Breaking Tube
Crime UP News

कानपुर एनकाउंटर: दुर्दांत अपराधी विकास दुबे कर सकता है सरेंडर, पुलिस ने की कोर्ट की घेराबंदी

vikas dubey can surrender

कानपुर एनकाउंटर का मुख्य आरोपी दुर्दांत अपराधी विकास दुबे लखीमपुर खीरी की किसी भी कोर्ट में आत्मसमर्पण (vikas dubey can surrender) कर सकता है। वहीं, इस इनपुट के बाद पुलिस अलर्ट हो गई है एसपी की अगुवाई में मोहम्मदी की एडीजे कोर्ट परिसर को पुलिस ने घेर लिया है। विकास दुबे की तलाश में पुलिस की 25 टीमें अलग-अलग इलाकों में दबिश दे रही हैं।


इन सभी इलाकों में जहां विकास के परिवार वाले या रिश्तेदार रहते हैं। नेपाल बॉर्डर पर भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। वहां के थानों में विकास दुबे के फोटो चस्पा कर दिए गए हैं। पुलिस ने अब तक इस मामले में पूछताछ के लिए 12 लोगों को हिरासत में लिया है, जिससे कि जल्द से जल्द विकास दुबे को पकड़ा जा सके।


Also Read: कानपुर एनकाउंटर: पुलिस को रोकने के लिए जिस JCB का लिया था सहारा, योगी ने उसी से ढहवाया दुर्दांत विकास दुबे का घर


विकास दुबे के नेपाल भागने की भी आशंका है, लिहाजा खीरी जिले की पुलिस भी अलर्ट है। उधर शनिवार दोपहर यह इनपुट मिला कि विकास खीरी की किसी भी कोर्ट में सरेंडर कर सकता है तो पुलिस-प्रशासन चोकन्ना हो गया। लखीमपुर की अदालत तो सैनिटाइजेशन के नाम पर प्रशासन ने बंद करा दी और पूरा फोर्स मोहम्मदी पहुंच गया। एडीजे कोर्ट परिसर की अभेद्य घेराबंदी कर ली गई है।


वहीं, इस मामले में चौबेपुर के प्रभारी रहे विनय तिवारी (Chaubepur SO vinay tiwari) को विकास दुबे के घर पर दबिश देने में शिथिलता बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। आईजी रेंज कानपुर मोहित अग्रवाल ने बताया कि विनय तिवारी की छापेमारी के बारे में गैंगस्टर को पकड़ने के स्थान पर सूचना देने के संदेह पर निलंबित कर दिया गया है।


Also Read: कानपुर: जिनका था इलाका वे बाकी थानों की फोर्स को आगे कर खुद पीछे हो गए, जांच में चौबेपुर SO की भूमिका ने चौंकाया


उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो उनके खिलाफ मामला भी दर्ज किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि किसी की भी इस मामले में संलिप्तता पाई गई तो उसकी तत्काल ही बर्खास्तगी के साथ ही गिरफ्तारी भी होगी। एसटीएफ ने विनय तिवारी को हिरासत में लिया है। सूत्रों का कहना है कि इस मामले में संदिग्ध भूमिका मिलने पर विनय तिवारी के खिलाफ भी केस दर्ज होगा।


एसटीएफ ने चौबेपुर के थानाध्यक्ष विनय तिवारी को हिरासत में लिया है, जबकि वहां के थानाध्यक्ष का चार्ज पुष्पराज सिंह को दिया गया है। कानपुर में पुलिस ने 500 से अधिक मोबाइल नंबर को ट्रेस करने के लिए सर्विलांस पर लगा दिया है। एसटीएफ को अनुमान है कि पुलिस टीम के विकास दुबे के घर पर दबिश की तैयारी को चौबेपुर थानाध्यक्ष रहे विनय तिवारी ने ही लीक किया था।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

मेरठ: AAP विधायक अमानतुल्लाह खान की जीत के जश्न में महिला पुलिकर्मियों से बदतमीजी, 50 के खिलाफ FIR दर्ज

BT Bureau

आगरा: लूट के बाद दारोगा की पत्नी की हत्या, सिपाही के खिलाफ मुकदमा दर्ज

BT Bureau

लखनऊ: BJP नेता कृष्णानंद राय का हत्यारा मुख्तार गैंग का शूटर एऩकाउंटर में ढेर, 1 लाख का था ईनामी

BT Bureau