Breaking Tube
Corona

UP में नियम तोड़कर लगी कोरोना वैक्सीन तो नपेंगे DM और CMO

Yogi Adityanath government corona vaccination

देश में कोरोना का टीका (Corona Vaccination) लगाने का अभियान 16 जनवरी से शुरू होगा. उससे पहले सभी राज्य टीकाकरण की तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे हैं. उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) ने टीकाकरण के लिए नियम भी तय कर दिए हैं. ट्रॉयल के बाद वैक्सीन भी आ गई है. बताया जा रहा है कि इस दौरान वैक्सीन लगवाने वालों की सिफारिशों का दौर भी तेज हो गया है. जोर जुगाड़ से वैक्सीन लगवाने के लिए अफसरों के पास ढेरों सिफारिशें पहुंच रही हैं. सबसे ज्यादा स्वास्थ्य विभाग के अफसरों पर वैक्सीन लगवाने का दबाव बनाया जा रहा है. इसे शासन ने गंभीरता से लिया है. प्रोटोकॉल और प्राथमिकता से इतर टीका न लगाने के निर्देश जारी किए हैं.


16 जनवरी से टीकाकरण शुरू होगा. टीका लगाने के तीन ड्राईरन सफल हो चुके हैं. सोमवार और शुक्रवार को टीकाकरण होगा. स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारी और सीएमओ को आदेश दिए हैं. यह आदेश लखनऊ सीएमओ दफ्तर भी पहुंच गया है. इसमें कहा गया है कि यदि प्राथमिकता के अलावा किसी को भी वैक्सीन लगाने की शिकायत मिली तो उस जिले के डीएम और सीएमओ पर कार्रवाई की जाएगी.


आदेश में साफ कहा गया है कि गाइड लाइन में तय प्राथमिकता वालों को ही वैक्सीन लगाई जाएगी। इसमें किसी भी तरह का रद्दोबदल नहीं होना चाहिए. आदेश में स्पष्ट लिखा है कि कुछ लोग निर्धारित प्राथमिकताओं से इतर वैक्सीनेशन कराने की मांग कर सकते हैं. पर, किसी भी दबाव में आने की जरूरत नहीं है. केंद्र सरकार की कोविड-19 वैक्सीन ऑपरेशन गाइडलाइन में लाभार्थियों की प्राथमिकता तय की गई है. उसी के अनुसार टीकाकरण अभियान चलना है.


योगी सरकार की ओर से मंगलवार को इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए गए. सरकार के आदेश के मुताबिक, कोरोना वैक्सीनेशन के लिए पंजीकरण अनिवार्य है. पंजीकरण के बाद ही सत्र स्थल और समय की जानकारी दी जाएगी. इसके अलावा फोटो आईडी का सत्यापन भी जरूरी है. अगर कोई व्यक्ति फोटो आईडी दिखाने में असमर्थ है तो ऐसे में क्या होगा. सरकार ने इसका जवाब देते हुए बताया कि फोटो आईडी पंजीकरण स्थल पर पंजीकरण और सत्यापन दोनों के लिए जरूरी है. ताकि ये सुनिश्चित किया जा सके कि इच्छित व्यक्ति को वैक्सीन लगाई गई है.


बता दें कि सीएम योगी ने कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर समय के पहले सभी व्यवस्थाएं पूरी करने के भी आदेश दिए थे. उन्होंने कोविड- 19 की टेस्टिंग को ज्यादा से ज्यादा करने और लोगों को निरंतर जागरुक करने पर बल दिया. सीएम योगी ने कहा था कि कोविड -19 वैक्सीनेशन का काम भारत सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन को ध्यान में रखकर किया जाना चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि निर्धारित किए गए क्रमों का प्रत्येक दशा में पालन होना चाहिए.


Also Read: UP में टीकाकरण के लिए ‘जुगाड़’ लगाना या ‘पॉवर’ दिखाना पड़ेगा महंगा, EVM की तर्ज पर होगी कोरोना वैक्सीन की सुरक्षा


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

इटावा: आइसोलेशन वार्ड की खिड़की तोड़कर भागा कोरोना संदिग्ध बंदी गुलफाम, अस्पताल में मची अफरा-तफरी

Jitendra Nishad

कोरोना से जंग में दुनिया के सभी लीडर्स को पछाड़कर नंबर 1 पर PM मोदी- रिसर्च

BT Bureau

यूपी में जल्द शुरू होगा शराब-बीयर का उत्पादन, योगी सरकार ने दी मंजूरी

BT Bureau