Breaking Tube
Crime

शरजील इमाम के वाट्सएप चैट ने खोले कई राज, PFI से निकला कनेक्शन, अधिकारी बोले- ज़हर उगलती है उसकी जुबान

sharjeel imam

देशद्रोह और भड़काऊ भाषण देने के आरोप में गिरफ्तार जेएनयू के छात्र शरजील इमाम (sharjeel imam) का पीएफआई (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) से कनेक्शन है। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दावा किया है कि पूछताछ में शरजील के वाट्सएप चैट से इस बात का पता चला है कि वह विवादित संगठन पीएफआई के संपर्क में था। वहीं, शरजील ने यह भी कबूला है कि भड़काऊ भाषण का वीडियो उसी का है और वीडियो के साथ किसी भी तरह की छेड़छाड़ नहीं की गई है।


हालांकि, अधिकारी इस मामले पर अभी खुलकर कुछ नहीं कह रहे हैं। लेकिन क्राइम बांच ने यह बताया है कि शरजील (sharjeel imam स्वभाव से बेहद कट्टर है। पांच राज्यों उत्तर प्रदेश, असम, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश और दिल्ली में राजद्रोह का मुकदमा दर्ज होने की जानकारी के बावजूद भी उसके चेहरे पर एक भी शिकन नहीं है। क्राइम ब्रांच ने बताया कि शरजील अफसरों के हर सवाल के जवाब में बहकी-बहकी बातें कर रहा है। बार-बार देश विरोधी बातें बोल रहा है।


Also Read: डॉक्टर कफील खान ने AMU छात्रों को भड़काते हुए कहा था- ‘यह हमारे अस्तित्व की लड़ाई है, हमें लड़ना होगा’


सूत्रों ने बताया कि शरजील को क्राइम ब्रांच के चाणक्यपुरी स्थित इंटर स्टेट सेल के दफ्तर ले जाया गया। वहां स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने करीब दो घंटे तक पूछताछ की। स्पेशल सेल सूत्रों के मुताबिक, शरजील हाइली रेडिकलाइज्ड (कट्टर) है। उसकी जुबान जहर उगलती है। सेल व क्राइम ब्रांच के अधिकारी उसके जवाब से हैरान हैं। उन्हें समझ में नहीं आ रहा है कि शरजील के दिमाग में देश के प्रति ऐसा जहर किसने भरा है।


सेल व क्राइम ब्रांच की टीम इमाम के मोबाइल फोन का कॉल डिटेल रिकॉर्ड निकालकर पता लगाएगी कि इसके कितने साथी व खास परिचित हैं। ताकि उनसे पूछताछ कर जानकारी ली जा सके। क्राइम ब्रांच सूत्रों के मुताबिक शरजील लगातार देश विरोधी बातें कर रहा है। 13 दिसंबर को सबसे पहले इसी ने सीएए (नागरिकता संशोधन कानून) के खिलाफ जामिया में हुए प्रदर्शन में देश विरोधी भाषण दिया था और समुदाय विशेष के छात्रों व स्थानीय लोगों को सरकार के खिलाफ भड़काया था।


उनका कहना है कि शाहीन बाग धरने का भी मास्टरमाइंड यही है। दिल्ली के बाद देशभर में सीएए को लेकर जितने भी विरोध प्रदर्शन हुए वहां यह मुख्य वक्ता बनकर लोगों को भड़काने का काम किया। सेल यह भी पता लगा रही है कि इसे पीएफआइ से फंडिंग तो नहीं हो रही है।


बता दें कि चार दिन पहले शरजील इमाम का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वो अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के मंच से पूर्वोत्तर के राज्य असम को भारत से काटने की बात कह रहा है। उसने कहा कि मुसलमानों को अपनी ताकत दिखाते हुए कम से कम एक महीने तक असम का संपर्क भारत से काट देना चाहिए। इसके लिए रेलवे ट्रैक पर इतना मलबा डाल देना चाहिए कि उसे साफ करते-करते कम से कम एक महीने का समय लग जाए।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

मेरठ: बीच बाजार में जबरन रोककर मोबाइल नंबर मांग रहे थे जुनैद और सुहैल, युवती ले लताड़ा तो तेजाब डालने की धमकी दे हुए फरार

BT Bureau

ससुर की गंदी हरकत का किया विरोध तो शौहर ने तीन तलाक देकर घर से निकाला

BT Bureau

कन्नौज: मारपीट की शिकायत पर पहुंची पुलिस टीम पर आरोपियों ने किया हमला, दरोगा-सिपाही को जमकर पीटा, फाड़ी वर्दी

Shruti Gaur