Breaking Tube
Corona Government UP News

UP: प्रदेश में रोजाना हो रहे 2 लाख से अधिक कोरोना टेस्ट, अब तक हुई 3 करोड़ 73 लाख 84344 की जांच

Yogi Cabinet medical department corona warriors

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने प्रदेश में सुविधाओं और दवाओं की व्‍यवस्‍थाओं को सुनिश्चित करते हुए प्रदेश के आला अधिकारियों को अलर्ट मोड पर काम करने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की अधिक से अधिक जांच आरटीपीआर के जरिए की जाए इसको लेकर योगी सरकार प्रतिबद्ध है। प्रदेश में रोजाना दो लाख से अधिक कोरोना की जांच की जा रही है। जिसका परिणाम है कि अब तक प्रदेश में तीन करोड 73 लाख 84344 जांच की जा चुकी हैं। प्रदेश में संक्रमण के बढ़ते प्रसार को देखते हुए सधी रणनीति के अनुसार प्रदेश में युद्धस्‍तर पर संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए तेजी से कार्य किया जा रहा है। प्रदेश के प्रत्‍येक जिले में कोविड कमांड सेंटर से लोगों को सीधे तौर पर मदद मिल रही है।


चार जिलों में विशेष कार्ययोजना

प्रदेश के चार जनपदों में कोरोना के मामलों में तेजी से इजाफा हुआ है जिस पर रोक लगाने के लिए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने विशेष कार्ययोजना के तहत इन जिलों में सुविधाओं का विस्‍तार करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। राजधानी समेत दूसरे जिलों में बेड की संख्‍या में इजाफा किया गया है। इसके साथ ही दवा, ऑक्‍सीजन, एंबुलेंस की पर्याप्‍त व्‍यवस्‍था को सुनिश्‍चित किया जा रहा है।


ग्रामीण क्षेत्रों में भी प्रवासी मजदूरों के लिए क्‍वारंटाइन सेंटर

शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में प्रवासी मजदूरों के लिए क्‍वारंटाइन सेंटर बनाए जा रहे हैं। जिससे संक्रमण की दर पर लगाम लगाया जा सके। बता दें कि सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने प्रदेश के सभी जनपदों में प्रवासी मजदूरों की आरटीपीसार जांच कराने और चिकित्‍सीय सेवाएं उपलब्‍ध कराने के लिए विशेष रणनीति के तहत युद्धस्‍तर पर कार्य करने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश के हर जिले में क्‍वारंटाइन सेंटर के साथ ही स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम इन प्रवासी मजदूरों की आरटीपीसीआर जांच करेगी।


ग्रामीण क्षेत्रों में 59 हजार व नगरीय क्षेत्रों में 14 हजार निगरानी समितियां

प्रदेश में पब्लिक एड्रेस सिस्टम द्वारा व्यापक स्तर पर कोविड-19 से बचाव के बारे में लोगों को निरन्तर जागरूक किया जा रहा है। ऐसे में ग्रामीण क्षेत्रों में 59 हजार तथा नगरीय क्षेत्रों में 14 हजार निगरानी समितियां क्रियाशील हैं। सीएम ने लखनऊ, गौतमबुद्ध नगर, आगरा गोरखपुर, मेरठ, वाराणसी में टीकाकरण तेज किए जाने के निर्देश भी दिए। उन्‍होंने कहा कि कोविड-19 की प्रभावी रोकथाम के लिए टेस्ट, ट्रेस, ट्रीट’ के मंत्र के अनुरूप कार्यवाही की जाए। प्रदेश में कोविड-19 की जांच की सुविधा सरकारी क्षेत्र की 125 तथा निजी क्षेत्र की 104 प्रयोगशालाएं हैं।


Also Read: लखनऊ में कोरोना को लेकर सीएम योगी गंभीर, 8 और कोविड अस्पताल बने, मरीजों के लिए बढ़ाए गए 1835 बेड


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अयोध्या: दारोगा ने लाइनमैन को सिखाया यातायात नियमों का पाठ तो जबाव में उसने थाने की बत्ती गुल करके सिखाए बिजली विभाग के नियम

BT Bureau

अब Flipkart, Amazon की तरह भारतीय डाक लाएगा सामान सीधे आपके घर

BT Bureau

आरक्षण की आग में झुलस रहा मराठा समाज, 1 प्रदर्शनकारी की मौत

Satya Prakash