Breaking Tube
Government

रेहड़ी, पटरी वालों को आर्थिक भत्ता और राशन के बाद अब 10,000 रूपए का लोन देगी योगी सरकार

CM Yogi Adityanath

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार स्ट्रीट वेंडर्स यानी कि रेहड़ी, पटरी वालों को 1000 रूपए का आर्थिक भत्ता औऱ निशुल्क राशन देने के बाद अब 10,000 का लोग देगी. सरकार का मानना है कि कोरोना महामारी से लॉकडाउन के कारण इनकी आजीविका पर सबसे ज्‍यादा असर पड़ा है. इस स्‍पेशल स्‍कीम को जल्द ही शुरू किया जाएगा. स्‍ट्रीट वेंडर को इस स्‍कीम के तहत आसान लोन मिलेगा.


बता दें कि लॉकडाउन के दौरान योगी सरकार अब तक 8.41 लाख पटरी व्यवसायियों को पहले ही 1000 रूपये का भरण पोषण भत्ता और निशुल्क खाधान्न दे चुकी है. सरकार ने डीबीटी के माध्यम से सभी के खातों में भरण पोषण भत्ता ट्रांसफर किया, जिसके चलते सरकार के पास इन स्ट्रीट वेंडर्स का पूरा ब्यौरा है, अब इसी ब्यौरे की मदद से सरकार रेहड़ी, पटरी व्यवसाइयों को लोन देने की तैयारी में है.


अब तक प्रदेश में करीब 13 लाख मजदूर, श्रमिक वापस आ चुके हैं. पिछले एक सप्ताह में यूपी में साढे छह लाख मजदूर आए हैं, जिसके लिए भारत सरकार ने 350 ट्रेनें चलाईं, इनमें 60 प्रतिशत ट्रेनें यूपी आईं हैं. वहीं चार लाख तीस हजार कामगार व श्रमिक इन ट्रेनों से आए, जबकि 70 हजार राज्य परिवहन निगम की बसों से और शेष 1.5 लाख लोग अन्य वाहनों से पहुंचे हैं.


सरकार के मुताबिक रोजाना प्रदेश में 12 से 15 लाख फूड पैकेट भी वितरित हो रहे हैं. लोगों को क्वारंटीन सेंटरों व घरों तक पहुंचाने के लिए दस हजार से ज्यादा बसें लगाई गई हैं. बसों में निशुल्क यात्रा के साथ ही हर किसी को भोजन व पानी क्वारंटीन सेंटरों में स्वास्थ्य परीक्षण के बाद होम क्वारंटीन भेजते वक्त भी कामगारों व श्रमिकों को मुफ्त खाधान्न पैकेट व भरण पोषण भत्ता सरकार दे रही है. सीएम योगी का स्पष्ट निर्देश है कि बड़ी संख्या के बावजूद किसी भी श्रमिक व कामगार को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए.


Also Read: यूपी: उद्यमियों में दिखा MSME को लेकर उत्साह, बोले- सरकार ने दी संजीवनी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

UP में हारने लगा कोरोना, रामबाण बना सीएम योगी का ये फॉर्मूला

BT Bureau

अहमदाबाद में इमारत ढहने से एक की मौत, दो लोगों के फंसे होने की आशंका

Satya Prakash

पश्चिम बंगाल : सरकारी किताबों में ‘मिल्खा सिंह’ को बना दिया ‘फरहान अख्तर’, मचा बवाल

BT Bureau