Breaking Tube
Crime

लड़कियों को ‘ल‍व जिहाद’ में फंसाकर आतंकी बना रहा है आईएस, केरल चर्च का दावा

after Religion Change Muslim Girl made of Hindu Panchayat decision rejected for Love Marriage in Meerut

केरल (Kerala) के एक प्रभावशाली कैथोलिक चर्च ने यह कहकर बहस की शुरुआत कर दी कि “लव जेहाद एक हकीकत है” (Love Jihad) और आरोप लगाया कि दक्षिणी राज्य में ईसाई समुदाय की कई महिलाओं को इस्लामिक स्टेट के जाल में फंसाया जा रहा है और उनका इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों के लिये हो रहा है.


कैथोलिक बिशप की सर्वोच्च संस्था द सायनॉड ऑफ साइरो-मालाबार की कार्डिनल जॉर्ज एलनचेरी की अध्यक्षता में हुई बैठक में राज्य पुलिस पर मामले को गंभीरता से नहीं लेने और ‘लव जिहाद’ के मामलों पर समय से कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया. बयान में चर्च ने कहा, “ऐसे कई मामले प्रकाश में आए जहां केरल में लव जिहाद के नाम पर ईसाई लड़कियां मार दी गईं.” चर्च ने कहा, “लव जिहाद केरल की सामाजिक शांति और सांप्रदायिक सद्भाव के लिए खतरा है, यह चिंता की बात है.” बयान में कहा गया कि केरल में ‘सोची-समझी रणनीति के तहत लव जिहाद के लिए ईसाई लड़कियों को निशाना बनाया जा रहा है.’


यह चिंता मंगलवार रात समाप्त हुए सायनोड (चर्च के बिशपों की बैठक) सम्मेलन में जाहिर की गई, जिसमें पुलिस पर इस मामले से सही से नहीं निपटने का आरोप लगाया गया. बैठक में पाया गया कि अब ईसाई युवतियों को निशाना बनाया जा रहा है और यह सब प्यार के नाम पर शुरू होता है. और जब प्यार हो जाता है तो धर्म परिवर्तन होता है और शादी होती है. यह चिंता का विषय है कि लव जिहाद केरल की सामाजिक शांति और सांप्रदायिक सद्भाव को खतरे में डाल रहा है. यह एक वास्तविकता है कि केरल में सुनियोजित तरीके से ‘लव जिहाद’ के लिए ईसाई लड़कियों को निशाना बनाया जा रहा है.


पादरियों की धर्मसभा ने एक पुलिस रिकॉर्ड का हवाला देते हुए कहा कि जिन 21 लोगों को आईएस में भर्ती किया गया था, उनमें से आधे ईसाई थे जिन्‍होंने अपना धर्म बदला था. यह घटना पूरे समुदाय के लिए एक आंख खोलने वाली होनी चाहिए. यह भी पता चला है कि कई लड़कियों को लव जिहाद के जरिए से आतंकवादी गतिविधियों में इस्तेमाल किया जा रहा था. यह एक गंभीर मामला है, लव जिहाद कोई कोरी कल्पना नहीं है. चर्च ने ‘लव जिहाद’ में शामिल दोषियों के खिलाफ शीघ्र कार्रवाई की मांग की. इसमें माता-पिता और बच्चों को लव जिहाद के खतरों के बारे में जागरूक करने के प्रयासों का भी आह्वान किया गया.


वहीं इस मामले पर वीएचपी के पूर्व प्रदेश अध्‍यक्ष एसजेआर कुमार का कहना है कि केरल में लव जिहाद चल रहा है. उन्‍होंने आरोप लगाया, ‘आपराधिक पृष्‍ठभूमि के युवा हिंदू और ईसाई लड़कियों को प्रेम के जाल में फंसाकर उनका धर्म परिवर्तन करा रहे हैं. इसके बाद उनका ड्रग्‍स की तस्‍करी और आतंकवादी में इस्‍तेमाल किया जाता है. हम पहले भी यह कहते रहे हैं लेकिन किसी ने इस पर ध्‍यान नहीं दिया. अब हम खुश हैं कि चर्च के पादरी भी लव जिहाद के खतरों की बात कर रहे हैं. यह समय है कि हम एकजुट होकर इसका सामना करें.


Also Read: अलीगढ़: दलित महिला का गैंगरेप कर बनाया अश्लील वीडियो, ब्लैकमेल कर बेटी से संबंध बनाने और धर्मपरिवर्तन का दबाव


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

Video: सपा विधायक इकराम क़ुरैशी के घर के सामने दो गुटों में मारपीट, पुलिस का कहीं अता-पता नहीं

S N Tiwari

कानपुर: ट्रक के नीचे आने से बाल-बाल बचा सिपाही, फिर ATM हैकर को दौड़ाकर पकड़ा

S N Tiwari

सुप्रीम कोर्ट का फैसला: 7 दिन में जांच, 45 दिन में फैसला, सभी केस दिल्ली ट्रांसफर, पीड़ितों को CRPF की सुरक्षा के साथ-साथ 25 लाख रुपये

BT Bureau