यूपी मे तेजी से बढ़ रहा कोरोना, 5 महीने बाद 1 दिन में मिले 100 से ज्यादा मरीज, जानें क्या है आपके शहर का हाल ?

उत्तर प्रदेश में लगातार कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं. करीब पांच महीनों के बाद प्रदेश में कोरोना संक्रमितों के मामले 100 से भी ज्यादा आये हैं. जिसके चलते योगी सरकार लगातार कुछ ना कुछ कदम उठा रही है. प्रशासन को सख्ती बरतने के आदेश जारी कर दिये गये हैं ताकि किसी भी कीमत पर वायरस को बढ़ने से रोका जा सके. बुधवार को प्रदेश में दो लाख से ज्यादा सैम्पल्स की जांच हुई, जिसमें 118 लोग संक्रमित मिले. इससे पहले मंगलवार को 80 मामले सामने आए थे. सोमवार को यह आंकड़ा 40 था. इससे पहले 10 जुलाई को 100 संक्रमित मरीज मिले थे.

जानें कहां मिले कितने मरीज

जानकारी के मुताबिक, 118 संक्रमित मिलने के बाद उत्तर प्रदेश में कोरोना के कुल एक्टिव केस की संख्या 473 हो गई है. राजधानी लखनऊ में बुधवार को 25 नए मरीज मिले. वहीं गौतम बुद्ध नगर में 21 और गाज़ियाबाद में 13 नए केस मिले. लखनऊ में एक्टिव केस की संख्या 90 तो गौतम बुद्ध नगर में 99 हो गई है. गाजियाबाद में 75, मेरठ में 24, मथुरा में 17, प्रयागराज में 16, आगरा में 15, मुरादाबाद और वाराणसी में 12-12 एक्टिव केस है. इसके अलावा 41 जिले ऐसे हैं जहां मरीजों की संख्या इकाई में है. कुल मिलकर 50 जिलों में कोरोना के मामले अब तक सामने आ चुके हैं. 25 जिले ऐसे हैं जहां कोरोना का एक भी एक्टिव केस नहीं है.

CM ने दिए सख्त आदेश

बुधवार को ही यूपी को कोरोना प्रभावित प्रदेशों में शामिल किया गया था. इसी के चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को उच्चस्तरीय बैठक कर अधिकारियों को महत्वपूर्ण दिशा निर्देश दिए. जिसके अंतर्गत कहा गया कि सभी जिलाधिकारी और मुख्य चिकित्साधिकारी स्वयं जिले के हर एक अस्पताल में उपलब्ध साधन-सुविधाओं का भौतिक सत्यापन करें. मुख्यमंत्री ने कहा कि अस्पतालों में आइसोलेशन बेड, आईसीयू बेड, बच्चों के लिए जरूरी पीआईसीयू, पीडियाट्रिक विशेषज्ञ, वेंटिलेटर आदि की जांच कर ली जाए. अगर कहीं कोई कमी मिले तो तत्काल व्यवस्था सुधारकर इंतजाम दुरुस्त करें. बैठक में मुख्यमंत्री ने कोविड संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए सख्ती से रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू लागू करने के भी निर्देश दिए.

प्रदेश में लागू है नाइट कर्फ्यू

अब आगे आने वाले समय में महामारी एक्ट यानी कोरोना प्रभावित राज्य घोषित होने के बाद जो नई गाइडलाइन जारी होगी उसका सभी को सख्ती से पालन करना होगा. गाइडलाइन्स का पालन न करने की स्थिति में व्यक्ति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई या फिर जुर्माना भी देना पड़ सकता है. बता दें 25 दिसंबर से ही प्रदेश में नाईट कर्फ्यू लागू कर दिया गया है. अब देखना यह होगा कि सरकार द्वारा जारी होने वाली गाइडलाइन्स में क्या-क्या पाबंदियां लागू होती है. मिल रही जानकारी के अनुसार सरकार शादी समारोह में मेहमानों की उपस्थिति, मॉल,मार्केट, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर नए दिशा निर्देश जारी होंगे.

ALSO READ : कोरोना प्रभावित राज्य घोषित हुआ UP, जानिए आपके लिए क्या है इसका मतलब ?

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )