Breaking Tube
Crime UP News

मरने के बाद भी लोगों को डरा रहा विकास दुबे!, ग्रामीणों ने किए हैरान कर देने वाले दावे

भले ही कानपुर के दुर्दांत अपराधी विकास दुबे एनकाउंटर में मारा जा चुका हो, लेकिन शायद उसके गांव वाले आज भी विकास के डर में जी रहे हैं। दरअसल, बीकरू गांव के कुछ लोगों ने दावा किया है कि उन्‍होंने विकास दुबे के भूत को वहां मंडराते देखा है। अंधविश्वास में भयभीत ग्रामीण दिन ढलने के बाद विकास के मोहल्ले की ओर नहीं जाते। गांव के लोग कहते हैं कि अपराधियों में किसी का क्रियाकर्म नहीं हुआ है। इसीलिए ऐसा हो रहा है।


ग्रामीणों में फैली दहशत

जानकारी के मुताबिक, गांव के एक युवक ने नाम जाहिर न करने का आग्रह करते हुए कहा, “आज भी गोलियों की आवाज सुनाई देती है। सब जानते हैं, पर बोलता कोई नहीं है। कुछ लोगों ने तो विकास भैया (विकास दुबे) को देखा भी है। विकास दुबे के ध्वस्त घर के पास रहने वाले एक परिवार का दावा है कि उन्होंने कई तरह की आवाजें भी सुनी हैं। एक महिला ने कहा, “एक से ज्यादा मौकों पर, हमने खंडहर में लोगों को किसी बात पर चर्चा करते हुए सुना है, हालांकि आवाज साफ सुनाई नहीं दी। बीच में थोड़ा हंसी-मजाक भी चलने का आभास हुआ। यह काफी हद तक वैसा ही था, जैसा विकास के जिंदा रहने के दौरान घर में होता था।


Also read: महोबा व्यापारी हत्याकांड में बड़ा खुलासा, निलंबित SP ने सिपाही की मदद से मांगे थे दो लाख


इसके साथ ही गांव के लोग कहते हैं कि अपराधियों में किसी का क्रियाकर्म नहीं हुआ। उनकी आत्माएं भटकती हैं। पत्ता भी खनकता है तो शरीर सिहर उठता है। विकास की जमींदोज कोठी में जंगली जीव, पक्षियों का प्रवास है। गांव के बड़े-बुजुर्गों को दूसरे तरह की दहशत सता रही है। विकास के खिलाफ अब भी खुलकर कोई कुछ बोलता नहीं। कुछ बुजुर्ग जरूर कहते हैं कि गांव में कई अकाल मौतें हुई हैं। किसी का कर्मकांड नहीं हुआ। सबकी आत्माएं भटक रही होंगी। कर्मकांड तो होना ही चाहिए। क्रिया कर्म नहीं होगा तो उनकी आत्माएं तो भटकेंगी 



खंडहर में बैठा मुस्‍करा रहा था विकास

एक बुजुर्ग ने बताया कि कुछ दिनों पहले जब वह रात में लघुशंका के लिए उठे तो उन्‍होंने देखा कि विकास दुबे वहां बैठा मुस्‍कुरा रहा है। बुजुर्ग ने बताया, ‘ऐसा लग रहा था कि जैसे वह हम लोगों को कुछ बताना चाह रहा था। वह अपनी मौत का बदला लेगा जरूर। वहीं विकास के टूटे मकान पर चार पुलिसवालों- दो पुरुष, दो महिलाओ की ड्यूटी लगी है। लेकिन ऑन रिकॉर्ड इनमें से किसी ने नहीं कहा कि उन्‍होंने विकास के भूत को ‘देखा’ है। उनमें से एक कहता है, ‘हमें यहां अपनी ड्यूटी करने में कोई समस्‍या नहीं है।’ इससे ज्‍यादा वह कुछ भी कहने से मना कर देता है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

50 लाख से ज्यादा कोरोना टेस्ट करने वाला देश का पहला राज्य बना UP, CM योगी ने दिया रोजाना 2 लाख टेस्टिंग का टारगेट

BT Bureau

विवेक तिवारी हत्याकांड: बर्खास्त सिपाहियों पर आरोप तय, जमानत पर छूटा कांस्टेबल संदीप भी भेजा गया जेल

Jitendra Nishad

अतीक अहमद पर कार्रवाई जारी, अवैध भवनों पर फिर चला योगी का बुलडोजर

BT Bureau