Breaking Tube
Crime

दिल्ली: जमातियों ने बसों की खिड़कियों से सड़कों पर थूका, संक्रमण के चलते इलाके में अफरा-तफरी

विश्वभर को अपनी चपेट में लिए हुए कोरोना वायरस (Corona Virus) की महामारी के समय भी कुछ लोग मजहब को इससे ऊपर रखकर चल रहे हैं. इसका ताजा उदाहरण दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में हुई तबलीगी मरकज (Nizamuddin Tabligi Markaz Jamaat) है. यहां न सिर्फ प्रशासन की बात अनुसनी करी गई बल्कि मजहबी सनक के कारण कइयों की जान खतरे में डाल दी है. इतना ही नहीं डॉक्टर के मुताबिक संक्रमित जमातियों को जब बसों से आइसोलेशन व अस्पताल के लिए ले जाए गया तब वे बाहर थूकने लगे जिसे रोकने के लिए खिड़कियों को बंद कराना पड़ा.


दरअसल, दिल्ली में जमात के मुख्यालय में 1 से 15 मार्च के बीच मरकज में 2000 लोग ठहरे थे. रविवार से अब तक 1,548 लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया है. इनमें से 441 में कोरोना के लक्षण मिले हैं. मंगलवार को इन्हें बसों से अस्पताल व आइसोलेशन ले जाया जा रहा था. तभी रास्ते में जमाती नीचे थूकने लगे. पुलिस व प्रशासन ने रोका फिर भी नहीं थूकना बंद नहीं किया आखिरकार बसों की खिड़कियां बंद करानी पड़ गईं. कोरोना संक्रमित जमातियों के थूकने के कारण अब पूरे इलाके में संक्रमण की आशंका है, जिसके चलते अफरा-तफरी मची हुई है.


यूपी के 157 लोग थे जमात में शामिल

बता दें कि दिल्ली की निजामुद्दीन में तबलीगी जमात में शिरकत करने उत्तर प्रदेश से गए 157 लोगों की तलाश शुरू हुई तो बड़ी संख्या में विदेशी नागरिक भी सामने आए जो मस्जिदों व अन्य स्थानों पर ठहरे हुए थे. राजधानी लखनऊ में ऐसे 23 विदेशी नागरिक पकड़े गए तो बहराइच में 17 जमाती पकड़े गए. सीतापुर में 10 और प्रयागराज में 9 जमातियों का पता लगने के बाद इन सभी को क्वारंटाइन किया गया है. वे यहां विभिन्न जिलों में मस्जिदों व अन्य स्थानों पर ठहरे थे. ये लोग इंडोनेशिया, मलेशिया, सूडान, पाकिस्तान, बांग्लादेश, कजाकिस्तान व थाईलैंड के निवासी हैं. पुलिस यूपी के विभिन्न जिलों में रात भर छापेमारी करती रही.


Also Read: पीलीभीत: ‘होम क्वारंटाइन’ की मुहर मिटाकर पुलिस को चकमा देते रहे मक्का से लौटे 35 लोग, योगी के निर्देश पर FIR दर्ज


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

प्रयागराज: दबिश देने पहुंची पुलिस टीम पर हमला, दारोगा और तीन पुलिसकर्मी घायल, आरोपी नूर आलम समेत 4 गिरफ्तार

Jitendra Nishad

बांदा: ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, सिपाही गंभीर रूप से घायल

S N Tiwari

लखनऊ पासपोर्ट मामले में नया मोड़, रद्द किया जा सकता है तन्वी सेठ का पासपोर्ट

admin