Breaking Tube
Crime UP News

जिसे व्हील चेयर पर लेकर घूम रही थी पंजाब पुलिस, वो मुख्तार अंसारी बांदा जेल में खुद के पैरों पर चलता नजर आया, जांच में पूरी तरह फिट

यूपी के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को यूपी पुलिस ने बांदा जेल में पहुंचा दिया है। बुधवार तड़के यूपी पुलिस का काफिला मुख्तार को बांदा लेकर पहुंचा। जहां पहुंचने के बाद उसका मेडिकल कराया गया इसके साथ ही कोरोना टेस्ट भी हुआ। सूत्रों से मिली खबरों से ये बात सामने आई कि पूरी रात मुख्तार सोया नहीं। बांदा जेल में उसे किसी भी तरह की वीआईपी सुविधा उपलब्ध नहीं कराई गई है। बड़ी बात ये है कि जिस मुख्तार को पंजाब पुलिस व्हीलचेयर पर लेकर घूम रही थी, यूपी आते ही वो खुद पैदल अपने बैरक तक गया।


बैचेनी में कटी पहली रात

जानकारी के मुताबिक, माफिया विधायक मुख्तार अंसारी पंजाब की रूपनगर जेल से भले ही व्हीलचेयर पर एंबुलेंस तक आया था, लेकिन बांदा जेल में वह पैदल ही बैरक तक गया। इससे पहले कानपुर देहात के सट्टी थाने में भी पैदल चलकर शौचालय पहुंचा। उसे बांदा मंडल कारागार में फिलहाल 16 नंबर मुलाहिजा बैरक में रखा गया है। जेल मुख्यालय के निर्देश पर माफिया छह दिनों तक इसी में रहेगा। यही बैरक उसका स्थायी ठिकाना बन सकती है। उसे 15 नंबर बैरक में भी शिफ्ट किया जा सकता है, क्योंकि वह विशेष तौर पर पहले से ही तैयार है।


जेल सूत्रों की मानें तो डॉन आधी रात तक सो नहीं पाया। पूरी रात वह करवटें बदलता रहा। मुख़्तार अंसारी को बांदा जेल में कोई वीआईपी सुविधा नहीं मिली। आम कैदियों की तरह ही उसका बिस्तर जमीन पर लगा, जहां उसे नींद नहीं आई। इतना ही खाने में भी उसने सिर्फ एक रोटी और थोड़ी सी दाल खायी। जब जेल पहुंचाकर उसका मेडिकल टेस्ट हुआ उस वक्त मुख्तार की सभी रिपोर्ट नॉर्मल थी, उसे किसी तरह की कोई दिक्कत नही है।


लखनऊ से हो रही निगरानी

बता दें कि वैसे तो मुख़्तार बांदा जेल में बंद है, लेकिन उसकी निगरानी  लखनऊ में हो रही है। अत्याधुनिक कैमरों की सहायता से मुख़्तार अंसारी की सुरक्षा की जा रही है। इसके लिए लखनऊ में कमांड कण्ट्रोल सेंटर बना है। इतना ही नहीं उसके स्वास्थ्य को लेकर भी पूरी व्यवस्था की गई है। जेल के डॉक्टर के अलावा मेडिकल कॉलेज के चार डॉक्टर ऑन कॉल 24 घंटे उपलब्ध हैं। कारागार की बाहरी सुरक्षा के लिए डेढ़ सेक्शन पीएसी के अतिरिक्त एक प्लाटून पीएसी तैनात है। इस बीच बांदा जेल में दो नए डिप्टी जेलर तैनात किए गए हैं। हेड जेल वार्डर और जेल वार्डर भी पर्याप्त संख्या में उपलब्ध करा दिए गए।


Also read: वाराणसी पुलिस कमिश्नर की सराहनीय पहल, अपने काफिले के हूटर बजाने पर लगाई रोक, कहा – पुलिसकर्मी मेरे लिए ट्रैफिक ना रोकें


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

UP: विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले सपा विधायकों का जोरदार प्रदर्शन, आजम खां को रिहा करने की मांग

Jitendra Nishad

यूपी: सैफई में रैगिंग की शर्मनाक घटना, सीनियर्स ने 150 MBBS छात्रों के मुंडवाए सिर, Video वायरल

BT Bureau

शामली: सपा विधायक नाहिद हसन को भारी पड़ी गुंडई, एसपी ने दर्ज कराई FIR

S N Tiwari