Breaking Tube
Corona Government UP News

UP: प्राइवेट अस्पतालों में तय की गई कोरोना टेस्ट की फीस, ज्यादा वसूलने पर होगी सख्त कार्रवाई

यूपी में कोरोना वायरस तेजी से पैर पसार रहा है। इसी का नतीजा है कि अस्पतालों में बेड खाली नहीं है, लोगों को समय रहते इलाज भी मिल पा रहा है। इन्हीं समस्याओं को देखते हुए सीएम योगी लगातार ही कदम उठा रहे हैं। हाल ही में प्राइवेट अस्पतालों की शिकायतें सामने आ रही थीं। जिसके चलते अब योगी सरकार ने निजी अस्पतालों में कोरोना जांच की फीस तय कर दी है। अगर कोई भी अस्पताल मनमानी करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।


सीएम ने दिए ये आदेश

जानकारी के मुताबिक, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने शुल्क की दरों के लेकर आदेश जारी किया है। आदेश में जिलों को ए, बी और सी श्रेणी में रखा गया है। इसी अनुसार शुल्क तय किए गए हैं। नेशनल एक्रीडिटेशन बोर्ड फॉर हास्पिटल एंड हेल्थ केयर प्रोवाइडर (एनएबीएच) से प्रमाणित अस्पतालों के लिए अलग शुल्क तय किया गया है। इसमें पीपीई किट का रेट भी शामिल है। वहीं, निजी अस्पतालों को चेतावनी भी दी गई है कि अगर आदेश का उल्लंघन किया तो उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।


अगर लैब का कर्मचारी अगर सैंपल लेने घर आता है, तो जांच का शुल्क 900 रुपये वसूला जाएगा। वहीं अगर, कोई व्यक्ति निजी लैब में आरटीपीसीआर जांच कराता है, तो उससे 700 रुपये लिए जाएंगे। अगर राज्य सरकार के चिह्नित अधिकारी द्वारा निजी अस्पताल में जांच के लिए सैंपल भेजा जाता है, तो सैंपल देने वाले से अधिकतम 500 रुपये ही लिया जाएगा।


भर्ती करने की फीस भी तय

इसके साथ ही मरीजों के अस्पताल में भर्ती करने पर एनएबीएच एक्रेडिटेड अस्पताल में आइसोलेशन बेड का चार्ज 10000, आईसीयू का 15000 और वेंटीलेटर युक्त आईसीयू का 18000 रुपए रखा गया है। नॉन एक्रेडिटेड अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड का 12000, आईसीयू का 13000 और वेंटीलेटर युक्त आईसीयू का 15000 रुपए रखा गया है। यह दरें ए श्रेणी के शहरों के सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के लिए हैं। बी श्रेणी के शहरों में अस्पतालों में इसका 80 फ़ीसदी और सी श्रेणी 60 फ़ीसदी शुल्क देना होगा।


Also Read: लखनऊ में कोरोना को लेकर सीएम योगी गंभीर, 8 और कोविड अस्पताल बने, मरीजों के लिए बढ़ाए गए 1835 बेड


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अयोध्या: पहले पूछा हालचाल फिर गश्त कर रहे सिपाही को मारी गोली, हालत गंभीर

BT Bureau

वैक्सीनेशन: कैसे होगा रजिस्ट्रेशन, कहां लगेगी वैक्सीन, ऐसे डाउनलोड करें सर्टिफिकेट

Satya Prakash

सपा-बसपा की सरकारों में होती थी गुंडागर्दी, अब योगी राज में उन गुंडों की संपत्ति पर चल रहा बुलडोजर: स्वतंत्र देव सिंह

Jitendra Nishad