर्माने पर देने होंगे मात्र 800 रूपये, मोबाइल में एम परिवहन और डिजीलॉकर एप से कागजात दिखाने पर नहीं होगा चालान

S N Tiwari