Breaking Tube
Crime

लखनऊ: CAA विरोध की आड़ में हिंसा फैलाने वाले 13 उपद्रवी दोषी करार, वसूले जाएंगे 21.76 लाख रुपये

former MLA Nirvendra Mishra

CAA विरोध (CAA violence protest) की आड़ में दिसम्बर महीने में जमकर हिंसक प्रदर्शन हुआ था. जिसके बाद शहर को हिंसा में झोंकने वाले 13 उपद्रवी दोषी करार दिए गए हैं. अपर जिला मजिस्ट्रेट ट्रांसगोमती की कोर्ट ने घटना के दो माह से भी कम समय में सुनवाई पूरी करके नजीर पेश की है. इन सभी से तकरीबन 21 लाख 76 हजार रूपये की वसूली की जायेगी. अर्थ दंड जमा करने के लिए कोर्ट ने इन्हें 30 दिन का समय दिया है. नुकसान की धनराशि के लिए 13 आरोपित संयुक्त रूप से और संपूर्ण धनराशि के लिए व्यक्तिगत रूप से अलग-अलग जिम्मेदार हैं.


ये लोग हुए दोषी करार

जानकारी के मुताबिक, CAA विरोध (CAA violence protest) में हो रहे प्रदर्शन को हिंसक बनाने में कई लोगों ने जीतोड़ मेहनत की. इस प्रदर्शन के दौरान सिर्फ राजधानी लखनऊ में ही तकरीबन पांच करोड़ रूपये का नुक्सान हुआ. गुरुवार को आया आदेश केवल हसनगंज क्षेत्र के मुकदमों का है। यहां 20 उपद्रवियों को रिकवरी का नोटिस भेजा गया था, जिसमें सात के खिलाफ साक्ष्य नहीं मिले. अपर जिला मजिस्ट्रेट ट्रांसगोमती विश्वभूषण मिश्र ने आदेश में कहा कि जो आरोपित वसूली से मुक्त हुए हैं, वे अन्य किसी भी दीवानी या आपराधिक मामले से मुक्त नहीं माने जाएंगे.


Also Read : पीलीभीत: सड़क हादसे में घायल सिपाही की इलाज के दौरान मौत, नम आंखों से पुलिसकर्मियों ने दी आखिरी सलामी


कोर्ट ने कहा है कि उत्तरदायित्व से तात्पर्य भीड़ द्वारा लगभग समान उद्देश्य के साथ की गई हिंसा में शामिल प्रत्येक आरोपित का उत्तरदायित्व इस प्रकार निर्धारित होगा जैसे, भीड़ के हाथों की गई हिंसा उसने खुद की हो. कोर्ट द्वारा दोषी करार आरोपियों में ओसामा सिद्दीकी, मुहम्मद हासिम, मुहम्मद कलीम, मुख्तार अहमद, कलीम अहम, जाकिर, सलमान, मुबीन, वसीम, शफीकुद्दीन, माहेनूर चौधरी, हफीजुर्रहमा शामिल हैं. इनमे से छ आरोपियों ने अभी तक नोटिस का जबाव नहीं दिया है.


पुलिस कार्रवाई पर उठाया सवाल

इसके अलवा कोर्ट ने पुलिस कार्रवाई पर भी सवाल उठाया है. हिंसा में करीब 10 हजार लोगों ने प्रतिभाग किया. इसके बावजूद पुलिस बेहद कम संख्या में आरोपित ढूंढ़ पाई. यह दिखाता है कि पुलिस ने लापरवाही बरती ही.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

आरक्षण की मांग को लेकर ‘निषाद पार्टी’ के कार्यकर्ताओं ने बहाया UP पुलिस का खून, सीएम बांट रहे मुआवजा

BT Bureau

शाहजहांपुर: नशे में धुत युवकों ने कोतवाल की जीप पर फेंकी शराब की बोतल, फिर की पत्थरबाजी

S N Tiwari

कानपुर मुठभेड़: ADG ने कहा- शशिकांत के घर से बरामद हुई इंसास राइफल, पत्नी बोली- झूठ बोल रही पुलिस

Jitendra Nishad