Breaking Tube
Crime Politics UP News

गोमती रिवरफ्रंट घोटाला: सिंचाई विभाग के पूर्व चीफ इंजीनियर रूप सिंह यादव को CBI ने किया गिरफ्तार

Lucknow Gomti River Front scam

समाजवादी पार्टी की सरकार में हुए लखनऊ (Lucknow) के गोमती रिवरफ्रंट घोटाला (Gomti River Front scam) मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने सिंचाई विभाग के पूर्व चीफ इंजीनियर रूप सिंह यादव को शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि इस घोटाले में जल्द ही कई और आरोपियों की गिरफ्तारियां हो सकती हैं।


अखिलेश यादव की सरकार के कार्यकाल में लखनऊ में गोमती नदी के तट पर बने रिवर फ्रंट को समाजवादी पार्टी का ड्रीम प्रोजेक्ट बताया गया था। कुछ सौ करोड़ का यह प्रोजेक्ट कई हजार करोड़ रुपए खर्च होने के बावजूद भी पूरा नहीं हो सका। प्रदेश में जब योगी सरकार बनी तो इसकी प्रारंभिक जांच के बाद केस सीबीआई को सौंप दिया गया। सीबीआई ने भी बीते साल नंवबर तक जांच पूरी कर ली थी।


Also Read: 9700 करोड़ निवेश से 1.96 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार, निवेश के लिहाज से UP बना ‘मोस्ट प्रिफर डेस्टिनेशन वाला’ राज्य


सीबीआई ने अब इस घोटाले के बड़े जिम्मेदारों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। इसी क्रम में शुक्रवार को सिंचाई विभाग के पूर्व चीफ इंजीनियर रूप सिंह यादव को गिरफ्तार किया गया है। इस घोटाले में अखिलेश के करीबी रहे 2 आईएएस अफसर भी घेरे में हैं।


बता दें कि इस घोटाले की जांच के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस आलोक सिंह की अध्यक्षता में कमेटी बनाई थी। इस कमेटी ने घोटाल की रिपोर्ट सरकार को सौंपी थी, जिसके बाद चीफ इंजीनियर रहे रूप सिंह यादव समेत सिंचाई विभाग के कई इंजीनियर, ठेकेदारों के खिलाफ लखनऊ पुलिस ने एफआईआर दर्ज की।


Also Read: महोबा: भ्रष्टाचार के आरोपी निलंबित IPS ने कोर्ट में दी जमानत की अर्जी, जल्द होगी सुनवाई


यूपी सरकार ने मामला सीबीआई को भेजा, जिसके बाद 24 नवंबर 2017 को सीबीआई ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। इस करोड़ों के इस घोटाले में रूप सिंह यादव के खिलाफ ईडी ने भी मनी लॉन्ड्रिंग की एफआईआर दर्ज की थी। बीते वर्ष रूप सिंह यादव की संपत्ति भी ईडी ने अटैच की थी।


इस घोटाले में पुलिस के साथ ईडी व सीबीआइ ने केस दर्ज किया था। इनमें तत्कालीन चीफ इंजीनियर गोलेश चन्द्र गर्ग, एसएन शर्मा, काजिम अली, शिवमंगल सिंह, कमलेश्वर सिंह, रूप सिंह यादव व सुरेन्द्र यादव हैं। यह सभी सिंचाई विभाग के इंजीनियर हैं, जिनके खिलाफ जांच चल रही है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

यूपी: दरगाह में BJP सांसद ने टोपी पहनने से किया इंकार, अपनी चादर लपेटकर ही किए दर्शन

S N Tiwari

केजरीवाल ने फिर की विवादित अपील, बोले- पैसे सबसे ले लेना, लेकिन वोट हमें ही देना

S N Tiwari

अखिलेश सरकार में को-ऑपरेटिव बैंक भर्ती में घोटाले का बड़ा खेल उजागर, 2 तत्कालीन MD समेत 6 के खिलाफ FIR

Jitendra Nishad