Breaking Tube
Crime

देवरिया मॉब लिंचिंग: जयप्रकाश की हत्या पर आक्रोश में ग्रामीण, हत्या में शामिल इश्तियाक समेत 3 दर्जन लोगों के लिए फांसी की मांग

उत्तर प्रदेश के देवरिया (Deoria) में मामूली विवाद को लेकर जयप्रकाश कुशवाहा (Jaiprakash Kushwaha) की पीट-पीटकर हत्या मामले में ग्रामीणों का आक्रोश देखने को मिल रहा है. रविवार को गांव वालों ने शव जमीन पर रखकर प्रदर्शन किया. इस दौरान कातिलों को फांसी दो के जमकर नारे लगाए गए. लोगों ने हत्यारों को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की है. वहीं पुलिस ने इस मामले में 21 नामजद और 12 अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज करते हुए एक दर्जन लोगों को हिरासत में ले लिया है. गांव में तनाव को देखते हुए आधा दर्जन थानों की पुलिस के साथ ही पीएसी भी मुस्तैद है.


पोस्टमार्टम के बाद रविवार की सुबह करीब 11 बजे जयप्रकाश का शव पहुंचा तो परिजनों के साथ ही आक्रोशित ग्रामीण शव दरवाजे पर रख कर मुख्यमंत्री को बुलाने की मांग करने लगे. सूचना पर एडीएम प्रशासन राकेश पटेल, एएसपी शिष्यपाल, एसडीएम ओमप्रकाश व सीओ वरुण मिश्र ने पहुंच कर उन्हें समझाने का प्रयास किया लेकिन वे किसी की कुछ नहीं सुन रहे थे। करीब घंटे भर बाद सांसद रविंद्र कुशवाहा मौके पर पहुंचे. उन्होंने आक्रोशित लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया. इसके बाद परिजन शव का अंतिम संस्कार करने के लिए तैयार हुए.


जानकारी के मुताबिक यह पूरा मामला सलेमपुर कोतवाली क्षेत्र के इटहुआ चंदौली गांव के झम्मन टोला का बताया जा रहा है. जहां रहने वाले जयप्रकाश कुशवाहा (55) शनिवार शाम अपने पशुओं को चारा खिला रहे थे. तभी वहां कुछ  इश्तियाक अंसारी घर के युवक आकर जयप्रकाश की जमीन पर लगे जामुन के पेड़ पर पत्थर चलाने लगे. जामुन तोड़ने के लिए चलाए जा रहे पत्थर जयप्रकाश की गाय को लग रहे थे. युवकों को पत्थर चलाने को मना किया जिसपर युवक भड़क गए और उन्हें गालियां देने लगे.  


युवकों ने घर जाकर यह बात  इश्तियाक अंसारी और बिरादरी वाले लोगों को बताई जिसके बाद भारी संख्या में मुस्लिम समुदाय की भीड़ हाथों में धारदार हथियार, लाठी डंडे लेकर ने जयप्रकाश कुशवाहा पर हमला कर दिया. पास ही खेत में धान की रोपाई करा रहे जयप्रकाश के बेटे मनीष(22), भाई ओमप्रकाश(48) दौड़ कर बचाने आए तो हमलावरों ने उन्हें भी मारपीट कर घायल कर दिया. यहां तक की घर की महिलाओं पर भी झुंड में टूट पड़े जो जहां मिला उसे जमकर पीटा. इस हमले में जयप्रकाश के अलावा मनीष, कन्हैया, ओमप्रकाश और सुशीला देवी भी घायल हो गए. हिंसा का तांडव मचाने के बाद आरोपी फरार हो गए. परिजनों ने घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने जयप्रकाश कुशवाहा को मृत घोषित कर दिया. वहीं मनीष और ओमप्रकाश का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है.


सूचना पाते ही एसपी डॉ.श्रीपति मिश्र जिला अस्पताल पहुंचे. चिकित्सक से घायलों के बारे में जानकारी ली. इसके बाद एसपी इटहुआ चन्दौली गांव पहुंचे. किसान की हत्या से गांव में तनाव फैल गया था. इसे देखते हुए एसपी ने आधा दर्जन थानों की फोर्स और दो  प्लाटून पीएसी को तैनात कर दिया. 


21 नामजद व 12 अज्ञात के खिलाप हत्या का केस दर्ज

पुलिस ने जयप्रकाश कुशवाहा के बेटे सुभाष कुशवाहा की तहरीर पर  21 नामजद व 12 अज्ञात के खिलाफ हत्या व अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है. करीब एक दर्जन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. पुलिस ने इश्तियाक अंसारी, उसकी पत्नी अमीना खातून, बेटा आमिर, आसिक व अरशद के अलावा शफीक, मुख्तार, किताबुद्दीन, क्यामुद्दीन, वकील, मुश्ताक, साबिर, दिलशाद, राजू, इरशाद, शहाबुद्दीन, परवेज, फैयाज, इस्लाम, शाहिना खातून समेत 12 अज्ञात के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 302, 308, 323, 452, 504 व 506 आईपीसी के तहत केस दर्ज हुआ है.


Also Read: शादी से किया इंकार तो टिक टॉक स्टार ने नैना कौर को चाकुओं से गोदकर मार डाला, आरोपी शेर खान गिरफ्तार


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

हरदोई: दलित युवक को ऊंची जाति की लड़की से प्यार करना पड़ा महंगा, परिजनों ने चारपाई से बांधकर जिंदा जलाया, सदमे में मां की मौत

BT Bureau

बागपत: दो समुदायों में जमकर चले धारदार हथियार, लाठी-डंडे, कई राउंड फायरिंग, खूनी संघर्ष में दो सिपाही समेत करीब 11 लोग घायल

Jitendra Nishad

योगीराज में ‘ऑपरेशन मुख्तार’ जारी, अब पत्नी और भाइयों पर कसा शिकंजा

BT Bureau