Breaking Tube
Government

बांस की बोतल और सोलर वस्त्र के बाद अब मोदी सरकार ने लांच किया गाय के गोबर से बना साबुन, जानिए इसकी खासियत के साथ खरीदने का स्थान

Modi Government Minister Nitin Gadkari launched Cow Dung Soap at Khadi and Village Industries Commission

देशभर में प्लास्टिक बैन (Plastic Ban) होने बाद अब प्लास्टिक की बोतल की जगह जल्द ही बाजार में बांस की बोतल आने वाली है. गांधी जयंती (2nd October) से पहले बांस की इस बोतल को खादी ग्रामोद्योग आयोग (Khadi and Village Industries Commission) ने लांच कर दिया है. इसके अलावा सोलर वस्त्र (सोलर चरखा से बना), गोबर से बना साबुन और शैम्पू, कच्ची घानी सरसो तेल सहित कई उत्पाद लांच किए गए हैं. 2 अक्टूबर के दिन देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर खादी उत्पादों पर काफी छूट मिलेगी. इसके साथ ही मोदी सरकार ने घोषणा की है, खादी ग्रामोद्योग आयोग अब रोजगार भी देगा.


Also Read: यूपी: बेरोजगारों के लिए खुशखबरी, योगी सरकार 2 लाख से अधिक लोगों को देने जा रही है नौकरी


बता दें कि राज्य के हर जिले में एक खादी ग्रामोद्योग का एक स्टोर होता है. इस स्टोर पर जाकर आप बांस की बोतल, गाय के गोबर से बना साबुन इत्यादि खरीद सकते है. सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम (MSME) मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को गाय के गोबर और बांस की बनी पानी की बोतलें पेश की. इन उत्पादों को खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग ने तैयार किया है.


Also Read: यूपी: CM योगी ने लॉन्च किया ‘एम पासपोर्ट पुलिस’ एप, अब वेरिफिकेशन में नहीं होगी देर, सात दिनों में आएगा पासपोर्ट


नितिन गडकरी ने मंगलवार को गांधी जयंती के मौके पर एक कार्यक्रम में कहा कि ‘वह जैविक खेती और उसके लाभ के पुरजोर समर्थक है’. सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की भी जिम्मेदारी संभाल रहे गडकरी ने बेहतर प्रदर्शन करने वाली निर्यात इकाइयों से नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध होने को कहा है. उन्होंने आगे कहा कि ‘मंत्रालय ने एक योजना का प्रस्ताव किया है, जिसके तहत इस प्रकार की एमएसएमई इकाइयों में 10 फीसदी इक्विटी भागीदारी केंद्र सरकार की होगी’. साथ ही उन्होंने कहा कि ‘खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) को अगले दो साल में 10 हजार करोड़ रुपये का कारोबार हासिल करना चाहिए और खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार सृजित करने चाहिए’.


Also Read: यूपी उपचुनाव: जब मंच पर आया फुटपाथ पर सब्जी बेचने वाला पिता तो फूट-फूटकर रो पड़े BJP प्रत्याशी


उधर, खादी ग्रामोद्योग आयोग के चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना ने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में बताया कि ‘प्लास्टिक बोतल की जगह लांच की गई बांस की बोतल की क्षमता कम से कम 750 एमएल है. इसकी शुरुआती कीमत 300 रुपये तय की गई है. यह बोतल पर्यावरण के अनुकूल होने के साथ-साथ टिकाऊ भी है. साथ ही खादी ग्रामोद्योग ने गाय के मूत्र और गोबर से साबुन बनाया है’.



Also Read: शामली: SDM से गुंडई करने वाले सपा विधायक नाहिद हसन हुए फरार, अब कुर्की की कार्रवाई के लिए कोर्ट में अर्जी डालेगी पुलिस


इस पर विनय कुमार सक्सेना का कहना हैं कि ‘ये सभी टेस्ट में सफल रहा है. यह त्वचा के लिए बहुत ही लाभकारी है. इसके अलावा खादी ग्रामोद्योग के सभी स्टोर पर कई प्रोडक्ट्स बड़े डिस्काउंट पर मिल रहे है. बांस की बनी पानी बोतल की कीमत 560 रुपये और 125 ग्राम का साबुन का दाम 125 रुपये है’.



( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

UP में रेहड़ी पटरी वालों को CM योगी का बड़ा तोहफा, अब आसानी से मिलेगा लोन, नहीं होगी कोई झंझट

Jitendra Nishad

UP: शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों की जमीनों पर बने सार्वजनिक शौचालयों को हटाने का दिया आदेश

Jitendra Nishad

लखनऊ: IIM में लीडरशिप डेवलपमेंट की ट्रेनिंग ले रहे योगी सरकार के नये मंत्री, CM योगी की मौजूदगी में सीखेंगे राजनीतिक गुर

S N Tiwari