Breaking Tube : #1 News Portal of Uttar Pradesh
Government

योगी सरकार ने कोटा के बच्चों की तरह नेपाली छात्रों को भी निशुल्क और सकुशल पहुंचाया घर, नेपाली छात्र भी हुए योगी के मुरीद

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की कार्यप्रणाली देखकर नेपाल के छात्र (Nepali Students) भी कायल हो गए हैं. ये वे छात्र हैं, जो उत्तराखंड से उत्तर प्रदेश आए और यहां लॉकडाउन में फंस गए. जानकारी मिलने पर मुख्यमंत्री ने कोटा के बच्चों की तरह ही नेपाली छात्रों के लिए तत्काल बस की व्यवस्था करवाई और सभी छात्रों को सकुशल और सुरक्षित तरीके से भारत-नेपाल सीमा पर पहुंचाया, जहां से सभी छात्र अपने घर नेपाल पहुंचे.


चीन और नेपाल के भारत के रिश्तों में आ रही कडुवाहट के इतर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक नई मिसाल पेश की है. जिस वक्त सीमा विवाद को लेकर नेपाल अपने रिश्ते तल्ख कर रहा है, उस वक्त मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नेपाली छात्रों को सकुशल और सुरक्षित नेपाल पहुंचा कर पूरी दुनिया में भारत की एक उदारवादी छवि पेश की है. उत्तराखंड से 22 नेपाली छात्र उत्तर प्रदेश आए. लॉकडाउन के कारण नेपाल जाने के लिए कोई साधन उपलब्ध न होने की वजह से सभी छात्र परेशान थे. इन छात्रों को नेपाल उनके घर पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के अधिकारियों को निर्देश दिया. इसके बाद इन छात्रों को परिवहन निगम की बसों द्वारा भारत- नेपाल बॉर्डर तक निशुल्क पहुँचाया गया.


बता दें कि इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर राजस्थान के कोटा में फंसे 12,000 से ज्यादा छात्रों को सकुशल और सुरक्षित तरीके से उनके घर निशुल्क पहुंचाया गया. जिससे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस मिसाल की चर्चा पूरे देश में हुई. छात्रों ने सीएम योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की थी.


Also Read: लॉकडाउन में चली गई हो नौकरी तो न हों परेशान, योगी सरकार की इन योजनाओं से बनाएं नया कैरियर


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

मिशन शक्ति का मतलब क्या है? जब चीन ने किया था टेस्ट तो हुई थी खूब किरकिरी, भारत ने कर दिया कारनामा

BT Bureau

करप्शन पर ‘जीरो टॉलरेंस’, UPPCL PF घोटाले में योगी सरकार की सिफारिश पर CBI ने दर्ज की FIR

BT Bureau

भगोड़ा आर्थिक अपराधियों की अब ख़ैर नहीं, ‘भगोड़ा आर्थिक अपराधी विधेयक’ को मिली राष्ट्रपति की मंजूरी

BT Bureau