Breaking Tube
Crime UP News

बाराबंकी: 3 लाख वसूली के बाद अब सिपाहियों पर पीड़ित को धमकाने का आरोप

हाल ही में बाराबंकी जिले में एक व्यापारी ने तीन सिपाहियों पर किडनैपिंग और वसूली का आरोप लगाया था। जिसके बाद तीनों आरोपियों को सस्पेंड कर दिया गया। अब व्यापारी ने दो सिपाहियों पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए एएसपी दक्षिणी मनोज पांडेय व सीओ हैरदगढ़ पवन गौतम से फोन पर शिकायत की है। जिसके बाद जांच के आदेश दिए गए हैं।


फोन पर की शिकायत

जानकारी के मुताबिक, बाराबंकी जिले में व्यापारी राहुल ने एएसपी व सीओ को फोन कर बताया कि उनमें सिपाही जमाल अशरफ व आशीष तिवारी जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। दो दिन से दोनों सिपाही किसी न किसी माध्यम से धमका रहे हैं। मंगलवार को पीड़ित ने एएसपी दक्षिणी मनोज पांडेय व सीओ हैदरगढ़ पवन गौतम से फोन पर शिकायत की। बताया कि बुधवार को एसपी से मिलकर रिपोर्ट दर्ज करने की तहरीर देगा।


Also read: बाराबंकी: सिपाहियों ने युवक को बंधक बनाकर वसूले 3 लाख रूपए, चारो सस्पेंड


ये था मामला

बाराबंकी के मसौली थाना क्षेत्र के ग्राम मूलीगंज निवासी राहुल सिंह का आरोप है कि 16 अक्टूबर की शाम वह सफदरगंज थाना क्षेत्र के ग्राम तुरकानी निवासी संदीप यादव के साथ सफदरगंज मुख्य चौराहे पर खड़ा था। वह दोनों लखनऊ से आ रहे कुछ लोगों का इंतजार कर रहे थे, जिन्हें एक जमीन दिखानी थी। आरोप है कि तभी वहां पहुंची दो कार में सवार युवकों ने उसका अपहरण कर लिया और कोठी थाना क्षेत्र के ग्राम उस्मानपुर स्थित एक मकान में ले गए।


यहीं पर उसे बंधक बनाकर करीब छह सिपाहियों ने उसकी जेब से आठ हजार रुपये निकलवाए। उसी रुपयों से बियर मंगाकर पी और पिस्तौल कनपटी पर लगाकर दस लाख मांगे गए। रुपये न देने पर उसे दो किलो मार्फीन के फर्जी मुकदमे में एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने की धमकी दी। पीड़ित राहुल के अनुसार उसने दो रिश्तेदारों से डेढ़-डेढ़ लाख रुपये मंगाए। एसओ कोठी के सामने उसके रिश्तेदारों से सिपाहियों ने रुपये लिए। एएसपी साउथ की रिपोर्ट के आधार पर चार सिपाहियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इनमें कोठी थाने में तैनात सिपाही नीलेश सिंह, जमाल और पुलिस लाइन में तैनात आशीष तिवारी और अमित सिंह शामिल है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

कानपुर कांड पर योगी का सख्त निर्देश, विकास दुबे के बिना मुख्यालय न लौटें पुलिस अधिकारी

BT Bureau

यूपी: फरार IPS और सिपाही का कोई सुराग नहीं, 25-25 हजार का ईनाम घोषित

Shruti Gaur

कानपुर कांड: पुलिस रिकॉर्ड से शहीद देवेंद्र मिश्रा की चिट्ठी गायब, STF डीआईजी और तत्कालीन SSP अनंतदेव तिवारी की भूमिका पर उठ रहे सवाल

Jitendra Nishad