Breaking Tube
Crime UP News

यूपी: कुर्क होगी विकास दुबे के भाई दीप प्रकाश की संपत्ति, पुलिस ने कोर्ट से मांगी अनुमति

कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाले दुर्दांत अपराधी विकास दुबे का छोटा भाई दीप प्रकाश अभी भी फरार है। जिस पर पुलिस ने इनाम भी घोषित किया हुआ गई बावजूद इसके दीप प्रकाश का कहीं अता पता नहीं है। इसी के चलते पुलिस विकास दुबे के भाई की संपत्ति कुर्क करने की तैयारी कर रही है। पुलिस ने दीप की संपत्तियों को कुर्क करने की अनुमति लेने के लिए अदालत में एक आवेदन दिया है।


जल्द पुलिस कर सकती है सख्त कार्रवाई

जानकारी के मुताबिक, जांच के बाद दीप प्रकाश का कुछ पता नहीं चला है। उस पर 20 हजार रुपये का इनाम घोषित भी है। जांच में ये बात सामने आई है कि,दीप प्रकाश इन्द्रलोक कालोनी में जिस मकान में रहता है, वह उसकी पत्नी अजंली के नाम है। अजंली बिकरू गांव की प्रधान है। पर, कानपुर में दीप प्रकाश के नाम जमीन है। इसके अलावा उसके नाम पर एक ट्रैक्टर भी बताया जा रहा है। वहीं उसके बैंक खातों का भी पुलिस ने ब्योरा जुटा लिया है।


Also read: छोटे बेटे से विकास दुबे की मां ने की अपील- सरेंडर कर दो वरना पुलिस तुम्हे भी मार देगी


एक पुलिस अफसर की मानें तो पुलिस के कहने के बाद भी दीप ने खुद को पुलिस के सामने पेश नहीं किया है। वह अब भी फरार है। हमने उसकी संपत्ति को कुर्क करने की अनुमति लेने के लिए अदालत में एक आवेदन दिया है। जैसे ही हमें अनुमति मिलेगी हम जरूरी कदम उठाएंगे।


मां भी कर चुकी हैं अपील

वहीं विकास दुबे की मां सरला देवी ने एक अपील जारी करते हुए अपने छोटे बेटे दीप प्रकाश से सरेंडर करने की अपील कीथी। उन्होंने कहा, ‘दीप प्रकाश कृपया कर सामने आ जाओ और सरेंडर करो। नहीं तो पुलिस तुम्हें और तुम्हारे परिवार को मार देगी। तुम्हें पुलिस की सुरक्षा मिलेगी, क्योंकि तुमने कुछ नहीं किया है। भाई विकास से रिश्ता होने की वजह से मत छिपो।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

CAA हिंसा: मेरठ से गिरफ्तार मो. अनीस का कबूलनामा, पुलिस पर गोलियां बरसाने के लिए PFI ने दी थी ट्रेनिंग

BT Bureau

रामपुर पुलिस की बड़ी कामयाबी, प्लास्टिक के बोरों में भरे देसी बम बरामद, जमीर मियां गिरफ्तार

S N Tiwari

बार के बाहर पेशाब करने से रोका तो फिरोज खान ने 4 साथियों संग मिलकर हितेश को जिन्दा जलाकर मार डाला

BT Bureau