Breaking Tube
Government

योगी सरकार ने UP में लागू किया ESMA, अब कर्मचारी नहीं कर सकेंगे हड़ताल

1000 shramik trains

कोरोना वायरस को प्रकोप देशभर में तेजी से बढ़ रहा है. महामारी के खिलाफ इस जंग को और मजबूत बनाने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Adityanath Government) ने बड़ा फैसला किया है. यूपी सरकार ने राज्य में एस्मा (Essential Services Management Act, ESMA)  कानून लागू किया है. इस कानून के लागू हो जाने के बाद राज्य में अति आवश्यक सेवाओं में लगे कर्मचारी छुट्टी एवं हड़ताल पर नहीं जा सकेंगे. जानकार योगी सरकार के इस फैसले को सरकारी मशीनरी को सुचारू रूप से चलाने के लिए उठाए गए अहम कदम के रूप में देख रहे हैं.


दरअसल, योगी सरकार ने यह कदम महामारी के संकट दौरान कर्मचारियों की लापरवाही पर लगाम लगाने के लिए उठाया है.एस्मा कानून के लागू हो जाने के बाद राज्य में अति आवश्यक सेवाओं में लगे कर्मचारी छुट्टी एवं हड़ताल पर नहीं जा सकेंगे. सभी अति आवश्यक कर्मचारियों को सरकार के निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा. जो कर्मचारी आदेशों का उल्लंघन करेंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. यह कानून अगले 6 महीने तक लागू रहेगा.


क्या है एस्मा कानून ?

एस्मा भारतीय संसद द्वारा पारित अधिनियम है, जिसे 1968 में लागू किया गया था. संकट की घड़ी में कर्मचारियों के हड़ताल को रोकने के लिए यह कानून बनाया गया था. एस्मा लागू करने से पहले इससे प्रभावित होने वाले कर्मचारियों को समाचार पत्रों या अन्य माध्यमों से सूचित किया जाता है. किसी राज्य सरकार या केंद्र सरकार द्वारा यह कानून अधिकतम छह माह के लिए लगाया जा सकता है. इस कानून के लागू होने के बाद यदि कर्मचारी हड़ताल पर जाते हैं तो उनका य​ह कदम अवैध और दंडनीय की श्रेणी में आता है. एस्मा कानून का उल्लंघन कर हड़ताल पर जाने वाले किसी भी कर्मचारी को बिना वारंट गिरफ्तार किया जा सकता है.


Also Read: विकास की खातिर CM योगी ने गोरखनाथ मंदिर की 200 दुकानों पर चलवा दिया बुलडोजर


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

पीएम मोदी के अनुरोध पर क्राउन प्रिंस ने 850 भारतीय कैदियों को रिहा करने का दिया आदेश

S N Tiwari

आजम की जौहर यूनिवर्सिटी को क्वारंटीन सेंटर बनाएगी योगी सरकार

BT Bureau

लॉकडाउन: CM योगी ने रातभर जागकर मुहैया कराईं 1000 बसें, फंसे यात्रियों को खाना खिलाकर पहुंचा रहे घर

BT Bureau