Breaking Tube
Crime

योगी का एंटी रोमियो अभियान, एक ट्वीट पर पुलिस ने चलती बस रूकवाकर शोहदों को दबोचा, छात्रा बोली- शुक्रिया UP Police

सीएम योगी के एंटी रोमियो अभियान की तेजी एक बार फिर सोमवार को तब देखने को मिली, जब सरकारी बस से लखनऊ से बस्ती जा रही छात्रा को परेशान कर रहे दो शोहदों को अयोध्या पुलिस (Ayodhya Police) ने बीच राह बस रुकवा कर धर दबोचा. छात्रा अकेले सफर कर रही थी. लखनऊ से बस के आगे बढते ही बस में सवार दो युवक उसे परेशान करने लगे. छात्रा ने ट्विटर पर सहायता मांगी जिसपर बिना कोई देरी किए पुलिस ने शोहदों को गिरफ्तार कर लिया. यूपी पुलिस (UP Police) की त्वरित कार्रवाई पर छात्रा ने धन्यवाद भी दिया.


दरअसल, सोमवार को @caustic_kanya ट्विटर हैंडल ने यूपी पुलिस को टैग करते हुए लिखा, “डियर यूपी पुलिस मैं यूीपीएसआर से यात्रा कर रही हूं. कुछ लड़के मेरे सामने बैठे हैं मुझे परेशान कर रहे हैं और मेरा नंबर मांग रहे हैं. कृपया मेरी मदद करें, मैं इस समय बेहद डरी हुई हूं. छात्रा ने जानकारी के लिए ट्वीट में अपना टिकट नंबर भी अटैच कर दिया. इसके अलावा छात्रा ने चुपचाप एक वीडियो बनाया और पहले ट्वीट के रिप्लाई में ट्वीट करते हुए शोहदों की जानकारी दी”.



छात्रा के ट्वीट पर सीएम कार्यालय ने फौरन संज्ञान लिया. ट्वीट को कोट करते हुए सीएम योगी के मीडिया सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने छात्रा की मदद के लिए यूपी पुलिस को कहा. मामला संज्ञान में आते ही यूपी पुलिस ने बाराबंकी, बस्ती और अयोध्या पुलिस को निर्देषित किया.



घटना की जानकारी मिलते ही एमडी परिवहन राजशेखर, डीएम अयोध्या अनुज झा और एसएसपी अयोध्या आशीष तिवारी छात्रा की मदद में जुट गए. रूदौली एसएचओ और महिला थाना प्रभारी प्रियंका पांडेय ने बीच राह बस रूकवा कर दो शोहदों को धर दबोचा. महिला थाना प्रभारी ने फूल देकर छात्रा का हौसला बढाया और तत्काल शिकायत दर्ज कराने के लिए उनकी सराहना की.



दूसरी तरफ छात्रा ने भी त्वरित कार्रवाई के लिए यूपी पुलिस को धन्यवाद दिया. उसने लिखा, “मुझे यूपी पुलिस से सहायता मिल गई है. वो उन दोनो लड़कों को वैन में ले गई है. मैं ठीक और सुरक्षित हूं. मैं हमेशा आपकी आभारी रहूंगी”.



इतना ही नहीं छात्रा ने एक नोट लिखकर यूपी पुलिस की त्वरित कार्रवाई के लिए आभार व्यक्त किया. उसने लिखा, “जितना जल्दी हो सकता था आप लोगों उतने ही शीघ्र कार्ऱवाई की इसके लिए आपको धन्यवाद. मै शुक्रिया अदा करना चाहूंगी महिला थाना एसओ प्रियंका पांडेय और एसएसपी अयोध्या आशीष तिवारी का जो बस में ये देखने आए कि मैं सुरक्षित हूं या नहीं”.



Also Read: अलीगढ़ CAA प्रोटेस्ट: महिलाओं को आगे करके दंगाइयों ने की पत्थरबाजी, AMU छात्राओं ने तैयार की थी हिंसा की पूरी प्लानिंग


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

दिल्ली हिंसा: बुर्का पहनी महिलाओं ने किया था DCP पर जमकर पथराव, पुलिस को घेरकर पीटती दिखी बेकाबू भीड़, सामने आया Video

BT Bureau

बुलंदशहर हिंसा: आरोपी जितेंद्र की मां का आरोप, 70 पुलिसवालों ने घर आकर की तोड़फोड़, बहू को भी पीटा

BT Bureau

16 साल की नाबालिग, एक कमरा, 6 लोग, 7 दिनों तक बंधक बनाकर गैंगरेप, शेख बाजी समेत सभी गिरफ्तार

BT Bureau