Breaking Tube
Government

CM योगी की लखनऊ को स्टार्टअप हब बनाने की तैयारी, अब ‘जॉब सीकर’ नहीं..’जॉब प्रोवाइडर’ बनेंगे UP के युवा

yogi

उत्तर प्रदेश को स्टार्टअप हब और युवा उद्यमियों की फौज खड़ी करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने सुपर प्लान तैयार किया है. सीएम योगी ने विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों के पाठ्यक्रम में स्टार्टअप को नए विषय के तौर पर जोड़ने की योजना बनाई है. इसी के साथ मुख्यमंत्री ने नौजवानों को ‘जॉब सीकर नहीं’.. ‘जॉब प्रोवाइडर’ बनाने का लक्ष्य रखा है. सरकार ने यूपी में युवा उद्यमियों (Young Entrepreneurs) की फौज खड़ी करने की तैयारी कर ली है.


युवा बनेंगे ‘जॉब सीकर नहीं’..‘जॉब प्रोवाइडर

नौजवानों को ‘जॉब सीकर नहीं’ .. ‘जॉब प्रोवाइडर’ बनाने के सीएम योगी के लक्ष्य को पूरा करने के लिए सरकार एक विशेष योजना पर काम कर रही है. इसके तहत ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट के फाइनल इयर में एक साल की स्टडी लीव देने की प्लानिंग हो रही है.


युवाओं को मिलेगी स्टडी लीव

सरकार की योजना के मुताबिक, स्टडी लीव के दौरान छात्र इंटर्नशिप कर सकेंगे. एक लाख छात्रों को पहले साल में शामिल किया जाएगा, उन्हें इंटर्नशिप के दौरान प्रतिमाह 2,500 का भत्ता मिलेगा. इन छात्रों का प्रोजेक्ट वर्क पाठ्यक्रम का हिस्सा भी बनेगा.


लखनऊ को स्टार्टअप हब बनाने की कवायद

नौजवानों को प्रोत्साहित कर सीएम योगी लखनऊ को स्टार्टअप हब बनाने की कवायद में जुटे हैं. उन्होंने दस हजार से भी अधिक स्टार्टअप यूपी में स्थापित करने का लक्ष्य रखा है. सिडबी की मदद से योगी सरकार ने कार्पस फंड बनाया है. इसके तहत हर जिले में स्टार्टअप इकाई बनेगी.


SIDBI को यूपी सरकार ने उत्तर प्रदेश स्टार्टअप फंड में दी 15 करोड़ की पहली किश्त

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश स्टार्टअप फंड में भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (SIDBI) को 15 करोड़ की पहली किश्त भी सौंप दी है. इस दौरान प्रदेश सरकार और सिडबी के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए हैं. स्टूडेंट के अलावा बाहर से आए कामगार और श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए यूपी को स्टार्टअप हब बनाने में भी सरकार जुटी हुई है.


58000 ग्रामीण महिलाओं को रोजगार देंगे योगी आदित्‍यनाथ

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 21 मई को बैंकिंग कॉरसपोंडेंट सखी योजना के तहत 58000 ग्रामीण महिलाओं को रोजगार देने की घोषणा की थी. यह ग्रामीण महिलाएं बैंकों से जुड़कर पैसे के लेनदेन को घर घर जाकर करवाएंगी. जिससे ग्रामीणों का सारा लेनदेन डिजिटल होगा और उन्‍हें बैंक जाने की आवश्यकता ही नहीं होगी. इससे कोरोना संक्रमण का खतरा तो कम होगा ही, साथ में गांव की महिलाओं को रोजगार भी मिलेगा. योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि 58 हजार बैंकिंग कॉरसपोंडेंट सखी को तत्काल तैनात करने की व्यवस्था करें. इसमें जो योग्य हों, जिनको जानकारी हो, उन लोगों का चयन ईमानदारी के साथ आवश्यक है.


Also Read: विदेशी कंपनियों को रिझाने में जुटी CM योगी की टास्कफोर्स, बढ़ाई चीन की चिंता


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

असम में जारी हुआ नया सिटिजन रजिस्टर, जानिए क्यों छिड़ा है विवाद

Satya Prakash

अलीगढ़ के शहीद दलवीर सिंह के परिजनों को सीएम योगी ने दी 25 लाख की आर्थिक मदद

Aviral Srivastava

योगी सरकार में पुलिस पर बढ़ा जनता का भरोसा, 87 फीसदी महिलाओं ने माना पहले से अधिक सुरक्षित महसूस करती हैं

Praveen Bajpai