Breaking Tube : #1 News Portal of Uttar Pradesh
Crime

मुजफ्फरनगर: लॉकडाउन के बावजूद मस्जिद में सामूहिक नमाज, 2 दर्जन से अधिक लोगों पर FIR

कोरोना वायरस की वजह से पूरा देश लॉकडाउन है, जिस कारण सभी धार्मिक कार्यक्रमों पर भी रोक लगी हुई है। बावजूद इसके मुजफ्फरनगर जिले में ईद के दिन सामूहिक नमाज पढ़ी गई। पुलिस को जब मामले की जानकारी हुई तो कार्रवाई करते हुए दो दर्जन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।


ये था मामला

कोरोना वायरस के चलते सभी ने अपने घरों में ईद की नमाज पढ़ी, लेकिन सख्ती के बाद भी मुजफ्फरनगर जिले में तकरीबन दो दर्जन लोग सामूहिक नमाज पढ़ते पाए गए। दरअसल, जिले की खतौली कोतवाली क्षेत्र के कजियाना मौहल्ले की मस्जिद में कुछ लोगों के इकट्ठा होकर नमाज पढ़ने की सूचना पर आलाधिकारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे।


Also read: तपती धूप और लू के बीच पैदल जा रहे मजदूरों का मेरठ पुलिस बनी सहारा, भरपेट भोजन कराकर 35 श्रमिकों को बस से MP के लिए किया रवाना


पुलिस ने जब तलाशी लेना शुरू किया तो मस्जिद में करीब दो दर्जन लोग मौजूद मिले। इसके बाद अधिकारियों ने सभी लोगों की वीडियोग्राफी कराकर 8 नामदर्ज और 20 से 25 अज्ञात लोगों पर लॉकडाउन उल्लंघन और आपदा प्रबंध की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।


सामूहिक नमाज ना करने का हुआ था ऐलान

बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण काे देखते हुए पूरे देश में लॉकडाउन है और उत्तर प्रदेश की किसी भी मस्जिद या ईदगाह में सामूहिक रूप से नमाज पढ़ने की अऩुमति नहीं दी गई थी। इसके लिए पुलिस ने कड़े इंतजाम किए थे और विश्व विख्यात दारुल उलूम देवबंद की ओर से भी घरों में रहकर नमाज पढ़े जाने की अपील की गई थी, बावजूद इसके जिले में सामूहिक नमाज पढ़ी गई।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

पुलिस से बचने के लिए मुस्लिम युवक बने कावाड़िए, गिरफ्तार

Aviral Srivastava

एटा: आये थे पशु चुराने, असफल हुए तो सो रही 10 साल की मासूम को अगवाकर किया गैंगरेप, आरिफ समेत 3 गिरफ्तार

BT Bureau

लखनऊ माज हत्याकांड: बर्खास्त इंस्पेक्टर संजय राय सहित 5 को उम्रकैद की सजा, 7 साल बाद आया फैसला

Jitendra Nishad