Breaking Tube
Government

मोदी सरकार का कर्मचारियों के लिए बड़ा तोहफा, पेंशन को लेकर किया ये ऐलान

मोदी सरकार (Narendra Modi Government ने केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है. सरकार ने उन केंद्रीय कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना का फायदा देने का ऐलान किया है, जो 1 जनवरी 2004 या उससे पहले सरकारी सेवा में आ गए थे. भले ही उनका अप्‍वाइंटमेंट (Appointment) इस तारीख के बाद हुआ हो. ऐसे कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना (Old Pension Scheme, OPS) का लाभ दिया जाएगा.


पेंशन और पेंशनर्स कल्याण विभाग के एक आधिकारिक आदेश के अनुसार, सरकार ने उन केंद्रीय कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना का फायदा देने का ऐलान किया है, जो 1 जनवरी 2004 या उससे पहले सरकारी सेवा में आ गए थे. भले ही उनकी नियक्ति इस तारीख के बाद हुई हो. ऐसे कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना (Old Pension Scheme) का लाभ दिया जाएगा.


कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय में राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह के अनुसार, ”यह आदेश प्रभावी रूप से भारत सरकार के उन कर्मचारियों के लिए है, जिन्हें 2004 से पहले भर्ती किया गया था. उन कर्मचारियों को केंद्रीय सिविल सेवा (पेंशन) नियम, 1972 के तहत या तो स्विच करने का विकल्प या राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली के तहत कवर किया जाना जारी रहेगा.”


क्‍या है मामला

ऑर्डर के मुताबिक सरकारी सेवा में रिक्रूटमेंट का रिजल्‍ट अगर 1 जनवरी 2004 से पहले डिक्‍लेयर हो चुका है लेकिन अप्‍वाइंटमेंट या ज्‍वाइनिंग पुलिस वेरिफिकेशन, मेडिकल एक्‍जाम के कारण लेट हुई तो इसके लिए कर्मचारी जिम्‍मेदार नहीं है. यह एडमिनिस्‍ट्रेशन की खामी है. इसलिए ऐसे कर्मचारियों को One time ऑप्‍शन दिया जा रहा है. वे पेंशन विभाग को इस बारे में लिखें और पुरानी पेंशन का बेनिफिट लें. इसके लिए सरकार ने 31 मई 2020 तक का वक्‍त दिया है.


पुरानी पेंशन के 3 बड़े फायदे

1- OPS वह पेंशन योजना थी जिसमें पेंशन अंतिम ड्रॉन सैलरी के आधार पर बनती थी.
2- OPS में महंगाई दर बढ़ने के साथ DA (महंगाई भत्‍ता) भी बढ़ जाता था.
3- जब सरकार नया वेतन आयोग लागू करती है तो भी इससे पेंशन में बढ़ोतरी होती है.


क्‍या है NPS में


केंद्र सरकार ने 1 जनवरी 2004 से नई पेंशन योजना (New Pension Scheme) लागू की है. वहीं कई राज्‍यों में पहली अप्रैल 2004 से NPS लागू हुआ. खास बात यह है कि NPS में नए कर्मचारियों को रिटायरमेंट के समय पुराने कर्मचारियों की तरह पेंशन और पारिवारिक पेंशन के बेनिफिट नहीं मिलेंगे. इस योजना में नए कर्मचारियों से वेतन और महंगाई भत्ते का 10% कंट्रीब्यूशन लिया जाता है. जबकि सरकार 14% कंट्रीब्यूशन करती है.


पुरानी पेंशन योजना के बारे में

केंद्र में OPS को पहली जनवरी 2004 से लागू किया गया था. इसके बाद नई पेंशन योजना (New Pension Scheme, NPS) आई. हालांकि सरकारी कर्मचारी पुरानी पेंशन योजना को अच्‍छा मानते हैं, क्योंकि उसमें आखिरी बार निकाली गई वेतन के आधार पर पेंशन बनती थी. इसके अलावा महंगाई दर बढ़ने के साथ DA (महंगाई भत्‍ता) भी बढ़ जाता था. साथ ही जब सरकार नया वेतन आयोग लागू करती है तो भी पेंशन में बढ़ोतरी होती है.


Also Read: ब्रिटेन और फ्रांस को पीछे धकेलते हुए विश्व की 5वीं बड़ी अर्थव्यवस्था बना भारत


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

राम जन्मभूमि विवाद को लेकर मोदी सरकार पहुंची सुप्रीम कोर्ट, विवादित भूमि को छोड़कर बाकी ज़मीन लौटाने की मांग की

BT Bureau

कांवड़ियों पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, पुलिस को दिया कार्रवाई का निर्देश

Aviral Srivastava

जम्मू कश्मीर में नौजवानों को पत्थरबाज, आतंकी नहीं बनने देगी मोदी सरकार, एक साथ 50 हजार रोजगार देने की तैयारी

BT Bureau