Breaking Tube
Crime UP News

कानपुर शूटआउट कांड की जांच पूरी, 5700 पन्नों की बनी है रिपोर्ट, कई पुलिसकर्मियों की भूमिका तय

Kanpur encounter vikas dubey

कानपुर के बिकरू गांव में हुई आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में अब SIT की जांच भी पूरी हो गई है। इस मामले ने टीम अपनी रिपोर्ट महीने के अंत तक जमा करेगी।विकास दुबे और उसके साथियों के वर्चस्व में स्थानीय पुलिस व प्राशसन के लोगों की भूमिका तय की गई है। एसआईटी को अपराधियों से मिले शस्त्र लाइसेंसों व चल अचल संपत्तियों पर भी रिपोर्ट देनी है। इस रिपोर्ट के बाद कई लोगों पर कार्रवाई तय है।


5700 पन्नों की फाइल तैयार

जानकारी के मुताबिक, कानपुर के बिकरू कांड और एनकाउंटर्स के बाद शासन ने इसकी घटना की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया था। इसका नेतृत्व एडिशनल चीफ सेक्रेटरी संजय भूसरेड्डी कर रहे हैं। इसमें एडीजी हरीराम शर्मा और डीआईजी जे रविन्द्र गौड़ भी हैं। सूत्रों के मुताबिक टीम ने अपनी रिपोर्ट 5700 पन्नों में तैयार की है, जिसे वह 20 सितम्बर को शासन को सौंपने की तैयारी में है। इसके बाद आगे की रूपरेखा तय की जाएगी। 


बता दें कि SIT ने कुख्यात विकास दुबे और उसके सहयोगियों का साथ देने वाले पुलिसकर्मियों की भी जांच की है। बिकरू से जुड़ी सभी घटनाओं और दस्तावेजी कार्रवाई को एसआईटी ने अपनी जांच में शामिल किया है। इस प्रकरण में 50 से अधिक लोगों के बयान दर्ज किए। इनमें कई पुलिसकर्मी शामिल हैं। एसआईटी ने विकास दुबे व उसके करीबियों के मोबाइल फोन के सीडीआर की भी जांच की है।


ये था मामला

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के कानपुर में थाना क्षेत्र के अंतर्गत 2 व 3 जुलाई की मध्य रात्रि अपराधी विकास दुबे और पुलिस के बीच मुठभेड़ हो गई थी। जइसमें अपराधी विकास दुबे के साथियों से मुठभेड़ में सीओ देवेंद्र मिश्रा के साथ अन्य कई पुलिसकर्मियों शहीद हो गए थे और कई गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इस शूटआउट का मुख्य आरोपी भी मारा जा चुका है साथ ही उसके कई साथी भी एनकाउंटर में मारे जा चुके है। वहीं कई बदमाश गिरफ्तार है।


Also Read: अलीगढ़: SO ने नहीं की थी थाने में BJP विधायक से मारपीट, शासन ने दी क्लीनचिट, सस्पेंशन भी वापस


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

CM योगी के प्रयासों का दिखने लगा असर, UP में साढ़े 3 सालों में हुआ 1 लाख 88 हजार करोड़ का औद्योगिक निवेश

Jitendra Nishad

कासंगज: भीड़ को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करा रहे डॉक्टर से हाथापाई, दी जान से मारने की धमकी, 50 के खिलाफ FIR

Jitendra Nishad

इस्लामिक बैंक फ्रॉड: 2000 करोड़ के घोटाले का आरोपी मंसूर खान गिरफ्तार, पूछताछ जारी

BT Bureau