Breaking Tube
Crime

प्रयागराज रचना शुक्ला केस: 4 साल बाद खुला मर्डर का राज, दोस्त सलमान ही निकला हत्यारा

उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने करीब चार साल पहले प्रयागराज (Prayagraj) के दारागंज क्षेत्र के चर्चित रचना शुक्ला मामले (Rachna Shukla Murder Case) का खुलासा करते हुए दो आरेपियों को गिरफ्तार कर लिया है. 19 साल की रचना शुक्ला की हत्या के बाद लाश नवाबगंज के आगे पेट्रोल डालकर जला दी गई थी. पुलिस ने हत्यारों के कब्जे से घटना में प्रयुक्त फार्चूनर वाहन ,एक मोटरसाइकिल ,एक कार ,तीन मोबाइल फोन और 2,450 रूपये की नकदी बरामद की. एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजीव नारायण मिश्र ने आज यहां यह जानकारी दी.


जानकारी के मुताबिक साल 2016 में वेणीमाधव मंदिर गली निवासी 19 वर्षीय रचना शुक्ला संदिग्ध हाल में गायब हो गई थी. जिसके बाद उसकी मां उमा शुक्ला ने पुलिस को सूचना दी थी. मां के मुताबिक पुलिस ने बड़ी मुश्किल से गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज की परंतु कोई कार्रवाई नहीं की. इस बीच मां पुलिस का चक्कर काटती रही. पर कोई मदद नहीं मिली. उमा शुक्ला ने इस बात का संदेह भी जताया कि सलमान ने कुछ दिनों पूर्व रचना शुक्ला के साथ छेड़खानी की थी जिसकी शिकायत पुलिस में दर्ज कराई गई थी. उन्हें शक था कि उनकी बेटी की हत्या हो सकती है.


योगी सरकार ने दी जांच को मंजूरी

इस मामले को लेकर रचना की मां ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. कोर्ट के हस्तक्षेप पर अपहरण का मुकदमा तो दर्ज हो गया पर कार्रवाई फिर भी नहीं हुई. 2017 मार्च में ये प्रकरण संज्ञान में आते ही नए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले की जांच एसटीएफ को सौंप दी. गहन छानबीन. सुरागों और साइंटफिक प्रमाणों के आधार पर एसटीएफ ने सलमान को गिरफ्तार कर कड़ाई से पूछताछ की तो उसने सारी घटना स्वीकार कर ली. एसटीएफ ने इस मामले का अब खुलासा करते हुए बताया कि प्रतापगढ़ के हथिगवां में कौशांबी से बनारस जाने वाले हाईवे के किनारे 17 अप्रैल 2016 की सुबह अज्ञात युवती का अधजला शव मिला था, जिसकी शिनाख्त नहीं की जा सकी थी. दरअसल यही लाश रचना शुक्ला की थी.


सलमान ने रचना को प्रेम जाल में फंसाया

एसटीएफ से पूछताछ में सलमान का कहना है कि 2015 में उसने रचना शुक्ला को अपने प्रेम जाल में फंसाया था. रचना से उसकी दोस्ती को सालभर हो गया था. सलमान रचना से प्यार करता था. किसी बात को लेकर दोनों में बहस हो गई थी, जिसके बाद रचना ने दोस्तों के सामने उसे डांट लगाई थी, जिससे उसे अपनी बेइज्जती महसूस हूई है और उसने रचना की हत्या करने ठान ली. एक दिन सलमान ने किसी तरह रचना को मिलने के लिए बुलाया.


ऐसे दिया हत्या को अंजाम

सलमान के बुलाए पर 16 अप्रैल 2016 को रचना उससे मिलने आई. उसकी स्कूटी प्रयाग स्टेशन के स्टैैंड में खड़ी कर सलमान उसे अपनी बाइक पर बैठाकर बख्शी खुर्द स्थित घर के बेसमेंट में ले गया. वहां कमरे में सलमान के ममेरे भाई हंजफ और दोस्त लकी को देख वह भागने लगी तो उसे पकड़कर हाथ-पैर रस्सी से बांध दिए. फिर चाकू से गर्दन रेतकर हत्या कर दी. लाश ठिकाने लगाने के लिए सलमान ने अपने मामा शरीफ को फोन किया. शरीफ फॉरच्यूनर लेकर आया. कमरे में खून साफ कर दिया गया. बदबू छिपाने के लिए अखबार जला दिए गए.


सलमान ने पेट्रोल डालकर जला दिया

पूछताछ में सलमान ने बताया कि जूट की बोरी में रचना की लाश भरकर फॉरच्यूनर में लादकर वह और उसके मामा शरीफ समेत चारों लोग पहले नैनी की तरफ गए, इरादा था कि शव को यमुना में फेंक दिया जाएगा लेकिन पांच घंटे तक भटकने के बाद भी उन्हें मौका नहीं मिला. इसके बाद वे नवाबगंज की तरफ चल दिए, वहां भी गंगा में फेंकने का मौका नहीं मिला तो प्रयागराज की सीमा के पास सड़क किनारे लाश फेंक दी. लौटकर सलमान फिर बाइक से बोतल में पेट्रोल डालकर गया और शव को जला दिया ताकि शिनाख्त नहीं हो सके. बाद में रचना की स्कूटी सोरांव के एक व्यक्ति के गैराज में खड़ी कर दी थी. कत्ल का पर्दाफाश होने के साथ ही मां उमा की आस टूट गई. बेटी की याद में वह दिन भर रोती बिलखती रही.


Also Read: नैना मंगलानी मर्डर केस: पति अयाज ही निकला कातिल, FB पर बढ़ रहे थे पत्नी के फॉलोवर, चरित्र पर शक के चलते मार डाला


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

संभल: प्रसपा के नेता ने युवकों से बंटवाई शराब, पुलिस ने पकड़ा तो कही ये बात

S N Tiwari

प्रशांत कनौजिया पर शिकंजा कसने की तैयारी, अभद्र टिप्पणी मामले में चार्जशीट तैयार

BT Bureau

यूपी: सऊदी से शौहर ने फोन पर दिया तलाक, बच्चों को लेकर भटक रहीं हैं जीनी बेगम

S N Tiwari