UP : ‘प्रदेश में महिला अपराध में और कमी लाने की जरूरत’, 1090 के 10वें स्थापना दिवस पर बोले DGP

सोमवार को वीमेन पावर हेल्पलाइन का दसवां स्थापना दिवस बेहद ही धूमधाम से मनाया गया. इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि यूपी पुलिस के मुखिया डीजीपी मुकुल गोयल थे. उन्होंने कार्यक्रम के दौरान ना सिर्फ 1090 की कार्यशैली की तारीफ की, बल्कि ये भी कहा कि महिलाओं के प्रति अपराध में कमी नहीं आ रही है. हम सभी को इस दिशा में और प्रयास करने की जरुरत है. जिसके लिए न सिर्फ पुलिस विभाग बल्कि हर किसी को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी.

डीजीपी ने किया सम्बोधित

जानकारी के मुताबिक, डीजीपी मुकुल गोयल बतौर मुख्य अतिथि 1090 के कार्यालय में आयोजित सामुदायिक भागीदारी द्वारा जन जागरूकता कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन (1090) ने 10 वर्षों में बहुत अच्छा काम किया है. महिलाओं में सुरक्षा की भावना बढ़ी है पर, महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों में अभी और कमी लाने की जरूरत है. इसके लिये और प्रयास करने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया के अलावा विभिन्न कम्यूनिटी, बस के टिकट, बसों व स्टेशनों पर पोस्टर के जरिये 1090 का प्रचार किया जा रहा है. इसका असर जल्दी ही और बड़े स्तर पर देखने को मिलेगा.

कार्यक्रम के दौरान ही एडीजी ने बताया कि वीमेन पावर लाइन पर तकरीबन 19 लाख 80 हजार शिकायतें दर्ज की गई हैं. एडीजी नीरा रावत के मुताबिक अधिकांश मामलों का निस्तारण किया जा चुका है. एक से दो फीसद मामलों का निस्तारण जारी है. वीमेन पावर लाइन में सोमवार को प्रशिक्षण मैनुअल भी जारी किया गया. इसके तहत 26 हजार लोगों को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य है. कार्यक्रम में डीजीपी ने एलईडी लगे वाहनों को प्रचार के लिये रवाना किया. डीजीपी ने इस मौके पर 1090 के प्रचार प्रसार के लिये निम्न योजनाओं के पोस्टर को लांच किया.

2012 में हुई थी स्थापना

बता दें कि वीमेन पावर लाइन की स्थापना 15 नवंबर 2012 को हुई थी. फोन पर महिलाओं से अभद्रता की बढ़ती शिकायतों के निस्तारण के लिए इसकी परिकल्पना की गई थी. प्रारंभ में तीन कमरों में इसकी शुरूआत हुई और 1090 ने बड़ा रूप धारण कर लिया. वर्तमान में इसका संचालन दो मंजिला भवन में 24 घंटे हो रहा है.

ALSO READ: गाजियाबाद: एकाउंटर पर सवाल के बाद हुआ तबादला तो बिफरे इंस्पेक्टर, बोले- टूट गया मनोबल, अब और नौकरी नहीं

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )