Breaking Tube
Corona Government

कोरोना से जंग: 29 राज्यों के मुख्यमंत्रियों पर भारी एक ‘योगी’

Yogi government monitoring committees

इस वक्त पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जंग लड़ रही है, जिससे भारत भी अछूता नहीं है। कोरोना संक्रमण से देश को बचाने के लिए भारत सरकार जहां हर संभव कदम उठा रही है। वहीं, उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ (yogi adityanth) सरकार भी प्रदेश को कोरोना से निजात दिलाने के निरंतर प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में योगी सरकार के सार्थक प्रयास से सभी जिलों में वेंटिलेटर बेड की व्यवस्था (ventilator in all distircts) करने वाला उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी।


अवनीश अवस्थी ने बताया कि पिछले दो दिनों में सभी जनपदों में वेंटिलेटर की व्यवस्था कर दी गई है। कोविड-19 किट, मेडिकल वेंटिलेटर की संख्या 1300 हो गई है। प्रदेश में अब ऐसा कोई भी जनपद नहीं हैं, जहां वेंटिलेटर बेड की व्यवस्था न हो। उन्होंने बताया कि ऐसा करने वाला उत्तर प्रदेश पहला राज्य है, यह एक बड़ी उपलब्धि है।


Also Read: UP के मजदूरों को हमारे यहां से न ले जाएं.. गैर राज्यों के मुख्यमंत्री सीएम योगी से कर रहे अपील


वहीं, उत्तर प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या 3059 है, जिनमें से सक्रिय मामलों की संख्या 1868 है। प्रदेश में अबतक इस वायरस की चपेट में आने से 61 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, उत्तर प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस के सक्रिय संक्रमण के कुल 1868 मामले हैं, कोरोना वायरस से 61 लोगों की दुर्भाग्यपूर्ण मौत हुई है।


अधिकारी के मुताबिक, राज्य के कुल 67 जिलों से संक्रमण के 3059 मामले सामने आए हैं। प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि पृथक वार्ड में 1929 लोगों रखा गया है जबकि पृथक-वास केंद्र में 10797 लोग रखे गए हैं। उन्होंने बताया कि अब राज्य के सभी जिलों के अस्पतालों में कोविड-19 के लिए समर्पित वेंटिलेटर उपलब्ध हो गए हैं। संक्रमित लोगों में 75.16 प्रतिशत पुरुष और 24.84 प्रतिशत महिलाएं हैं।


Also Read: रंग लाई सीएम योगी की मेहनत, कोरोना को मात देने में UP के लोग सबसे आगे


प्रसाद ने जनता से अनुरोध किया कि राज्य में प्रवासी श्रमिक आ रहे हैं और उन सब का स्वास्थ्य परीक्षण करके 21 दिन तक उन्हें उनके घर में पृथक वास में रखा जायेगा और इसकी निगरानी के लिए गांव में ग्राम निगरानी समिति और शहरों में मोहल्ला निगरानी समिति बनाई गई है जिस पर यह दारोमदार होगा कि प्रदेश में संक्रमण ना फैलने पाए।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

UP में हिंसा, उपद्रव में संपत्ति को नुकसान पहंचाया तो अब कोर्ट भी नहीं बचा सकती, ऐसा फैसला लेने वाले देश के पहले मुख्यमंत्री बने योगी

BT Bureau

UP के सभी 1925 कोल्ड स्टोरेज किए जाएंगे सैनिटाइज, मंडी पहुंच रहे किसानों का भी रखा जा रहा ख्याल

BT Bureau

कोरोना से जंग के चलते योगी सरकार ने रोकी शादी अनुदान योजना की धनराशि

BT Bureau