Breaking Tube
Entertainment

Review: बुलंद हौसले और पराक्रम की कहानी है Gunjan Saxena

बॉलीवुड: नेटफ्लिक्स पर इन दिनों लगातार एक से बढ़कर एक दमदार फिल्में रिलीज़ हो रहीं हैं वहीँ इसी क्रम में शौर्य चक्र विजेता फ्लाइट लेफ्टिनेंट गुंजन सक्सेना की बायोपिक ‘गुंजन सक्सेनाः द कारगिल गर्ल भी आज रिलीज़ हो चुकी है. इस फिल्म में अपने देश को लेकर जज्बे और वतन से प्यार की कहानी दिखाई गई है. इस फिल्म लड़कियों के हौसले की कहानी दिखाई गई है, जो उनकी जांबाज़ी को प्रदर्शित कर रहा है. जहां सेना में शामिल होकर वर्दी पहनकर देश पर मर मिटने का हक अक्सर पुरुषों का माना जाता है वहीं यह फिल्म बताती है कि देश को संभालने के लिए महिलाओं के कंधे भी कम दमदार नहीं हैं. आइए जानते हैं कैसे ये फिल्म…


स्टार रेटिंगः 3/5
डायरेक्टरः शरण शर्मा
स्टार कास्ट: जाह्नवी कपूर, पंकज त्रिपाठी, अंगद बेदी और विनीत कुमार सिंह


यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगा कि गुंजन सक्सेना के जीवन पर बनी यह फिल्म देखने के बाद हमारी जुबान पर जो पहली बात आती है, वह यह कि फिल्म वाकई प्रेरणादायी है. फिल्म देखते हुए आप देशभक्ति और बहादुरी के जज्बे को अपने रगों में दौड़ते मेहसूस करेंगे. गुंजन सक्सेना का किरदार निभा रहीं एक्ट्रेस जाह्नवी कपूर ने बेहतरीन अभिनय किया है. उनके पिता के किरदार में नजर आने वाले पंकज त्रिपाठी ने भी लोगों का दिल जीता है.



फिल्म की कहानी-


इस फिल्म की कहानी जितनी गुंजन सक्सेना के जीवन पर आधारित है उतनी ही कारगिल युद्ध को भी करीब से दिखाने वाली है. फिल्म ‘गुंजन सक्सेनाः द कारगिल गर्ल’ कारगिल युद्ध से शुरू होती है. लेकिन यह कहानी वहां से सीधे जा पहुंचती है गुंजन के दसवीं के रिजल्ट वालेे दिन पर. घर में एक विवाद का माहौल है क्योंकि गुंजन का सपना है कि उसे पायलट बनना है, लेकिन भारतीय मध्यम वर्गीय परिवार में ऐसी बात सुनकर घर वाले दंग हो जाते हैं. गुंजन का भाई और पूरे परिवार के लोग उसे याद दिलाते हैं कि वह एक लड़की है. लेकिन गुंजन के इरादे भी बुलंद हैं. वह हिम्मत नहीं हारती है.


एक दिन सेना में महिला पायलट की भर्ती के लिए अवसर सामने आता है. गुंजन यह बात मौका हाथ से जाने नहीं देती और पहुंचती है किस्मत आजमाने. लेकिन मंजिल मिलना इतना आसान नहीं होता. गुंजन को यहां अपनी लंबाई और वजन दोनों के कारण अड़चन आती है. ये मुश्किल पार हो भी जाती है. लेकिन कई सारे पुरुषों के बीच अकेली महिला होकर खुद को साबित करना वाकई चैलेंजिंग काम होता है जो गुंजन किस तरह निभाती है यह देखने के काबिल है.


फिल्म के डायरेक्शन की बात की जाए तो डायरेक्टर ने इस फिल्म की कहानी को बहुत बेहतरीन तरीके से बांधा है. जहां देश की एक वीरांगना की निजी जिंदगी से लेकर उसके शौर्य तक को दिखाया गया है. कहीं भी फिल्म ऊबाउ या जबरन खींची हुई नहीं लगती. डायरेक्टर ने एक बेटी के जीवन में पिता के सपोर्ट की जरूरत और इस रिश्ते के प्यार को भी काफी खूबसूरती से दिखाया है. पिता बने पंकज त्रिपाठी एक बार फिर अपने अभिनय से दिल छू लेते हैं. विनीत कुमार और अंगद बेदी ने भी अपने किरदारों को बेहतरीन तरीके से निभाया है. फिल्म नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई है.



Also Read: 
सुशांत का एक साल पुराना वीडियो हो रहा वायरल, पूजा के दौरान भक्ति में लीन थे एक्टर


Also Read: सुशांत केस: मुंबई के ED दफ्तर में पेश हुईं रिया, पूछताछ जारी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

भारत दौरे से पहले डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया Video, ‘बाहुबली’ अंदाज में आए नजर

Satya Prakash

इस एक्ट्रेस की बोल्ड तस्वीरें सोशल मीडिया पर हुईं वायरल, ‘गंदी बात’ करके रातों रात बन गईं थी स्टार

Satya Prakash

जेनिफर विंगेट की कातिलाना पोस्ट को देखकर फैंस बोले- Ufff So Hot

Satya Prakash