Breaking Tube
Government

हाई-टेक होगी योगी सरकार, पेपरलेस होंगी कैबिनेट बैठक, सभी मंत्रियों-विधायकों को मिलेगा आइपैड

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath Government) अब हाईटेक (HiTech) होने जा रही है. सरकार की पूरी तैयारी है कि अगले हफ्ते होने वाली कैबिनेट बैठक पेपरलेस हो. सरकार ने इसके लिए सरकार ने कैबिनेट मंत्रियों को तकनीकीयुक्त बनाने के लिए आईपैड (ipad) देने का निर्णय लिया है. इसके लिए मंत्रियों को प्रशिक्षित भी किया जाएगा, और जल्द होने वाली कैबिनेट बैठक में यूपी सरकार के सभी कैबिनेट मंत्री तकनीक से कदमताल करते हुए बैठक में आईपैड इस्तेमाल करते नजर आयेंगे.


दरअसल गोरखनाथ पीठ के पीठाधीश्वर, इसके बाद सांसद और अब यूपी जैसे बड़े सूबे के मुख्यमंत्री, हर जिम्मेदारी को बखूबी निभाने वाले सीएम योगी इन दिनों तकनीक के साथ कदम मिलाते नजर आ रहे हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूजा-अर्चना और पारम्परिक कार्यक्रमों में जितनी रुचि लेते हैं, उतनी ही रुचि वह नई तकनीक में भी लेते हैं. सीएम का बदला हुआ अंदाज उनके नये कलेवर को पहचान दे रहा है. सीएंम योगी भी टेक्नोफ्रैंडली नजर आने लगे हैं. चाहे वो मीटिग हो, हवाई यात्रा सीएम हाथों में आईपैड लिए सरकारी कामकाज निपटाते नजर आ रहे हैं.


गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अपने ‘दर्पण’ डैशबोर्ड से सरकारी योजनाओं की प्रगति की ऑनलाइन मॉनिटरिंग पहले से ही कर रहे हैं. अब वे भाषण से ई-ऑफिस तक तकनीक का बढ़-चढ़कर उपयोग करते नजर आएंगे. मुख्यमंत्री के लिए नया डेस्कटॉप व आईपैड मंगा लिया गया है. वह अपने भाषणों के दौरान आईपैड का प्रयोग करते देखे जा रहे हैं.


दर्पण एप से सीएम कर रहे हैं मॉनिटरिंग

सीएम ऑफिस के सूत्रों के अनुसार, मुख्यमंत्री ने योजनाओं व परियोजनाओं की ऑनलाइन मॉनिटरिंग के लिए ‘दर्पण’ डैशबोर्ड तैयार कराया है. इसमें संचालित महत्वपूर्ण योजनाएं, परियोजनाएं व जनहित गारंटी अधिनियम व निवेश मित्र पोर्टल के जरिए तय समयसीमा में दी जाने वाली सेवाएं जोड़ी जा रही हैं. लगभग सभी प्रमुख विभागों की योजनाएं, परियोजनाएं व सेवाएं इससे जुड़ गई हैं. जो बाकी हैं, उन्हें अगले महीने तक जोड़ने का लक्ष्य है. सरकार का मानना है कि इससे भ्रष्टाचार पर लगाम लगेगी.


दौरे के समय आईपैड से पूरी सरकार पर रखते हैं नजर

सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काफी समय इ-आफिस की वकालत करते रहे हैं और इसी कड़ी में सरकार की तमाम फाइलों से लेकर जिलेवार आकड़ा अगर मुख्यमंत्री के पास उपलब्ध हो तो जिले के अधिकारियों के काम-काज की रफ्तार पर नजर रखने के साथ सीएम कही से भी जरूरी काम काज निपटा सकते हैं. हांलाकि अभी इस डैशबोर्ड को और भी ज्यादा हाईटेक बनाया जा रहा है. जिसको लेकर आईटी टीम जुटी हुई है.


आईपैड से ही मुख्यमंत्री देंगे लिखित अनुमति

ऐसा इसलिए किया गया है कि क्योंकि मुख्यमंत्री योगी को आये दिन यूपी और यूपी के बाहर भी अलग-अलग स्थानों पर चुनाव प्रचार के लिए जाना पड़ता है. जल्द ही आने वाले दिनों में सीएम का जिलों में औचक निरीक्षण शुरू होने वाला है. ऐसे में मुख्यमंत्री जिस भी जिले में होंगे, वहां के जिले के योजनाओं की नवीनतम रिपोर्ट देखकर अधिकारियों की जिम्मेदारी और जवाबदेही तय कर सकेंगे. इतना ही नही कई बार सीएम प्रदेश के बाहर दौरे होने की वजह से कई कार्यक्रमों की लिखित अनुमति मिलने में परेशानी होती है. लेकिन दर्पण डैशबोर्ड के साथ ईमेल लिंक करने के बाद सीएम कहीं भी बैठकर अधिकारियों के लिखित अनुमति दे सकते हैं.


एक क्लिक पर किसी भी कार्य की पूरी प्रोग्रेस रिपोर्ट

उन्होंने बताया कि यहां तक कि सीएम योगी एक क्लिक पर ये भी देख सकेंगे कि जिलें में किसी व्यक्ति विशेष को सहायता मिलने में कितनी देरी और क्यों हुई? गलती किसके स्तर पर हुई? यानि अधिकारियों की हीला-हवाली भी सीएम के नजरों के सामने होगी. साथ ही निर्माण योजनाओं में 50 करोड़ से अधिक की इंफ्रास्टचर डेवलपमेंट से जुड़ी परियोजाओं को दर्पण पर अपडेट किया जायेगा. जैसे किसी प्रशासनिक भवन या स्कूल कालेज के निर्माण कार्य की प्रगति, लागत और समय सीमा तीनों एक क्लिक पर समय सीमा तय की जायेगी. यानि अब टेक्नोसेवी सीएम योगी टेक्नोलिजी के जरिये रखेंगे पूरे प्रदेश पर नजर.


Also Read: रैली में प्रचार, प्लेन में सरकार.. सीएम योगी का ‘वर्कहोलिक’ अवतार


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

राज्यसभा से पास हुआ तीन तलाक बिल, पीएम मोदी बोले- कुप्रथा को इतिहास के कूड़ेदान में डाला गया

BT Bureau

वन नेशन वन कार्ड: अबसे पूरे देश में रेल, बस और मेट्रो के लिए होगा एक कार्ड

BT Bureau

Budget 2020: मिडिल क्लास को इनकम टैक्स मे मोदी सरकार ने दी राहत, जानिए क्या हैं नए टैक्स स्लैब

BT Bureau