Breaking Tube
Crime

कानपुर: प्रेमजाल में फंसाकर शादीशुदा शहनवाज ने सीता से किया निकाह, जब भेद खुला तो जीजा और दोस्तों संग मिलकर दी दर्दनाक मौत

उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) से लव सेक्स और धोखा का बेहद सनसनीखेज मामला सामने आ रहा है. यहां पहले से शादीशुदा एक युवक ने युवती को प्रेमजाल में फंसाकर उससे निकाह किया औऱ फिर जीजा और अपने दोस्तों संग मिलकर उसकी हत्या कर दी. पुलिस ने आरोपी पति और उसके जीजा को गिरफ्तार कर लिया है, वहीं 4 दोस्त फरार बताए जा रहे हैं. पुलिस फरारा आरोपियों की तलाश में दबिश दे रही है.


जानकारी के मुताबिक बिठूर-गंगा बैराज रोड पर 27 दिसंबर को पुलिस को दुल्हन के जोड़े में एक युवती के शव मिला. उसके हाथों में मेहंदी लगी हुई थी, शव देखकर यह साफ़ पता चलता था कि पहले युवती की हत्या की गई और उसके बाद शव फेंक दिया गया. जाँच के बाद पता चला कि शव आजमगढ़ के जवाहिर की चौथे नंबर की बेटी सीता का है. मृतका के पिता ने पुलिस को बताया कि कानपुर के शहनवाज के साथ उनकी बेटी का प्रेम-प्रसंग चल रहा था. उन्होंने बताया कि अपनी बेटी को समझाया था कि लड़का दूसरे धर्म का है वो उससे शादी न करे. लेकिन, लड़की नहीं मानी और परिवार के ख़िलाफ़ जाकर उसने पहले निक़ाह किया और फिर कोर्ट मैरिज भी की. इसके बाद सीता को लेकर शहनवाज कानपुर चला गया.


सीता का शव मिलने के बाद पुलिस ने शहनवाज की खोजबीन शुरू कर दी. इसके बाद, पुलिस ने उसे बजरिया के शौक़त अली पार्क स्थित घर से गिरफ़्तार कर लिया. सख़्ती से पूछताछ करने पर उसने अपना ज़ुर्म क़बूल कर लिया. शनिवार (4 जनवरी) को पुलिस उसे लेकर सीता के जेवर बरामद करने के लिए घटनास्थल पर पहुँची, वहाँ पहुँचकर शहनवाज ने जेवर बरामदगी के वक़्त झाड़ियों में छिपाए तमंचे से पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी. पुलिस ने भी जवाब में फायरिंग की. शहनवाज के दाहिने पैर में गोली लग गई जिससे वो ज़ख़्मी हो गया और उसे पकड़ लिया गया.


शहनवाज ने पुलिस को बताया कि सीता से उसकी जान-पहचान सोशल साइट पर हुई थी. शहनवाज ने सीता को नहीं बताया था कि वह पहले से शादीशुदा है. इसके बाद वो उससे मिलने आजमगढ़ गया जहाँ वो सीता के परिजनों से भी मिला. 23 जून 2019 को उसने सीता से निक़ाह किया. अक्टूबर के महीने में वो सीता को कानपुर ले आया जहाँ वो एक किराए के कमरे में रहने लगा. सीता ने शहनवाज से कई बार कहा कि वो उसे उसकी ससुराल ले जाए, लेकिन शहनवाज हमेशा आनाकानी करता रहता था. सीता की यह ज़िद जब ज़्यादा ज़ोर पकड़ने लगी, तो वो परेशान हो गया और इस बारे में उसने अपने बहनोई आमिर ख़ान से मदद माँगी. इसके बाद दोनों ने मिलकर उसे मारने की योजना बनाई. इसके तहत 26 दिसंबर को शहनवाज, सीता को लेकर गंगा बैराज पहुँच गया. वहाँ उसने अपने बहनोई आमिर खान और दोस्तों के साथ मिलकर सीता की गला दबाकर हत्या कर दी और शव फेंक दिया.


शहनवाज ने पुलिस को बताया कि वो सीता को गंगा बैराज ससुराल ले जाने के बहाने से ले गया था. ससुराल जाने की बात पर सीता बेहद ख़ुश हुई थी और इसका ज़िक्र उसने अपनी बहन सुशीला से भी किया था. सीता ने अपनी बहन को बताया था कि वो ससुराल जा रही है, इसलिए उसने अपने हाथों और पैरों में मेहंदी लगवाई है. 27 दिसंबर को जब सुशीला ने अपनी बहन का हाल जानना चाहा तो शहनवाज ने उसे यह कह कर टाल दिया कि वो (सीता) व्यस्त है, जुमे के बाद बात कराएगा. इसके बाद से सीता का फोन लगातार ऑफ़ रहा. सीता का शव मिलने की घटना का पता जब उसके घरवालों को लगा तो मानों उनके पैरों तले ज़मीन खिसक गई हो.


पुलिस ने सीता के हत्यारे पति शहनवाज और उसके जीजा आमिर को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं शाहनवाज के दोस्त शारिक उर्फ मोनू व जीशान और आमिर के दोस्त हसीब की तलाश में जुटी है.


Also Read: आगरा: छात्रा को फंसाने के लिए ‘सलमान’ बन गया ‘राहुल’, झांसा देकर कई बार दुष्कर्म, भेद खुलने पर युवती ने किया विरोध तो वायरल कर दीं अश्लील तस्वीरें



( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा को ब्लैकमेल कर रहा था प्रतिनिधि चैनल का संपादक, नोएडा पुलिस ने महिला साथी संग किया गिरफ्तार

BT Bureau

मेरठ: BJP कार्यकर्ता ने नहीं दी रंगदारी तो मोहम्मद साजिद ने साथियों संग पहले पीटा फिर कर दी फायरिंग, तनाव

Jitendra Nishad

गोधरा: ओवरटेक का था विवाद, मुस्लिम युवकों ने ‘जय श्रीराम’ बोलने का लगाया झूठा इल्जाम, जांच में खुलासा

BT Bureau