Breaking Tube
Corona International

रूस ने तैयार की दुनिया की पहली Covid-19 वैक्सीन, जानिए कब तक आ जाएगी बाजार में और किसे मिलेगी पहले?

दुनियाभर को अपनी चपेट में लेने वाला जानलेवा कोरोना वायरस (Corona Virus) पिछले छह महीनों से तबाही का सबब बना हुआ है. तमाम उपायों के बावजूद इस संक्रमण के ताज़ा आंकड़े सिरहन पैदा करने वाले हैं. इस महामारी के कारण अब तक पांच लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. ऐसे में दुनियाभर में लोग इस संक्रमण के वैक्सीन का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. इस बीच रूस से एक अच्छी खबर सामने आई है. रूस (Russia) के सेचेनोव विश्वविद्यालय का दावा है कि उसने कोविड-19 के लिए वैक्सीन (Vaccine) तैयार कर ली है और इसके सभी ट्रायल सफल रहे हैं.


सितंबर तक बाजार में हो सकती है उपलब्ध

सेचनोव यूनिवर्सिटी के इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल पैरासिटोलॉजी ट्रॉपिकल एंड वेक्टर-बॉर्न डिसीज के डायरेक्टर अलेक्जेंडर लुकाशेव का कहना है, हमारा मकसद इंसानों को सुरक्षा देने के लिए कोविड-19 की वैक्सीन को सफलतापूर्वक तैयार करना था. अलेक्जेंडर के मुताबिक, सुरक्षा के लिहाज से वैक्सीन की जांच की जा चुकी है. उम्मीद है कि यदि सारी परमिशन मिल जाती है तो यह सितंबर तक बाजार में उपलब्ध होगी.


किसको पहले मिलेगी वैक्सीन ?

रूस ने वैक्‍सीन डेवलप करने का दावा तो कर दिया है मगर यह साफ नहीं किया कि वैक्‍सीन उपलब्‍ध कैसे कराई जाएगी. ट्रायल में सिर्फ 38 वालंटियर्स के यूज पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं. ऐसे में यह हो सकता है कि इस्‍तेमाल के लिए अप्रूव होने से पहले और रिसरर्च की जरूरत पड़े. अगर वैक्‍सीन का यह प्रोटोटाइप अप्रूव हो जाता है तो यह दुनिया में उपलब्‍ध पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन होगी. फिर रूस वैक्‍सीन की उपलब्‍धता को लेकर नियम बना सकता है. चूंकि सारे वैक्‍सीन डेवलपमेंट प्रोग्राम्‍स को वर्ल्‍ड हेल्‍थ ऑर्गनाइजेशन मॉनिटर कर रहा है, इस वजह से भी वैक्‍सीन का जल्‍द ग्‍लोबल अप्रूवल मुश्‍किल है.


15 अगस्त हो लॉन्च हो सकती है भारत की कोरोना वैक्सीन

वहीं, इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) और भारत बायोटेक ने भी एकसाथ मिलकर कोरोना वैक्सीन तैयार कर ली है. हालांकि, अभी इसका ह्यूमन ट्रायल चल रहा है. लेकिन कई रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 15 अगस्त तक यह वैक्सीन लोगों के लिए भारत में उपलब्ध हो जाएगी.


कई और भारतीय कंपनियों ने भी तैयार की है वैक्सीन

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत बायोटेक के अलावा कई और भारतीय कंपनियों ने भी कोरोना वैक्सीन तैयार कर ली है. इन भारतीय फर्मों में ज़ेडियस कैडिला (Zydus Cadila), पैंसिया बायोटेक (Panacea Biotech) और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) शामिल हैं. ज़ेडियस और सीरम ने ह्यूमन ट्रायल के लिए केंद्रीय ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइज़ेशन को आवेदन किया है.


Also Read: फेफड़ों को ही नहीं अब ब्रेन, किडनी और हार्ट पर को भी नुकसान पहुंचा रहा करोना, AIIMS के डायरेक्टर का दावा


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

पत्नी रेहम खान ने इमरान खान पर लगाया समलैंगिक होने का आरोप, बोली – कई पार्टी नेताओं से संबंध

admin

पाक मंत्री फवाद हुसैन ने कबूला, दुनिया के सबसे अच्छे सुसाइड बॉम्बर बनाता है पाकिस्तान, सभी आत्‍मघाती हमलावरों का मदरसों से संबंध

S N Tiwari

जापान में पीएम मोदी के भाषण के दौरान लोगों ने लगाये ‘जय श्री राम’ के नारे, दिखा जबरदस्त उत्साह

BT Bureau