CM योगी का निर्देश- तेजी से कराएं सभी अटल आवासीय विद्यालयों का निर्माण, अगले साल से शुरू होगी पढ़ाई

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने निर्माण श्रमिकों (Construction Workers) के बच्चों के लिए प्रदेश के 18 मंडल मुख्यालयों में बनाए जा रहे अटल आवासीय विद्यालयों (Atal Residential Schools) का निर्माण इस साल अक्टूबर तक पूरा करने का निर्देश दिया है, ताकि हर हाल में उनमें अप्रैल 2023 से पढ़ाई शुरू की जा सके। सीएम योगी ने अपने सरकारी आवासीय विद्यालयों के निर्माण कार्य की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक मे विद्यालयों की मानक संचालन प्रक्रिया के बारे में प्रस्तुतीकरण भी हुआ।

निर्माण कार्य की धीमी गति पर जताई नाराजगी

सीएम योगी ने खासतौर पर मुरादाबाद, वाराणसी, झांसी और बस्ती मंडल मुख्यालयों पर अटल आवासीय विद्यालयों के निर्माण कार्य की धीमी गति पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने सभी 18 मंडलों में अटल आवासीय विद्यालयों का निर्माण तेजी से पूरा करने का निर्देश दिया। उन्होंने विभागीय मंत्री और वरिष्ठ अधिकारियों को फील्ड में जाकर विद्यालय निर्माण और उसके संचालन की प्रगति की निगरानी करने का निर्देश दिया है।

Also Read: अब गाय का गोबर खरीदेगी योगी सरकार, किसानों को मिलेगा 1.50 रूपए प्रति किलो का दाम

मुख्यमंत्री ने चेतावनी देते हुए कहा कि समयबद्धता और गुणवत्ता को लेकर लापरवाही पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी विद्यालयों में खेल के मैदान और कौशल विकास की व्यवस्थाएं भी हों। यह विद्यालय ऐसे मॉडल बनें जिससे अन्य लोगों को भी प्रेरणा मिले। विद्यालयों के संचालन की निगरानी के लिए राज्य, मंडल व जिला स्तर पर समितियों का गठन किया जाए।

मुख्यमंत्री ने विद्यालयों में प्रधानाचार्यों, शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कार्मिकों की तैनाती के साथ पाठ्यक्रम निर्धारण भी शीघ्रता से करने का निर्देश दिया। पाठ्यक्रम को राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 2020 के अनुकूल बनाने और उसमें योग व खेलकूद को विशेष रूप से शामिल करने पर जोर दिया।

Also Read: UP में साधु-संत और पुरोहितों को मिलेगी सैलरी, योगी सरकार बना रही योजना

सीएम योगी ने कहा कि अटल आवासीय विद्यालयों और छात्रावास के भवनों की वास्तुकला भारतीय दर्शन व संस्कृति के अनुरूप हो। इसकी शैली उत्कृष्ट व जीवंत हो। इसके निर्माण में आधुनिक तकनीक, डिजाइन और सुविधाओं का समावेश किया जाए।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )