Breaking Tube
Crime International

फ्रांस में महिला पुलिस अधिकारी का रेता गला, ‘अल्लाहु अकबर’ के लगाए नारे, राष्ट्रपति ने बताया- इस्लामिक आतंकवाद

France female police officer

फ्रांस (France) में एक सनसनीखेज घटना सामने आई है। यहां एक महिला पुलिस अधिकारी (Female Police Officer) की गला रेतकर हत्या कर दी गई। घटना राजधानी पेरिस से 56 किलोमीटर दूर Rambouillet की है। 49 साल की महिला पुलिस अफसर के गले पर 2 वार किए गए, जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई।


फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने मृतक महिला अफसर की पहचान स्टेफनी के तौर पर बताई है। उनकी 13 और 18 साल की दो बेटियां हैं। वहीं, 36 वर्षीय हमलावार ट्यूनीशियाई मूल का था। पुलिस सूत्रों के अनुसार, हमलावर 2009 में गैरकानूनी तरीके से फ्रांस में दाखिल हुआ था। हालांकि, उसका पुलिस के पास कोई रिकॉर्ड नहीं था।


Also Read: तालीम की जगह मदरसे में 11 साल के बच्चे का कई बार यौन शोषण, कोर्ट ने उलेमा को सुनाई 20 साल की सजा, 50 हजार का जुर्माना भी ठोंका


हमले के बाद पुलिस फायरिंग में वह घायल हो गया और बाद में अस्पताल में उसकी मौत हो गई। बीबीसी ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि वह ‘अल्लाहु अकबर’ के नारे लगा रहा था। फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने इसे आतंकी हमला करार दिया है। उन्होंने कहा कि फ्रांस इस्लामी आंतकवाद आगे घुटने नहीं टेकेगा। इससे अब और सख्ती से निपटा जाएगा।


वहीं, प्रधानमंत्री जीन कास्टेक्स ने कहा है कि इस तरह की घटनाओं से हम हार नहीं मानेंगे। हम बेहद सख्ती से इन लोगों से निपटने को तैयार हैं। एंटी टेरर प्रॉसीक्यूटर जीन फ्रेंकोइस ने कहा कि यह बहुत घृणित घटना है। हम उन लोगों के सबक सिखाएंगे, जो इसमें शामिल हैं। धुर दक्षिणपंथी नेता और चुनावों में मैक्रों की मजबूत प्रतिद्वंद्वी मैरीन ली पेन ने हमले के बाद कहा कि पुलिस को और अधिक सुरक्षित किए जाने की जरूरत है।


उन्होंने ट्वीट कर कहा कि पुलिस का समर्थन करें, अवैध प्रवासियों को बाहर निकाले, इस्लामी कट्टरपंथ का खात्मा करें। हमले के बाद आतंकरोधी जांच शुरू कर दी गई है। रिपोर्टों के अनुसार, मृतक महिला एडमिनिस्ट्रिटिव अफसर थीं। हमले के वक्त वह लंच ब्रेक से वापस लौट रही थीं।


Also Read: मेरठ: रेप करने में नाकाम शकील ने बेटी को किया गंजा, जब नमाज पढ़ने लगती बीवी तो करता था गंदी हरकतें


चश्मदीदों के अनुसार हमलावर पुलिस स्टेशन के बाहर मोबाइल पर बात कर रहा था और उसने अफसर के सुरक्षा द्वार से बाहर आने का इंतजार किया। गौरतलब है कि हाल के समय में फ्रांस में इस्लामिक आतंकवाद की कई घटनाएँ सामने आई हैं। शिक्षक सैमुअल पैटी को इस्लामी कट्टरपंथी अब्दुल्लाख ने सिर्फ इसीलिए मार डाला था, क्योंकि उन्होंने कथित तौर पर अपनी कक्षा में पैगम्बर मुहम्मद के कार्टून्स दिखाए थे।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

कानपुर में एक औऱ लव जिहाद, 10वीं की छात्रा को प्रेमजाल में फंसाकर धर्मांतरण फिर निकाह, तंत्रमंत्र का भी आरोप

BT Bureau

PM मोदी की चीन ने की तारीफ, कोरोना वायरस से लड़ने के लिए की थी मदद की पेशकश

Jitendra Nishad

ससुर की गंदी हरकत का किया विरोध तो शौहर ने तीन तलाक देकर घर से निकाला

BT Bureau