Breaking Tube
Crime

लव जिहाद: हिंदू युवती को फंसाने के लिए शादीशुदा सोहेल बना गया सनी, फिर ब्लैकमेलिंग कर 4 साल तक करता रहा रेप

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की शिवराज सरकार के लव जिहाद (Love Jihad) कानून का असर देखने को मिल रहा है. अभी तब जो पीड़िताएं न्याय न मिलने और बदनामी के भय से बाहर आने से कतरातीं थी, अब वो खुल कर अपनी बात कहने लगीं हैं. ताजा मामला भोपाल से आ रहा है. यहां एक संप्रदाय विशेष के युवक ने युवती को अपनी पहचान छिपाकर फंसाया, औऱ फिर अश्लील वीडियो से 4 साल तक ब्लैकमेलिंग कर उसके साथ रेप किया. आरोप है ये भी है कि युवक की सच्चाई सामने आई तो उसने युवती पर धर्मांतरण के लिए दबाव बनाया. पीड़िता की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.


जानकारी के मुताबिक यह पूरा मामला बड़वानी कोतवाली में शिकायत करने पहुंची युवती ने बताया कि करीब चार साल पहले 2016 के अगस्त महीने में सोहेल उर्फ सनी गांव में शिव डोला में डीजे लेकर आया था. यहीं से उन दोनों की बातचीत शुरू हुई थी. इस दौरान उसने अपना नाम सनी बताया था. इसके बाद, शादी का झांसा देकर आरोपी ने लड़की के साथ कई बार दुष्कर्म किया.


बाद में पता चला कि युवक का नाम सनी नहीं बल्कि सोहेल मंसूरी है औऱ वह पहले से शादीशुदा है उसने युवक से दूरी बनानी शुरू कर दी और इस बात से सोहेल नाराज रहने लगा था. जब लड़की ने बातचीत बंद कर दी, तो आरोपी सोशल मीडिया पर उसके फोटो वायरल करने की धमकी देकर दुष्कर्म करता रहा.


लड़की ने आगे कहा कि वह बड़वानी में एक दुकान पर काम करती है. आरोपी सोहेल उर्फ सनी ने रविवार दोपहर को उससे फोन पर बात करने की कोशिश की, लेकिन लड़की ने बात करने से मना कर दिया. इसके बाद दोपहर 3 बजे आरोपी ने दुकान पर जाकर मारपीट कर जान से मारने की धमकी दी.


वहीं इस मामले पर कोतवाली प्रभारी राजेश यादव ने इस संबंध में बताया कि बड़वानी की 22 साल की युवती ने युवक के खिलाफ नाम बदलकर, पहचान छिपाकर यौन शोषण करने और शादी करने का दबाव बनाने की शिकायत दी थी. युवती ने अपने आरोप के समर्थन में जो साक्ष्य दिखाए, उनके आधार पर आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 306, 294, 323, 506 और और धार्मिक स्वातंत्र्य अध्यादेश 2020 के तहत जीरो एफआईआर दर्ज कर ली गई है.


कोतवाली प्रभारी ने कहा कि यह मामला पलसूद का है. जीरो एफआईआर दर्ज कर यह केस पलसूद थाने को ट्रांसफर कर दिया गया है. उन्होंने बताया कि पलसूद थाने की पुलिस मामले की जांच कर रही है. कोतवाली प्रभारी ने बताया कि युवक दूसरे समुदाय का था. उसने युवती से खुद को भी उसी के समुदाय का बताया था. उन्होंने कहा कि आरोपी युवक, युवती को अपने समुदाय में शामिल कराना चाहता था.


Also Read: मेरठ: नौकरी के नाम पर हिंदू लड़कियों को फंसाकर रेप, फिर पोर्न वीडियो से ब्लैकमेलिंग के जरिए कराता था धर्मांतरण, मो. आफताब गिरफ्तार


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

Covid-19: अस्पताल से डिस्चार्ज हुईं कनिका कपूर, 14 दिन के बाद UP Police करेगी पूछताछ

Shruti Gaur

आगरा: शिवलिंग स्थापना को लेकर आपस में भिड़े दो समुदाय के लोग, सांप्रदायिक तनाव का माहौल

S N Tiwari

जानिये कौन है महंत स्‍वामी आनंद गिरि, जिनके ऊपर ऑस्‍ट्रेलिया में महिलाओं से मारपीट का है आरोप

S N Tiwari