राहुल गांधी विवाद: अमेरिका के बाद अब जर्मनी ने दी प्रतिक्रिया, कहा- अभी भी SC में अपील करने का विकल्प मौजूद

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की लोकसभा सदस्यता रद्द होने का मामला विदेश में भी तूल पकड़ता जा रहा है। अमेरिका (America) के बाद अब जर्मनी (Germany) ने राहुल गांधी विवाद पर प्रतिक्रिया दी है।

राहुल गांधी विवाद पर जर्मनी ने कही ये बात

जर्मनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि राहुल के खिलाफ की गई कोई भी कार्रवाई न्यायिक स्वतंत्रता के दायरे में और उनके मौलिक अधिकारों को ध्यान में रखकर की गई होगी। जर्मनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हमारी जानकारी में राहुल गांधी के दोषी पाए जाने के बाद उनके पास अभी भी उच्चतम न्यायालय में अपील करने का विकल्प मौजूद है।

Also Read: राहुल गांधी विवाद पर अमेरिका भी रख रहा नजर, कहा- कानून का शासन किसी भी देश के लोकतंत्र की आधारशिला

प्रवक्ता ने आगे कहा कि हमें भरोसा है कि राहुल गांधी पर कार्रवाई करते समय या कि उनके पक्ष को सुनते समय न्यायिक स्वतंत्रता और राहुल के मौलिक अधिकारों का ध्यान रखा जाएगा।

इस वजह से रद्द हुई राहुल गांधी की सदस्यता

दरअसल, गुजरात के सूरत जिले की अदालत ने राहुल गांधी की कर्नाटक में चुनाव प्रचार के दौरान मोदी सरनेम को लेकर दिए गए एक बयान को लेकर कांग्रेस नेता के खिलाफ 2019 में आपराधिक मानहानि के एक मामले में 23 मार्च को दोषी ठहराया गया था।

Also Read: चीन में मुसलमानों पर कहर जारी, रोजे रखने पर प्रतिबंध, जबरन खिला रहे सूअर का मांस!

इसके साथ ही कोर्ट ने राहुल गांधी को दो साल जेल की सजा सुनाई गई थी। इसके अगले ही दिन 24 मार्च को लोकप्रतिनिधित्व कानून के कारण लोकसभा से उनकी संसद सदस्यता रद्द कर दी गई थी। इसके बाद से ही कांग्रेस पार्टी भाजपा पर हमलावर है। कांग्रेस शासित राज्यों में विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )