Breaking Tube
Crime International

लव जिहाद: भारत की बेटी को अगवा करके निकाह, NIA ने जाकिर नाइक सहित दो पाकिस्तानियों पर दर्ज किया केस

A sensational case of Love Jihad comes from Ayodhya

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने एक हाई-प्रोफाइल ‘लव जिहाद’ (Love Jihad) मामले से संबंधित FIR में कट्टरवादी इस्लामिक उपदेशक और भगोड़ा जाकिर नाइक (Zakir Naik) और पाकिस्तान मूल के दो कट्टर प्रचारकों को आरोपी बनाया है. हाई-प्रोफाइल मामले में चेन्नई के एक व्यापारी की बेटी और बांग्लादेश के एक शीर्ष राजनेता का बेटा शामिल है. जिसका संबंध पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया की बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (BNP) से है.


एनआईए फ़िलहाल भारतीय कारोबारी की बेटी और बांग्लादेश के राजनेता के बेटे की लंदन में हुई शादी के मामले की जांच कर रही है. जानकारी के अनुसार भारतीय प्रवर्तन एजेंसियों ने वांछित जाकिर नाइक और अमेरिका में पाकिस्तानी मूल के कट्टर प्रचारकों को इस मामले में आरोपी के रूप में नामित किया गया है.


लड़की को जबरन बनाया गया मुसलमान

जी न्यूज की खबर के मुताबिक लड़की के पिता ने बीते मई महीने में चेन्नई सेंट्रल क्राइम ब्रांच के पास शिकायत दर्ज करवाई थी. पिता का आरोप था कि उनकी बेटी, जो लंदन में पढ़ रही थी, वो कट्टरपंथी के संपर्क में आ गई और उसे मुसलमान बनने के लिए मजबूर किया गया. पिता ने ये भी आरोप लगाया था कि उनकी बेटी को लंदन से अगवा करके कुछ बांग्लादेशियों द्वारा बांग्लादेश ले जाया गया था.


चेन्नई के पुलिस कमिश्नर महेश कुमार अग्रवाल ने बताया, ‘ये मामला विदेश में जांच से संबंधित था, इसीलिए इसे एनआईए को सौंप दिया गया है.’ उन्होंने आगे कहा कि मामले में अधिक जानकारी देना फिलहाल संभव नहीं है.


साजिश में शामिल हैं पाकिस्तानी 

एनआईए की एफआईआर में जिन लोगों के नाम हैं, वो जाकिर नाइक के साथ-साथ यासिर कादी और नौमान अली खान हैं, ये दोनों अमेरिका के इस्लामिक प्रचारक हैं. यासिर कादी ने जाकिर नाइक का एक वीडियो डाला था, जिसमें ये सनसनीखेज दावा किया गया था.


वहीं इस मामले में मुख्य आरोपी नफीस, बीएनपी नेता और पूर्व सांसद शखावत हुसैन बकुल का बेटा है. शखावत हुसैन बकुल 1991 और 2001 में बीएनपी उम्मीदवार के रूप में नरसिंगडी-4 से संसद के लिए चुना गया था. शखावत हुसैन बकुल को दिसंबर 2013 में खालिदा जिया के आवास से गिरफ्तार किया गया था और जून 2017 में उस पर व्यवसायी से जबरन वसूली का मुकदमा चलाया गया था.


मई में दर्ज हुई थी FIR

एनआईए द्वारा लगाए जा रहे आरोपों के अनुसार, केंद्र सरकार ने तमिलनाडु सरकार से 28 मई, 2020 को आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करने के संबंध में जानकारी प्राप्त की थी. ये नफीस के खिलाफ दर्ज शिकायत से संबंधित मामला था, जो एक बांग्लादेशी नागरिक है और कथित तौर पर एक भारतीय नागरिक की किडनैपिंग और तस्करी में शामिल रहा है.


Also Read: कानपुर लव जिहाद: आतंकी संगठन से फंडिंग की ओर इशारा, लड़कियों को स्लीपिल माड्यूल बनाने का शक


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

जब खुलेआम पार्क में ही होने लगी लेस्बियन पोर्न मूवी की शूटिंग, सुनकर रह जायेंगे दंग

Satya Prakash

WhatsApp पर स्टेटस लगाकर अपने ही दोस्तों को गोली मारता था ये सरफिरा आशिक

Aviral Srivastava

ISIS के ‘फार्मासिस्ट’ आतंकवादी अबु किताल ने कबूला, सिर्फ मुंब्रेश्‍वर मंदिर के महाप्रसाद ही नहीं, मुंबई की झीलों में भी जहर मिलाकर नरसंहार की थी साजिश

BT Bureau