Breaking Tube
Government

पत्रकार विक्रम जोशी हत्याकांड में CM योगी का ऐलान- पत्नी को सरकारी नौकरी, बच्चों की निशुल्क पढ़ाई और 10 लाख की आर्थिक मदद

CM Yogi Adityanath

गाजियाबाद (Ghaziabad) जनपद में पत्रकार विक्रम जोशी की अस्पातल में इलाज के दौरान मौत हो गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना जताते हुए अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। साथ ही उन्होंने मृतक पत्रकार के परिवार को 10 लाख की आर्थिक सहायता, पत्नी को सरकारी नौकरी और बच्चों की निशुल्क पढ़ाई के निर्देश दिए हैं।


जानकारी के मुताबिक, पत्रकार विक्रम जोशी परिवार में इकलौते कमाने वाले शख्स थे। उनके तीन छोटे-छोटे बच्चे हैं। परिवार की तरफ से आर्थिक सहायता, पत्नी को सरकारी नौकरी और बच्चों की पढ़ाई की मांग की गई थी। जिसके बाद जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे ने परिवार से मुलाकात की और उनकी मांगे पूरी होने की बात बताई।


Also Read: छोटे बेटे से विकास दुबे की मां ने की अपील- सरेंडर कर दो वरना पुलिस तुम्हे भी मार देगी


जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री जी की पूरी संवेदना है, अपराधियों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने बताया कि परिवार के लोगों से बातचीत हुई है, 10 लाख रुपये तत्काल देने की घोषणा की गई है। साथ ही उनकी पत्नी को उनकी योग्यता के अनुसार नौकरी की व्यवस्था की जायेगी। बच्चों को अच्छे स्कूल में मुफ्त शिक्षा दिलाई जायेगी और परिवार को सुरक्षा दी जायेगी।


वहीं, मृतक पत्रकार की बहन ने बताया कि बच्चों की पढ़ाई और भाभी को सरकारी नौकरी देने की बात कही गई है। दस लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जा रही है। सूत्रों ने बताया कि सीएम योगी ने इस घटना पर काफी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने पूरे मामले में डीजीपी से रिपोर्ट तलब की है। उधर, डीजीपी ने गाजियाबाद पुलिस को फटकार लगाई है।


Also Read: ‘पूरी जीप को मार दूंगा, चाहें जिंदगी भर जेल में रहूं’, विकास दुबे और सिपाही का Audio वायरल


बता दें कि विक्रम जोशी द्वारा भांजी से छेड़छाड़ की शिकायत पुलिस में करने से नाराज बदमाशों ने 2 बेटियों के सामने ही उन्हें गोली मार दी थी। जिसके बाद आनन-फानन में उन्हें यशोदा अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने 9 लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं, एसएसपी ने लापरवाही बरतने के आरोप में चौकी इंचार्ज राघवेंद्र को सस्पेंड कर दिया है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अच्छी खबर: सरकारी नौकरी करने वालों को बड़ी राहत, अब PF से निकालें 75% तक पैसा

Jitendra Nishad

UP के प्रवासियों को काम देने के लिए अन्य प्रदेशों को लेनी होगी मंजूरी, पलायन रोकने को अपने ही प्रदेश में रोजगार दिलाने में जुटे योगी

BT Bureau

अगर आपके पास भी नहीं है राशन कार्ड तो ऐसे पा सकते हैं मुफ्त में 5 किलो अनाज और चावल

BT Bureau