Breaking Tube
Education Government UP News

UP Budget 2021: युवा कल्याण के प्रति दिखी योगी सरकार की प्रतिबद्धता, अभ्युदय कोचिंग के विद्यार्थियों को मिलेगा मुफ्त टैबलेट, छात्र बोले- अब छू लेंगे आसमान

Yogi government budget

प्रतियोगी छात्रों को स्तरीय तैयारी का प्लेटफॉर्म मुहैया करवाने वाली मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की खास योजना ‘अभ्युदय’ (Abhyudaya) में अब छात्रों को टैबलेट भी मिलेगा. सोमवार को पेश बजट (UP Budget 2021) में इस बाबत प्राविधान किए गए हैं. बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि प्रदेश के युवाओं को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता दिलाने के उद्देश्य से निःशुल्क कोचिंग की योजना ‘मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना’ के प्रति युवाओं में अत्यधिक उत्साह है.


छात्रों ने जताई खुशी

योजना के अन्तर्गत राज्य सरकार पात्रता के आधार पर छात्र एवं छात्राओं को टैबलेट उपलब्ध कराएगी, ताकि वे डिजिटल लर्निग के माध्यम से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर सकें. इस बाबत समुचित धनराशि की व्यवस्था होगी. अभ्युदय कोचिंग के विद्यार्थी प्रदेश सरकार की ओर से टैबलेट दिए जाने की घोषणा से बेहद उत्साहित हैं. उनका कहना है कि निशुल्क कोचिंग के बाद अब टैबलेट से तैयारी करने में काफी मदद मिलेगी. अब इसकी मदद से आसमान छू लेना है. इससे काम की पाठ्य सामग्री जुटाने में सहूलियत होगी.


Also Read: UP Budget 2021: मजदूरों को घंटे के हिसाब पेमेंट, किसानों को मुफ्त पानी, सस्ते कर्ज का ऐलान, जानिए बजट में किसे क्या मिला


युवाओं पर फोकस है बजट

योगी सरकार के पांचवे वित्तीय बजट में युवाओं पर खास फोकस किया गया है. वित्त मंत्री ने कहा कि हमारा यह मानना है कि युवा शक्ति एवं ऊर्जा समाज के विकास का सशक्त वाहक हैं. हमने समाज के युवा वर्ग के सर्वांगीण विकास पर विशेष ध्यान दिया है. प्रदेश के युवाओं के कौशल का सम्वर्द्धन हमारी प्राथमिकता है, ताकि वे रोजगार के अवसरों का भरपूर उपयोग कर सकें.


Also Read: महिलाओं व बेटियों के चौमुखी विकास पर केंद्रित है योगी सरकार का पांचवां बजट


संस्कृत विद्यालयों में नि:शुल्क छात्रावास एवं भोजन

‘डिजिटल विलेज’ की अवधारणा का जिक्र करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि डिजिटल विलेज के विकास से ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं को बेहतर कनेक्टिविटी उपलब्ध होगी, जिससे वे शिक्षा एवं रोजगार के वैश्विक परिदृश्य से परिचित हो सकेंगे. यही नहीं, सहायता प्राप्त अशासकीय माध्यमिक विद्यालयों तथा राजकीय संस्कृत विद्यालयों में अवस्थापना सुविधा के विकास एवं सुदृढ़ीकरण का निर्णय लिया गया है. संस्कृत विद्यालयों में अध्ययनरत निर्धन छात्रों को गुरुकुल पद्धति के अनुरूप निःशुल्क छात्रावास एवं भोजन की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी.


Also Read: UP Budget 2021: ग्रामीण परिवेश के छात्रों को पढ़ाई के लिए नहीं जाना पड़ेगा दूर, हर मंडल में एक राज्‍य विश्‍वविद्यालय खोलेगी योगी सरकार


12 जिलों में होगी मॉडल कॅरियर सेन्टर की स्थापना

वित्त मंत्री ने कहा कि प्रदेश में कैरियर काउंसलिंग कार्यक्रमों का आयोजन कर बेरोजगार युवाओं को रोजगार के उपलब्ध अवसरों तथा रोजगारपरक प्रशिक्षण आदि की जानकारी प्रदान की जाती है, ताकि उन्हें अपने कौशल एवं योग्यता के अनुसार रोजगार प्राप्त करने में सहूलियत हो. अक्टूबर , 2020 तक वर्तमान वित्तीय वर्ष में ऐसे 943 कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, जिनमें 52,000 से अधिक युवाओं द्वारा प्रतिभाग किया गया. नेशनल कॅरियर सर्विस प्रोजेक्ट के अन्तर्गत प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर मॉडल कॅरियर सेन्टर स्थापित किए गए हैं. उन्होंने कहा कि अब प्रदेश के 12 अन्य जिलों में मॉडल कॅरियर सेन्टर स्थापित किये जाने की भी योजना है.


Also Read: योगी सरकार के पिटारे से निकला नए उत्तर प्रदेश का हसीन ख्वाब, पहले पेपरलेस बजट में 27,598.40 करोड़ रुपये की नई योजनाएं


कौसल विकास मिशन 3 लाख से अधिक युवाओं को रोजगार से जोड़ा गया

उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन द्वारा विगत 04 वर्षों में 07 लाख से अधिक युवाओं को प्रशिक्षित किया गया है तथा 03 लाख से अधिक युवाओं को रोजगार से जोड़ा गया है. बजट में युवा खेल विकास एवं प्रोत्साहन योजना के लिये हेतु 8.55 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित है. ग्रामीण क्षेत्रों में युवाओं को खेलकूद के बेहतर अवसर प्रदान किये जाने के लिए ग्रामीण स्टेडियम एवं ओपेन जिम के निर्माण हे 25 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित है.


Also Read: UP Budget 2021: गंगा एक्सप्रेस वे के लिए 7689 करोड़, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे के लिए 1492 करोड़ और भूमि अधिग्रहण के लिए 7200 करोड़ रुपए का प्रावधान


बजट में यह भी खास

  • मेरठ में नए स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए 20 करोड़ रुपये
  • युवक एवं महिला मंगल दलों के प्रोत्साहन हेतु 20 करोड़ रुपये
  • प्रान्तीय रक्षक दल कोष की धनराशि में वृद्धि होगी, जिससे प्रान्तीय दल के सदस्यों को प्रदान की जाने वाली आर्थिक सहायता राशि में वृद्धि होगी.
  • युवा अधिवक्ताओं को आर्थिक सहायता प्रदान किये जाने हेतु कॉर्पस फंड में 5 करोड रुपये
  • प्रदेश के विभिन्न जिलों में अधिवक्ता चैम्बर का निर्माण एवं उनमें अन्य अवस्थापना सुविधाओं के विकास हेतु 20 करोड़ रूपये की धनराशि की व्यवस्था प्रस्तावित
  • युवा अधिवक्ताओं के लिये पुस्तक एवं पत्रिका आदि के कर करने हेतु 10 करोड़ रूपये

Also Read: UP Budget 2021: यूपी में बढ़ेगी सैनिक स्‍कूलों की संख्‍या, गोरखपुर में नए सैनिक स्‍कूल के लिए 90 करोड़ का बजट


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

सीएम योगी बोले- गन्ना किसानों का भुगतान नहीं किया तो मिल मालिकों को जेल भेजने का इंतजाम करेगी सरकार

Jitendra Nishad

UP: 1536 थानों में ‘महिला हेल्प डेस्क’ का शुभारंभ, योगी बोले- महिलाओं की सुरक्षा व सम्मान के लिए जो भी करना पड़े, सब करेंगे

Jitendra Nishad

महाराष्ट्र : शर्मनाक ! कुपोषण से 46 बच्चों की मौत

Aviral Srivastava